भारत का जोहानसबर्ग में टेस्ट रिकार्ड है बेहद मजबूत, पिछले 29 साल में नहीं हारा कोई टेस्ट मैच

 

भारतीय टेस्ट टीम के खिलाड़ी (एपी फोटो)

जोहानसबर्ग में दोनों टीमों के बीच पिछले 29 साल में कुल 5 टेस्ट मैच खेले गए हैं जिसमें से भारत को दो में जीत मिली है जबकि तीन मैच ड्रा रहे हैं। यहां पर इंडिया को टेस्ट मैच में एक बार भी हार तो कम से कम नहीं मिली है।

नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। भारत और साउथ अफ्रीका के बीच तीन मैचों की टेस्ट सीरीज का दूसरा मुकाबला जोहानसबर्ग में खेला जाएगा। सोमवार से शुरू हो रहे इस मुकाबले में एक तरफ जहां टीम इंडिया का पलड़ा भारी नजर आ रहा है दो वहीं दूसरी तरफ इस मैदान पर भारतीय टीम का रिकार्ड भी उसी के पक्ष में है। जोहानसबर्ग में टीम इंडिया का जिस तरह का प्रदर्शन अब तक रहा है उससे ऐसा तो नहीं लग रहा है कि इस टीम को यहां दूसरे टेस्ट मैच में हार मिलेगी। 

जोहानसबर्ग में 29 साल से भारत ने नहीं गंवाया कोई टेस्ट मैच

जोहानबर्स में भारतीय क्रिकेट टीम ने अपना पहला टेस्ट मैच साल 1992 में खेला था और ये मुकाबला ड्रा रहा था। इसके बाद भारतीय टीम ने यहां पर अपना दूसरा टेस्ट मैच साल 1997 में खेला था और एक बार फिर से ये मैच भी ड्रा पर खत्म हुआ था। दोनों देशों के बीच यहां पर तीसरा टेस्ट मैच साल 2006 में खेला गया था और राहुल द्रविड़ की कप्तानी में टीम इंडिया ने इस मैदान पर पहला टेस्ट मैच जीतने का गौरव हासिल किया। ये मैच भारत ने 123 रन के अंतर से जीता था। 

2013 में एक बार फिर से एम एस धौनी की कप्तानी में जोहानसबर्ग में भारत और साउथ अफ्रीका की भिड़ंत हुई थी और ये इस मैदान पर दोनों देशों के बीच चौथा टेस्ट मैच था। ये टेस्ट मैच भी ड्रा पर खत्म हुआ था, लेकिन 2018 में विराट कोहली की कप्तानी में भारत ने यहां पर 63 रन से जीत दर्ज की और ये भारत की यहां पर टेस्ट क्रिकेट में दूसरी जीत थी। 

जोहानसबर्ग में दोनों टीमों के बीच पिछले 29 साल में कुल 5 टेस्ट मैच खेले गए हैं जिसमें से भारत को दो में जीत मिली है जबकि तीन मैच ड्रा रहे हैं। यानी यहां पर टीम इंडिया को टेस्ट मैच में एक बार भी हार तो कम से कम नहीं मिली है। अब एक बार फिर से साल 2021 में कोहली की कप्तानी में ही भारतीय टीम फिर ये इस मैदान पर खेलने उतरेगी, ऐसे में टीम इंडिया की कोशिश होगी कि वो साल 2018 वाली कहानी फिर से दोहराएं।