पम्पी जैन और फौजान के पास अबतक मिला 4.50 करोड़ कैश, कन्नौज में छापेमारी अभी जारी

 

आयकर विभाग की टीम ने कसा इत्र कारोबारियों पर शिकंजा।

आयकर विभाग की टीमों ने इत्र कारोबारी एमएलसी पुष्पराज जैन पम्पी अौर दूसरे कारोबारी फौजान मलिक के कन्नौज समेत कई शहरों में आवास व प्रतिष्ठानों पर छापेमारी की है। पम्पी जैन के मुंबई स्थित घर से 2 करोड़ की नकदी बरामद की जा चुकी है।

कानपुर, संवाददाता। आयकर विभाग के छापे में इत्र कारोबारी एमएलसी पुष्पराज जैन उर्फ पम्पी तथा दूसरे कारोबारी फौजान मलिक के कन्नौज, कानपुर, दिल्ली, लखनऊ और मुंबई स्थित घर व प्रतिष्ठान से अबतक 4.50 करोड़ नकद बरामद किया जा चुका है। दोनों कारोबारियों के कन्नौज के आवास व प्रतिष्ठानों पर अभी छापेमारी जारी है। आयकर विभाग की टीम ने फौजान मलिक के घर पर एचडीएफसी बैंक के कर्मियों को बुलाकर नोट गिनने की मशीन भी मंगाई है। बताया जा रहा है कि फौजान के कन्नौज स्थित घर से अबतब ढाई करोड़ रुपये बरामद हो चुका है। रुपयों को एसबीआइ की टीम सुरक्षा व्यवस्था के बीच बैंक लेकर गई। टीम ने फौजान के कारखाने से प्रिंटर, कंप्यूटर को भी जब्त कर लिया है। वहीं पुष्पराज के मुंबई स्थित आवास से दो करोड़ पर कैश मिला है।

आयकर विभाग की टीमों ने शुक्रवार को 35 जगह एकसाथ छापे मारे थे, इसमें दूसरे दिन 20 जगह कार्रवाई चल रही है। कानपुर में डा. अनूप जैन के आनंदपुरी स्थित दोनों घर को आयकर विभाग ने सील कर दिया है और कानपुर की सभी जगह फिलहाल कार्रवाई बंद कर दी गई है। छापे में आयकर विभाग को जानकारी भी मिली है कि पम्पी जैन मध्य एशिया के देशों से करीब 40 करोड़ निवेश के रूप में अपने कारोबार में लाए। आयकर विभाग जांच कर रहा है कि इस रुपये को किस तरह से लाया गया है। साथ ही पुष्पराज उर्फ पम्पी जैन के यहां मिले स्टाक का भी रजिस्टर से सत्यापन किया जा रहा है। वहीं दूसरे इत्र कारोबारी फौजान मलिक के दिल्ली स्थित घर से आयकर विभाग को नकदी के लेनदेन के कई साक्ष्य मिले हैं। साथ ही कन्नौज और दिल्ली में चार लॉकर भी मिले हैं, जिन्हें फिलहाल सील कर दिया है। इन लॉकर की जांच आगे की जाएगी।

रात 12 बजे लखनऊ से एक साथ निकली टीमें

कारोबारियों के घर छापेमारी करने के लिए टीमें लखनऊ से एक साथ गुरुवार रात 12 बजे निकलीं थीं और रात में ही पुलिसकर्मियों के पास फोन पहुंचा था। इसके बाद एक साथ सभी लोग कन्नौज पहुंचे थे और शुक्रवार की सुबह एकसाथ सभी जगह छापेमारी की कार्रवाई शुरू कर दी गई।