इसी सत्र से शुरू होगी दिल्ली टीचर्स यूनिवर्सिटी, 5 हजार सीटों पर दाखिले के लिए कर सकेंगे आवेदन

 

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने यूनिवर्सिटी कैंपस का दौरा कर तैयारियों का जायजा लिया।

बक्करवाला गांव में 12 एकड़ जमीन पर दिल्ली टीचर्स यूनिवर्सिटी की शुरुआत इसी सत्र से की जा रही है। सत्र 2022-23 से यहां पांच हजार सीटों पर दाखिला के लिए आवेदन किए जा सकेंगे। कैंपस में शिक्षक बनने के इच्छुक छात्रों को विश्वस्तरीय सुविधाएं दी जाएंगी।

नई दिल्ली, संवाददाता। दिल्ली सरकार की ओर से बक्करवाला गांव में 12 एकड़ जमीन पर दिल्ली टीचर्स यूनिवर्सिटी की शुरुआत इसी सत्र से की जा रही है। सत्र 2022-23 से यहां पांच हजार सीटों पर दाखिला के लिए आवेदन किए जा सकेंगे। यूनिवर्सिटी कैंपस में शिक्षक बनने के इच्छुक छात्रों को विश्वस्तरीय सुविधाएं दी जाएंगी। शनिवार को उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने यूनिवर्सिटी कैंपस का दौरा कर तैयारियों का जायजा लिया।

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली सरकार का विजन ऐसे शिक्षक तैयार करना है जो पूर्ण रूप से प्रशिक्षित और शिक्षित हों तथा उनमें भारतीय शिक्षा प्रणाली में बदलाव लाने के लिए जुनून हो। उन्होंने कहा कि यह यूनिवर्सिटी बीए-बीएड जैसे प्रोग्राम आफर करेगी। साथ ही दिल्ली सरकार यूनिवर्सिटी में सर्वश्रेष्ठ शिक्षकों को लाने पर काम कर रही है।

इसमें ऐसे शिक्षकों को वरीयता दी जाएगी, जिन्होंने विदेश में स्थित यूनिवर्सिटी में काम किया हो। मनीष सिसोदिया ने यूनिवर्सिटी के लिए अपने विजन को साझा करते हुए कहा कि यूनिवर्सिटी प्री-सर्विस और इन-सर्विस टीचर्स दोनों की प्रोफेशनल जरूरतों को पूरा करेगी।

उन्होंने कहा कि यूनिवर्सिटी में लेक्चर हाल, डिजिटल लैब और विश्वस्तरीय सुविधा वाला पुस्तकालय, कान्फ्रेंस रूम और मार्डन क्लास रूम होगा। चार मंजिला मेन यूनिवर्सिटी ब्लाक को दो भागों में बांटा गया है। इसमें प्रशासनिक और शिक्षा खंड होगा। भूतल पर प्रशासन कार्यालय होगा, जबकि प्रथम, द्वितीय और तृतीय तल पर कक्षाएं संचालित होंगी। इस सत्र को संचालित करने के लिए यहां तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी हैं।