भूकंप के जोरदार झटकों से दहला ताइवान, रिक्टर पैमाने पर 6.1 मापी गई तीव्रता

 

अभी तक भूकंप के कारण किसी भी तरह के जानमाल के नुकसान की कोई जानकारी नहीं है। (फाइल फोटो)

नेशनल सेंटर फोर सीस्मोलाजी के अनुसार भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 6.1 मापी गई है। इसका केंद्र ताइवान की राजधानी ताइपे से 124 किमी दूर दक्षिण-दक्षिणपूर्व की तरफ बताया जा रहा है। यह भूकंप दोपहर तीन बजकर 16 मिनट पर आया है।

ताइपे, एएनआइ। ताइवान में सोमवार को भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए हैं। नेशनल सेंटर फोर सीस्मोलाजी के अनुसार, भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 6.1 मापी गई है। इसका केंद्र ताइवान की राजधानी ताइपे से 124 किमी दूर दक्षिण-दक्षिणपूर्व की तरफ बताया जा रहा है। यह भूकंप दोपहर तीन बजकर 16 मिनट पर आया है। अभी तक भूकंप के कारण किसी भी तरह के जानमाल के नुकसान की कोई जानकारी नहीं है।

चीन में भूकंप के कारण 22 लोग जख्मी

इससे पहले रविवार को चीन में भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। स्थानीय मीडिया ने अधिकारियों के हवाले से बताया कि दक्षिण पश्चिम चीन के युन्नान प्रांत के निंगलांग काउंटी में कल आए 5.5 तीव्रता के भूकंप में 22 लोग घायल हो गए थे। चाइना अर्थक्वेक नेटवर्क्स सेंटर (सीईएनसी) के अनुसार, दक्षिण पश्चिम चीन के युन्नान प्रांत के लिजिआंग शहर में 5.5 तीव्रता का भूकंप आया। शिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, रविवार (बीजिंग समयानुसार) दोपहर 3:02 बजे भूकंप के झटके महसूस किए गए।

क्यों आता है भूकंप?

पृथ्वी की बाहरी सतह में अचानक हलचल से पैदा होने वाली ऊर्जा के कारण भूकंप आता है। यह ऊर्जा पृथ्वी की सतह पर भूकंपी तरंगें पैदा करती हैं, जो धरती को हिलाने या विस्थापित करने से प्रकट होती हैं। भूकंप आमतौर पर भूगर्भीय दोषों के कारण आते हैं। भारी मात्रा में गैस प्रवास, पृथ्वी के अंदर खासतौर से गहरी मीथेन, भूस्खलन, नाभिकीय परिक्षण और ज्वालामुखी जैसे मुख्य दोष इनमें शामिल हैं। भूकंप प्राकृतिक घटना या मानवजनित कारणों से आ सकता है।

कैसे मापी जाती है भूकंप की तीव्रता?

भूकंप का रिकार्ड एक सीस्मोमीटर के साथ रखा जाता है, जिसे सीस्मोग्राफ के नाम से भी जाना जाता है। भूकंप का क्षण परिमाण पारंपरिक रूप से मापा जाता है या संबंधित और अप्रचलित रिक्टर परिमाण लिया जाता है।