देश में कोरोना की रफ्तार बेकाबू, केद्र सरकार ने राज्‍यों में तैयारियों की समीक्षा की, जानें कहांं कितने मामले

 

देश में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं।

देश में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। एक दिन में देश भर में कोरोना के एक लाख 17 हजार नए मामले सामने आए हैं। इस बीच केंद्र सरकार ने राज्‍यों में स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं की स्थिति की समीक्षा की।

नई दिल्‍ली, एजेंसियां। देश में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। एक दिन में देश भर में कोरोना के एक लाख 17 हजार नए मामले सामने आए हैं। इस बीच केंद्र सरकार ने राज्‍यों में स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं की स्थिति की समीक्षा की। समाचार एजेंसी एएनआइ की रिपोर्ट के मुताबिक केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के साथ पीएसए संयंत्रों, आक्सीजन सांद्रता, क्सीजन सिलेंडर, वेंटिलेटर और आक्‍सीजन की बुनियादी ढांचे की तैयारियों की स्थिति की समीक्षा की। 

राज्‍यों को यह सलाह 

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने इस बात पर जोर दिया कि सभी आक्‍सीजन उपकरणों का संचालन सुनिश्चित करने के लिए राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों की प्राथमिक और महत्वपूर्ण जिम्मेदारी है। उन्‍होंने राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों से जारी निधि का समुचित इस्‍तेमाल सुनिश्चित करने का आग्रह भी किया।

मुंंबई में 20,971 नए केस

मुंबई में एक दिन में 20,971 नए केस सामने आए हैं जबकि कोविड संक्रमण से छह लोगों की मौत हुई है। मुंबई में 91,731 सक्रिय मामले हैं।

केरल में 5,296 नए मामले

केरल में शुक्रवार को कोरोना के 5,296 नए मामले सामने आए जबकि 35 लोगों की मौत हो गई। राज्‍य में 27,859 सक्रिय मामले हैं। इसके साथ ही सूबे में महामारी मरने वालों का आंकड़ा 49,305 हो गया है। केरल के ओमिक्रोन के मामलों की संख्या 305 पहुंच गई है। शुक्रवार को राज्य में 25 नए मामलों की पुष्टि हुई।

अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए नए निर्देश

इस बीच केंद्र सरकार ने सभी अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के आगमन पर सात दिनों के लिए घर पर ही क्‍वारंटीन रहना और आठवें दिन आरटी-पीसीआर जांच कराना अनिवार्य कर दिया है। नए दिशानिर्देश 11 जनवरी से अगले आदेश तक प्रभावी होंगे। सूचिबद्ध जोखिम वाले देशों से आने वाले यात्रियों को कोविड जांच के लिए नमूने देने होंगे और एयरपोर्ट पर ही जांच के नतीजों का इंतजार करना होगा।

टीकाकरण का आंकड़ा 150 करोड़ के पार 

देश में कोरोना के खिलाफ लड़ाई भी तेज है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने बताया कि देश में टीकाकरण का आंकड़ा 150 करोड़ को पार कर गया है। किशोरों के वैक्‍सीनेशन कवरेज के साथ ही विश्व के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान को आगे बढ़ा रहा है। मंडाविया ने बताया कि देश में 90 फीसद वयस्क आबादी को COVID-19 वैक्सीन की डोज लग चुकी है।

देश में ओमिक्रोन से दूसरी मौत

कोरोना संक्रमण के मामले देशभर में बहुत तेजी से बढ़ने लगे हैं। आठ दिन के भीतर ही प्रतिदिन मिलने वाले नए मामलों का आंकड़ा 10 हजार से बढ़कर एक लाख को पार कर गया है। देश में ओमिक्रोन वैरिएंट से दूसरी मौत भी हुई है। ओडिशा में पिछले महीने जान गंवाने वाली महिला के इससे संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। ओमिक्रोन के मामले भी तेजी से बढ़ रहे हैं और इससे संक्रमित होने वाले लोगों का आंकड़ा तीन हजार को पार कर गया है।

देशभर में 1,17,100 नए मामले मिले

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से शुक्रवार सुबह आठ बजे अपडेट किए गए आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटे में देशभर में 1,17,100 नए मामले मिले हैं और 302 लोगों की मौत हुई है, जिसमें 221 मौतें अकेले केरल और 19 मौतें बंगाल से हैं। इससे पहले पिछले साल सात जून को एक लाख से अधिक (1,00,636) मामले मिले थे।

एक्टिव मामले बढ़कर 3,71,363 हुए

इस दौरान सक्रिय मामलों में 85 हजार की बढ़ोतरी हुई है और इनकी संख्या 3,71,363 हो गई है जो 120 दिन में सबसे अधिक और कुल मामलों का 1.05 प्रतिशत है। मरीजों के उबरने की दर 98 प्रतिशत से नीचे (97.57 प्रतिशत) पर आ गई है। दैनिक संक्रमण दर 7.74 प्रतिशत और साप्ताहिक संक्रमण दर 4.54 प्रतिशत दर्ज की गई है। राहत की बात यह है कि मृत्युदर में गिरावट आई है और यह 1.38 से घटकर 1.37 प्रतिशत पर आ गई है।

ओमिक्रोन ने 27 राज्यों के पसारे पांव

ओमिक्रोन वैरिएंट देश के 27 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों तक पहुंच गया है। ओडिशा के बालंगीर में ओमिक्रोन से महिला की मौत हुई है। ओमिक्रोन से यह राज्य की पहली और देश की दूसरी मौत है। इससे पहले राजस्थान में ओमिक्रोन से एक व्यक्ति की मौत हुई थी। 50 साल की महिला को कोरोना संक्रमित होने पर बुर्ला मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया था, जहां पिछले महीने की 27 तारीख को उसकी मौत हो गई। जीनोम सीक्वेंसिंग में महिला ओमिक्रोन से संक्रमित मिली। इसके बाद जिला प्रशासन ने उसे ओमिक्रोन से जुड़ी मौत घोषित किया। देश में ओमिक्रोन संक्रमण के मामले भी बढ़कर 3,007 हो गए हैं। इसके महाराष्ट्र में 876, दिल्ली में 465, कर्नाटक में 333, राजस्थान में 291, केरल में 284 और गुजरात में 204 केस हैं।

बढ़ते मामलों के लिए ओमिक्रोन ही जिम्मेदार

ओमिक्रोन के कुल मामलों का आंकड़ा भले ही तीन हजार से अधिक है, लेकिन यह माना जा रहा है कि देश में संक्रमण के नए मामलों में आए उछाल के पीछे यही वैरिएंट है। इसकी बड़ी वजह यह है कि जिन राज्यों में भी संक्रमितों की जीनोम सीक्वेंसिंग कराई जा रही है वहां 50 प्रतिशत से ज्यादा मामले ओमिक्रोन के ही मिल रहे हैं। चूंकि, सभी संक्रमितों की जीनोम सीक्वेंसिंग संभव नहीं है, इसलिए ओमिक्रोन के मामले कम दर्ज किए जा रहे हैं।