पाकिस्तानियों के लिए खत्म हुई कोरोना महामारी, सर्वे में हुआ खुलासा, जानें क्या है इसकी वजह

 

सर्वे में हुआ खुलासा पाकिस्तानियों के लिए खत्म हुई कोरोना महामारी

मार्केट रिसर्च कंपनी द्वारा कोरोना महामारी को लेकर किए गए सर्वे से पता चला है कि अधिकतर पाकिस्तानियों का मानना है कि कोरोना महामारी खत्म हो गई है। सर्वे में भाग लेने वाले कम से कम 14 प्रतिशत लोगों का मानना है कि कोरोना महामारी कभी खत्म नहीं हो सकती।

इस्लामाबाद, एएनआइ। एक मार्केट रिसर्च कंपनी द्वारा कोरोना महामारी को लेकर 34 देशों में एक सर्वे किया गया। पाकिस्तानी अखबार डान ने बताया कि कोविड -19: क्या महामारी कभी खत्म होगी और हम कैसे जानेंगे इप्सोस द्वारा किए गए इस सर्वे में भाग लेने वाले अधिकतर पाकिस्तानियों का मानना है कि कोरोना महामारी खत्म हो गई है। पाकिस्तान में 28 प्रतिशत लोगों का मानना है कि कोरोना महामारी खत्म हो चुकी है जबकि अन्य देशों में केवल 9 प्रतिशत लोग कोरोना महामारी का अंत कर चुके हैं। 

कभी खत्म नहीं हो सकता कोरोना

सर्वे में 18 से 74 साल की उम्र के लोगों के 22 हजार 23 सैंपल लिए गए। सैंपल लेने वाले देशों में पाकिस्तान, संयुक्त राज्य अमेरिका, कनाडा, मलेशिया, दक्षिण अफ्रीका, तुर्की, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, मुख्यभूमि चीन, फ्रांस, जर्मनी, ग्रेट ब्रिटेन, इटली, जापान, स्पेन, अर्जेंटीना, बेल्जियम, चिली, कोलंबिया, डेनमार्क, हंगरी, भारत, इजराइल, मलेशिया, मैक्सिको, नीदरलैंड, पेरू, पोलैंड, रोमानिया, रूस, सऊदी अरब, दक्षिण कोरिया, स्वीडन और स्विट्जरलैंड शामिल थे। डान ने बताया कि सर्वे के एक अन्य सवाल का जवाब देते हुए कम से कम 14 प्रतिशत लोगों का मानना है कि कोरोना महामारी कभी खत्म नहीं हो सकती।

पाकिस्तान में एक हफ्ते में दोगुना हुए मामले

इस बीच कोरोना के मामले बढ़ते मामलों को देखते हुए पाकिस्तान के योजना मंत्री असद उमर ने सोमवार को चेतावनी देते हुए कहा कि यह देश में कोरोना की एक ओर लहर आने के सबूत हैं। खासतौर पर कराची में कोरोना के वैरिएंट ओमिक्रोन के मामले काफी बढ़ रहे हैं। नेशनल कमांड एंड आपरेशंस सेंटर (एनसीओसी) के आंकड़ों से पता चलता है कि 31 दिसंबर को कोरोना का संक्रमण दर 1.08 प्रतिशत था और रविवार को यह बढ़कर 1.3 प्रतिशत हो गया। इसके साथ ही पाकिस्तान में एक हफ्ते से भी कम समय में कोरोना के मामले दोगुने हो गए है।

योजना मंत्री ने लोगों से की अपील

27 दिसंबर को 291 मामलों के मुकाबले रविवार यानि 2 दिसंबर को जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार 594 कोरोना के मामले सामने आए हैं। पाकिस्तान में रविवार को कम से कम 637 मरीज अस्पतालों में गंभीर देखभाल में थे। योजना मंत्री असद उमर ने आगे कहा कि हाल ही में पाकिस्तान में कोरोना के बढ़ते मामले काफी तेजी से फैलने वाले वैरिएंट ओमिक्रोन के हैं। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा कि खासतौर पर कराची में जीनोम अनुक्रमण से ओमिक्रोन के बढ़ते मामले सामने आए हैं। उन्होंने आगे कहा कि ओमिक्रोन से बचने के लिए मास्क पहनना ही सबसे अच्छी सुरक्षा है।