लिफ्ट लेकर चलते हैं तो हो जाएं सावधान, ड्राइविंग सीट पर बैठा खाकी वर्दी वाला शख्स कर रहा गलत काम

कार में लिफ्ट देकर महिला सिविल डिफेंस वालंटियर से छेड़छाड़

पीड़िता के शोर मचाने पर आरोपित उन्हें कड़कड़डूमा मेट्रो स्टेशन के पास उतार कर फरार हो गया। पीड़िता का कहना है कि कार के डैशबोर्ड पर नीले रंग की टोपी रखी थी। पीडि़ता ने आनंद विहार थाने में पहुंचकर छेड़छाड़ का केस दर्ज करवाया।

नई दिल्ली,  संवाददाता। आनंद विहार इलाके में कार में लिफ्ट देकर एक सिविल डिफेंस की महिला वालंटियर से छेड़छाड़ का मामला सामने आया है। पीड़िता के शोर मचाने पर आरोपित उन्हें कड़कड़डूमा मेट्रो स्टेशन के पास उतार कर फरार हो गया। पीड़िता का कहना है कि कार के डैशबोर्ड पर नीले रंग की टोपी रखी थी। पीड़िता ने आनंद विहार थाने में पहुंचकर छेड़छाड़ का केस दर्ज करवाया।

पुलिस के अनुसार पीड़िता अपने परिवार के साथ आनंद विहार इलाके में रहती है। एक महीने पहले ही पीडि़ता ने सिविल डिफेंस में नौकरी शुरू की है। उनकी तैनाती आनंद विहार के कोविड केयर सेंटर में लगी हई है। पीड़िता को रोजाना आनंद विहार थाने में आमद दर्ज करवानी होती है।

सोमवार सुबह वह घर से ड्यूटी जाने के लिए निकलीं। वह राम मंदिर के पास खड़े होकर सवारी का इंतजार कर रही थी। इसी दौरान एक सफेद रंग की बोलेरो कार वहां आकर रुकी। गाड़ी में खाकी जैसी वर्दी में एक शख्स बैठा हुआ था, उसने पीड़िता को लिफ्ट देने की बात कहकर अपनी कार में बैठा लिया। आरोप है कुछ दूर चलने पर उस शख्स ने पीड़िता के साथ छेड़छाड़ शुरू कर दी। 

इधर, न्यू उस्मानपुर इलाके में उधार की रकम वापस मांगने पर एक ट्यूशन मास्टर ने 12वीं कक्षा के छात्र के चाकू मार दिया। छात्र की गर्दन पर चाकू मारने के बाद आरोपित ट्यूशन मास्टर मौके से फरार हो गया। गंभीर हालत में चिराग को जग प्रवेश चंद अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां से उसे जीटीबी अस्पताल रेफर कर दिया गया। वारदात के कुछ वक्त बाद पुलिस ने आरोपित मास्टर पंकज झा को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस केस दर्ज कर मामले की जांच कर रही है। जानकारी के अनुसार चिराग अपने परिवार के साथ गली नंबर-छह, ब्रह्मपुरी में रहता है। परिवार में माता-पिता व अन्य सदस्य हैं। चिराग 12वीं कक्षा का विद्यार्थी है। वह करतार नगर में पंकज झा नामक मास्टर के पास ट्यूशन पढ़ता है। पंकज को कुछ पैसों की जरूरत थी, चिराग ने अपने दोस्त जितेश से उसे 15 हजार रुपये उधार दिलवा दिए।

चिराग उससे उधार की रकम वापस मांग रहा था, लेकिन वह रकम देने को तैयार ही नहीं था। रविवार शाम को ट्यूशन में पढ़ाई के दौरान चिराग की पैसों को लेकर ट्यूशन मास्टर से कहासुनी हो गई। कहासुनी के दौरान आरोपित ने चाकू से छात्र की गर्दन पर हमला कर दिया।