सोनीपत में रात तो हो जाती है पर नहीं नजर आता है नाइट कर्फ्यू, जानिये- मुरथल के ढाबों का हाल

 


सोनीपत में रात तो हो जाती है पर नहीं नजर आता है नाइट कर्फ्यू, जानिये- मुरथल के ढाबों का हाल

 रात को जीटी रोड पर प्रशासनिक दावों और वास्तविक स्थिति की पड़ताल की। इस दौरान खासतकर नाइट कर्फ्यू के दौरान रात में धड़ल्ले से होटल ढाबे बार और रेस्तरां खुले हुए थे। भीड़ सामान्य दिनों जैसी थी।

सोनीपत। कोरोना और ओमिक्रोन संक्रमण को नियंत्रित रखने के लिए नाइट कर्फ्यू लागू कर दिया गया है। मास्क और शारीरिक दूरी का पालन करने के आदेश भी दिए गए हैं। इसके साथ ही कर्फ्यू के चलते रात में 11 बजे के बाद सड़कों पर निकलने पर चालान काटने के भी आदेश हैं। बावजूद इसके होटलों-ढाबों और रेस्तरां को 11 बजे के बाद बंद होने का दावा किया जा रहा है। पुलिस थानों से नाइट कर्फ्यू के पालन कराने की रिपोर्ट एसपी आफिस को भेजी जा रही है। रोजाना 150-200 चालान करने का दावा किया जा रहा है। दैनिक जागरण ने रात को जीटी रोड पर प्रशासनिक दावों और वास्तविक स्थिति की पड़ताल की। रात में धड़ल्ले से होटल, ढाबे, बार और रेस्तरां खुले हुए थे। भीड़ सामान्य दिनों जैसी थी। बाइक और साइकिल सवारों या पैदल यात्रियों के मास्क नहीं लगाने पर चालान काटकर खानापूर्ति की जा रही है।

रात 12 से दो बजे तक - जीटी रोड पर मुरथल से टोल प्लाजा तक की स्थिति

जीटी रोड पर शराब की दुकानें खुली हुई थीं। दर्जनों लोग शराब खरीद रहे थे। वहां पर लगी टेबल पर कई लोग धड़ल्ले से शराब का सेवन कर रहे थे। वहां पर तैनात कर्मचारियों और शराब लेने-सेवन करने वाले लोगों के पास मास्क नहीं थे। देर रात तक शराब की दुकानों पर चहल-पहल थी। वहां देखकर नहीं लगा कि नाइट कर्फ्यू लगा हुआ है। इससे आगे चलने पर चाप और नमकीन की दुकानें धड़ल्ले से खुली हुई थीं। नाइट कर्फ्यू की इनको कोई चिंता नहीं थी।

चाप कार्नर चलाने वाले दुकानदार ने बताया कि आराम से बैठकर खाना खाओ, यहां पर पुलिस नहीं आएगी। पुलिस से बात करने के बाद ही दुकान खोली गई हैं। उसने बताया कि रात तीन बजे तक दुकानें खुलती हैं। इससे आगे जीटी रोड पर चाय, बीड़ी, सिगरेट, पान और गुटखा के खोखे खुले हुए थे। सभी होटलों-ढाबों के बाहर इस तरह के काउंटर खुले हुए थे। वहां पर लोग आराम से खरीदारी कर रहे थे। कई लोग वहीं पर खड़े होकर सिगरेट और चाय पी रहे थे। यहां नाइट कर्फ्यू जैसी कोई स्थिति दिखाई नहीं दी। जब दुकानदार से पूछा गया कि अब नाइट कफ्यरू लगा हुआ है, तो वह बदले में सवाल करते हुए पूछने लगा कि कहां पर लगा है साहब? आप मुरथल में हैं, देखो चारों ओर कितनी रौनक है।

इंस्पेक्टर सुमित कुमार (एसएचओ, थाना मुरथल) का कहना है कि हमने सभी होटलों-ढाबों और मैरिज होम वालों को निर्देश जारी कर दिए हैं। सभी को ठीक 11 बजे बंद करा दिया जाता है। मुरथल में नाइट कफ्यरू का कड़ाई से पालन किया जा रहा है। जो कानून का उल्लंघन करेगा, उस पर कार्रवाई की जाएगी। मास्क न लगाने पर दो दिन में दो लोगों के चालान किए गए हैं।