फतेहपुर : भूमि विवाद में चाचा की लोहे की राड से पीटकर की हत्या, भतीजा फरार, जांच में जुटी पुलिस

 

घटना के बाद श्रीराम निषाद के घर के बाहर बैठी महिलाएं व मृतक की फाइल फोटो।

58 वर्षीय श्रीराम निषाद का भतीजा शिव सिंह निषाद से घर के पास पड़ी भूमि में हिस्सेदारी को लेकर काफी दिनों से कहासुनी चल रही थी।शनिवार देर शाम विवाद बढऩे पर भतीजे शिव सिंह निषाद ने लोहे की राड से चाचा के सिर पर कई प्रहार कर फरार हो गया।

फतेहपुर,  संवाददाता। भूमि विवाद के चलते केवटरा गांव में चाचा-भतीजे के रिश्ते कंलकित हो गए। भतीजे ने चाचा को लोहे की राड से इतना पीटा कि चाचा को एलएलआर कानपुर में चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। उधर घटना को अंजाम देकर भतीजा फरार हो गया। दिवंगत के पुत्र की तहरीर पर आरोपित भतीजे के खिलाफ पुलिस ने गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज कर उसकी तलाश कर रही है। 

चांदपुर थाने के केवटरा गांव निवासी 58 वर्षीय श्रीराम निषाद का भतीजे शिव सिंह निषाद से घर के पास घेरा बनाने के लिए पड़ी भूमि में हिस्सेदारी को लेकर काफी दिनों से कहासुनी चल रही थी। शनिवार देर शाम विवाद बढऩे पर भतीजे शिव सिंह निषाद ने लोहे की राड उठाया और चाचा के सिर पर कई प्रहार कर फरार हो गया। आनन फानन स्वजन गंभीर श्रीराम निषाद को इलाज के लिए सीएचसी अमौली से एलएलआर कानपुर लेकर पहुंचे तो वहां चिकित्सक ने मृत घोषित कर दिया। रात में ही स्वजन शव लेकर गांव लौट आए। रविवार सुबह दिवंगत के बेटे गोविंद की तहरीर पर पुलिस ने आरोपित भतीजे शिव सिंह के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज किया। थाना  प्रभारी योगेश कुमार सिंह ने बताया कि भूमि विवाद के चलते घटना हुई है जिसमें नामजद भतीजे की तलाश में संदिग्ध ठिकानों पर छापेमारी की जा रही है। 

मां-पिता  की मौत से बच्चे अनाथ 

दिवंगत श्रीराम निषाद की पत्नी की पहले ही मौत हो चुकी थी। इसके बाद श्री राम की हत्या से उनके बच्चे अनाथ हो गए। दिवंगत अपने  तीन पुत्र गोवर्धन, गोविंद व वीरेंद्र निषाद के साथ रह रहा था। दो पुत्रियों रेखा व बिटोल की शादी कर चुके थे। चर्चा रही कि मां के बाद पिता की मौत से पांचों बच्चे अनाथ हो गए