युवाओं के बीच बढ़ रही है संघ के प्रति दिलचस्पी, आनलाइन जुड़ रहे लोग

 

वेबसाइट ज्वाइंन आरएसएस से हर वर्ष एक से डेढ़ लाख युवा जुड़ रहे हैं।

वेबसाइट के माध्यम से आरएसएस से सवा लाख युवा हर साल जुड़ रहे हैं।यहीं नहीं देशभर में जितनी शाखाएं चल रही है।उसमें 60 प्रतिशत से अधिक शाखाएं छात्रों और युवाओं की है। कोरोना महामारी के बीच अभी भी देशभर में संघ की 55 हजार से अधिक शाखाएं चल रही है।

नई दिल्ली । कई प्रकार के भ्रामक प्रचार के बावजूद देश के युवाओं के बीच राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की लोकप्रियता बढ़ रही है। विशेष बात कि इसमें पढ़े लिखे युवा अधिक हैं। शाखाओं से अलग हर वर्ष इंटरनेट मीडिया के माध्यम से एक से सवा लाख युवा जुड़ रहे हैं। इस संबंध में संघ के सह सरकार्यवाह डा. मनमोहन वैद्य ने बताया कि हाल के कुछ सालाें में युवाओं में संघ की लोकप्रियता बढ़ रही है।

वेबसाइट के माध्यम से एक - सवा लाख युवा हर साल जुड़ रहे हैं। यहीं नहीं, देशभर में जितनी शाखाएं चल रही है। उसमें 60 प्रतिशत से अधिक शाखाएं छात्रों और युवाओं की है। कोरोना महामारी के बीच अभी भी देशभर में संघ की 55 हजार से अधिक शाखाएं चल रही है। मनमोहन वैद्य ने बताया कि कोरोना काल में संघ की गतिविधियां प्रभावित हुई है। तो भी तकरीबन 95 प्रतिशत तक शाखाएं और साप्ताहिक मिलन सुचारू हो गई है।