बिना राशन कार्ड वाले गरीबों को मिले मुफ्त राशनः रामवीर सिंह बिधूड़ी

 


72 लाख राशन कार्ड धारकों को केंद्र सरकार की तरफ से मुफ्त राशन उपलब्ध कराया जा रहा है।

कोरोना संक्रमण के बढ़ रहे मामलों को देखते हुए भाजपा ने दिल्ली सरकार से बिना राशन कार्ड वाले गरीबों को मुफ्त राशन देने की मांग की है। विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी ने कहा कि पिछले कुछ दिनों से संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं।

नई दिल्ली, राज्य ब्यूरो। कोरोना संक्रमण के बढ़ रहे मामलों को देखते हुए भाजपा ने दिल्ली सरकार से बिना राशन कार्ड वाले गरीबों को मुफ्त राशन देने की मांग की है। विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी ने कहा कि पिछले कुछ दिनों से संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। संक्रमण रोकने के लिए कई तरह के प्रतिबंध लगाए गए हैं जिससे लोगों का कामकाज प्रभावित हो रहा है। सबसे ज्यादा असर गरीबों पर पड़ा है। गरीब कामगारों में डर का माहौल है। उनके पलायन का खतरा बढ़ने लगा है।उन्होंने कहा कि 72 लाख राशन कार्ड धारकों को केंद्र सरकार की तरफ से मुफ्त राशन उपलब्ध कराया जा रहा है। असली समस्या उन लोगों के सामने है जिन्होंने दिल्ली में 2015 से राशन कार्ड के लिए आवेदन किया हुआ है लेकिन अबतक उनका राशन कार्ड नहीं बना है। बिना राशन कार्ड वाले कामगारों की संख्या लगभग 60 लाख है। इन्हें सरकार मुफ्त राशन उपलब्ध नहीं करा रही है।

सुप्रीम कोर्ट ने कोरोना की पिछली लहर के दौरान भी इनकी तरफ ध्यान न देने पर दिल्ली सरकार को कड़े निर्देश दिए थे। गरीबों के लिए सामुदायिक रसोई घर और राशन का इंतजाम करने को कहा था। दिल्ली सरकार ने अभी पिछले ही दिनों इन गरीबों को मई तक मुफ्त राशन देने की घोषणा की थी, लेकिन कहीं भी राशन नहीं दिया जा रहा।

सरकार की बेरुखी से कई कामगार दिल्ली छोड़कर जाने को मजबूर हो रहे हैं क्योंकि उन्हें पता है कि दिल्ली सरकार घोषणा करके भी उन्हें राशन नहीं दे रही है। पिछली बार मकानों का किराया देने का वादा करके सरकार मुकर गई है। सरकार को इन्हें तुरंत मुफ्त राशन उपलब्ध कराना चाहिए।