सुखबीर बादल की रैली में तैनात थी मास्टरमाइंड गगनदीप की कांस्टेबल गर्लफ्रेंड, खुफिया एजेंसियाें की बढ़ी चिंता

 

Ludhiana Blast Caseः लुधियाना बम धमाके काे लेकर हर राेज हाे रहे खुलासे। (फाइल फाेटाे)

एजेंसियों को शक है कि एसएफजे के किसी बड़े प्लान के तहत गगनदीप रैली के दौरान होने वाले सुरक्षा कवच का आकलन कर रहा था। इसे देखते हुए एजेंसियों ने पंजाब पुलिस और वीआईपी सुरक्षा में लगी एजेंसियों को भी अलर्ट कर दिया है।

खन्ना (लुधियाना)। लुधियाना बम ब्लास्ट की खुलती परतों के बीच अब सिख फार जस्टिस (एसएफजे) का चुनावी प्लान भी सामने आने लगा है। आतंकी संगठन पंजाब चुनाव के दौरान वीआइपी नेताओं की रैलियों पर हमले कर पंजाब में दशहत फैलाना चाहता था। इसके लिए उसके स्लीपर सेल लगातार डाटा भी इकट्ठा कर रहे थे। सूत्रों की मानें तो जांच एजेंसियों के अनुसार आरोपित गगनदीप सिंह 4 दिसंबर को खन्ना में सुखबीर बादल की रैली से पहले और दौरान जीटीबी मार्केट के पास स्थित रेस्ट हाउस मार्केट वाले रैली स्थल पर देखा गया था।

इस दोराब वह घूम-फिर कर रैली पर ड्यूटी को तैनात पुलिसकर्मियों से भी मिल रहा था। एजेंसियों को शक है कि एसएफजे के किसी बड़े प्लान के तहत गगनदीप रैली के दौरान होने वाले सुरक्षा कवच का आकलन कर रहा था। इसे देखते हुए एजेंसियों ने पंजाब पुलिस और वीआइपी सुरक्षा में लगी एजेंसियों को भी अलर्ट कर दिया है।

सुखबीर की रैली में ड्यूटी पर थी कमलजीत काैर

बताया जाता है कि सुखबीर बादल की खन्ना रैली के दौरान गगनदीप की महिला मित्र कांस्टेबल कमलजीत कौर भी ड्यूटी पर थी। बताते हैं कि दफ्तर में ड्यूटी होने के कारण अक्सर वीआइपी ड्यूटी के लिए कमलजीत को भेज दिया जाता था। कमलजीत के गगनदीप से संबंधों का खुलासा होने के बाद अब वीआइपी सुरक्षा में ड्यूटियों को लेकर पंजाब पुलिस की चिंताएं बढ़ सकती हैं।

राजेवाल की सुरक्षा में सादे कपड़ों में तैनाती

एसएफजे की गतिविधियों में तेजी के बाद अब किसान नेता बलबीर सिंह राजेवाल की सुरक्षा भी पंजाब पुलिस के लिए चिंता का विषय बन गई है। राजेवाल भी वह नेता है जिनकी हत्या के लिए मुल्तानी द्वारा सुपारी दिए जाने का खुलासा किसान आंदोलन के दौरान हुआ था। उधर, राजेवाल द्वारा सुरक्षा लेने से इनकार कर दिया गया है। सूत्र बताते हैं कि पंजाब पुलिस ने अब राजेवाल की सुरक्षा के लिए सादे कपड़ों में अधिकारियों व कर्मियों को तैनात कर दिया है।