दिल्ली के साथ यूपी और हरियाणा के एनसीआर के शहरों में भी लगे नए प्रतिबंध, पढ़िये ताजा गाइडलाइन

 

दिल्ली के साथ यूपी और हरियाणा एनसीआर के शहरों में भी लगे नए प्रतिबंध, पढ़िये ताजा गाइडलाइन

आवश्यक वस्तुओं से जुड़े दफ्तरों को छोड़कर सभी निजी दफ्तर बंद कर दिए गए हैं। इसके साथ ही बार और रेस्तरां भी बंद हो गए हैं हालांकि रेस्तरां से सिर्फ खाना पैक कराने की सुविधा है। इससे मिलते-जुलते प्रतिबंध नोएडा गाजियाबाद गुरुग्राम और फरीदाबाद में भी हैं।

नई दिल्ली/नोएडा/गुरुग्राम। दिल्ली के साथ एनसीआर के शहरों में भी कोरोना वायरस संक्रमण की रफ्तार बहुत तेज है। दिल्ली में जहां अब रोजाना 20,000 से अधिक मामले सामने  आ रहे हैं तो नोएडा, गुरुग्राम, गाजियाबाद समेत एनसीआर के शहरों में मामलों में तेज गति से इजाफा हो रहा है। इस बीच दिल्ली के साथ यूपी और हरियाणा के एनसीआर के शहरों में तमाम प्रतिबंध नए सिरे से लगाए गए हैं। आइये जानते हैं कि दिल्ली के अलावा यूपी और हरियाणा के शहरों में क्या-क्या प्रतिबंध लगाए गए हैं। 

राजधानी दिल्ली में बढ़ाए गए प्रतिबंध

दिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) ने सख्त रुख अख्तियार करते हुए कई नए प्रतिबंध लगा दिए हैं। डीडीएमए के नए दिशा-निर्देशों के बाद दिल्ली में बुधवार से आवश्यक वस्तुओं से जुड़े दफ्तरों को छोड़कर सभी निजी दफ्तर बंद कर दिए गए हैं। इसके साथ ही बार और रेस्तरां भी बंद हो गए हैं, हालांकि रेस्तरां से सिर्फ खाना पैक कराने की सुविधा है। यह व्यवस्था अगले आदेश तक जारी रहेगी। इसके अलावा डीडीएमए के अधिकारियों का कहना है कि डीडीएमए लगातार हालात पर निगरानी रख रहा है। जरूरत पड़ने पर आगे पाबंदियां और सख्त की जा सकती हैं।

दिल्ली में इन्हें मिली छूट

प्राइवेट बैंक, जरूरी सर्विस देने वाली कंपनियों के दफ्तर, इंश्योरेंस/मेडिक्लेम कंपनी, फार्मा कंपनियों के दफ्तर, प्रोडक्शन और डिस्ट्रीब्यूशन प्रबंधन सहित रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया द्वारा नियमित संस्थाएं या इंटरमीडियरी के दफ्तर, सभी नान बैंकिंग फाइनेंशियल कॉरपोरेशन (एनबीएफसी), सभी माइक्रो फाइनेंस संस्थान, सिक्योरिटी सर्विस, पेट्रोल पंप, एलपीजी आपूर्तिकर्ता, अदालतें/ ट्रिब्यूनल या कमीशन खुले हैं तो वकीलों के दफ्तर, कोरियर सर्विस से जुड़ी गतिविधियां जारी रहेंगी।

दिल्ली से सटे हरियाणा के शहरों में बढ़ाई गई सख्ती

हरियाणा सरकार की ओर से भी कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के चलते अहम फैसला लिया गया है। इसके तहत हरियाणा सरकार ने 8 और जिलों को ग्रुप ए यानी रेड जोन में रखने का फैसला किया है। इनमें ज्यादातर एनसीआर के जिले हैं। इन जिलों में सिनेमाहाल, जिम, पार्क और स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स बंद हो गए हैं। हरियाणा में पहले ही 11 जिलों में ये पाबंदियां लागू हैं।

लगाए गए ये प्रतिबंध

  • हरियाणा सरकार ने बड़ी सभाओं जैसे रैलियों और विरोध प्रदर्शन पर प्रतिबंध लगा दिया है।
  • सिनेमाघरों और खेल परिसरों को बंद रखने समेत वर्तमान पाबंदियों को आठ और जिलों तक बढ़ा दिया है।
  • सिरसा, रेवाड़ी, जींद, फतेहाबाद, महेंद्रगढ़, कैथल, भिवानी और हिसार- इन आठ जिलों में भी पाबंदियां लागू कर दी गई हैं।

स्कूल-कालेज रहेंगे बंद

हरियाणा राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की ओर से जारी आदेश में कहा गया कि फिलहाल हालात गंभीर हैं इसलिए स्कूल और कालेजों में कक्षाएँ 26 जनवरी तक बंद रहेंगी।

दिल्ली से सटे नोएडा, गाजियाबाद और हापुड़ में भी बढ़ी सख्ती

कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए दिल्ली से सटे नोएडा, ग्रेटर नोएडा, गाजियाबाद और हापुड़ में अतिरिक्त प्रतिबंध लगाए हैं। इसके तहत सभी सरकारी और निजी कार्यालय एक बार में 50 फीसदी क्षमता के साथ काम कर रहे हैं। सरकार वर्क फ्राम होम को भी प्रोत्साहित कर रही है। इसके लिए दफ्तरों में रोटेशन सिस्टम लागू करने का आग्रह किया गया है। इसके साथ ही निजी क्षेत्र के कार्यालयों में कार्यरत कोई कर्मचारी कोविड पॉजिटिव निकलता है, तो उसे भी वेतन में बिना किसी कटौती के 7 दिन का अवकाश दिया जाएगा।

नोएडा में धारा 144 जारी

नोएडा और ग्रेटर नोएडा में धारा-144 जारी है। फिलहाल धारा-144 जनवरी तक बढ़ाई गई है, लेकिन लगता है कि इस फरवरी 28 तक भी बढ़ाया जाएगा, क्योंकि तब तक कोरोना वायरस की तीसरी लहर जारी रहने के आसार हैं।

नोएडा लागू हैं ये प्रतिबंध

  • स्कूल 16 जनवरी तक बंद
  • दफ्तरों में 50 फीसद कर्मचारी ही काम करेंगे, बाकी वर्क फ्रोम होम होंगे।
  • रेस्टोरेंट, मल्टीप्लेक्स और माल को केवल 50 प्रतिश क्षमता पर संचालित करने की अनुमति है।

नोएडा फिर कोरोना बम फूटा

औद्योगिक नगरी में कोरोना का संक्रमण तेजी से संक्रमण बढ़ रहा है। बीते 24 घंटे में पहली और दूसरी लहर के मुकाबले बुधवार को सबसे अधिक 2,230 नए संक्रमित मिले हैं। इससे जिले में सक्रिय मरीजों की संख्या 9267 हो गई है। वहीं 106 मरीजों ने कोरोना को मात भी दी है। जिले में अब कुल कोरोना संक्रमितों की संख्या 73,246 व स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या 63,511 पहुंच गई है। करीब 80 मरीजों का इलाज कोविड केयर सेंटर में चल रहा है। वहीं बाकी मरीज होम आइसोलेशन में हैं। जिले में अबतक ओमिक्रोन का एक मरीज मिला है, जो पहले से स्वस्थ हो चुका है।

गाज़ियाबाद में 4 1,679 नए केस मिले, सक्रिय केस हुए 6,125

मंगलवार को जिले में कोरोना के 1,679 नए केस मिले हैं। सक्रिय केस 6,125 हो गए हैं। 24 घंटे में दर्ज की गई संक्रमण दर 14.82 फीसद है । दस दिन में ही 6,228 नए केस मिल चुके हैं। जिले में मार्च 2020 से लेकर अब तक 62,142 केस मिल चुके हैं।जिला सर्विलांस अधिकारी डा.आर के गुप्ता ने बताया कि विगत 24 घंटे में 95 लोग ठीक हुए हैं। 26 मरीजों को कोविड़ अस्पतालों में भर्ती कराया गया है।