बीजिंगः 'मानवाधिकारियों' को बड़ा झटका

 

शी जिनपिंग के शासन में 'मानवाधिकारियों' को मिलेगी सजा। (फाइल फोटो)

मानवाधिकार आंदोलन पर चर्चा करने के लिए चीनी समुद्रतट के पास एकत्र हुए बीस या उससे अधिक वकीलों और कार्यकर्ताओं को दोषी ठहरा दिया गया है। अब प्रमुख कार्यकर्तायों को कई सालों की सजा सुनाई जा सकती है।

बीजिंग, एएनआइ। चीन में मानवाधिकार का नाम सुनते ही सरकार घबरा जाती है, एसी ही एक घटना बीजिंग में सामने आई है। मानवाधिकार आंदोलन पर चर्चा करने के लिए चीनी समुद्रतट के पास एकत्र हुए बीस या उससे अधिक वकीलों और कार्यकर्ताओं को अब दोषी ठहरा दिया गया है। द न्यू यॉर्क टाइम्स में लिखते हुए क्रिस बकले ने कहा कि 2019 में हुई एक बैठक ने बीजिंग को "अधिकार रक्षा" आंदोलन को झटका देने का मौका दिया था। जिसमें अब प्रमुख कार्यकर्तायों को कई सालों की सजा हो सकती है।

शी जिनपिंग के कठोर शासन में मिलने-जुलने पर भी रोक

क्रिस बकले ने आगे कहा कि आपस में मिलना-जुलना, जो कभी चीनी अधिकार प्रचारकों के बीच आम था, शी जिनपिंग के कठोर शासन के तहत जोखिम भरा हो गया है। कई पत्रिकाएं, शोध संगठन और समूह जो कभी चीन में स्वतंत्र विचारधारा वाले कार्यकर्ताओं को बनाए रखते थे, उसपर भी कड़े प्रतिबंध लगा दिए गए हैं। सभा में भाग लेने वाले शौकिया संगीतकार ने लॉस एंजिल्स से एक साक्षात्कार में कहा कि वह 2019 के अंत में विदेश भाग गए जब पुलिस ने विला में शामिल होने वालों को हिरासत में लेना शुरू किया। उन्होंने कहा कि चीन में सीमा पुलिस ने उनकी पत्नी को भी शामिल होने से रोक दिया था।

चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के गलत इरादे उजागर

बकले के अनुसार 48 वर्षीय जू और 54 वर्षीय डिंग ने वकीलों से कहा है कि उन्होंने कुछ भी अवैध नहीं किया है, लेकिन पार्टी नियंत्रित अदालत द्वारा उन्हें दोषी ठहरा जाने के बाद 10 साल या उससे भी अधिक की जेल की सजा का सामना करना पड़ेगा। बकले ने कहा कि पश्चिमी सरकारों ने शिनजियांग क्षेत्र में उइगरों की सामूहिक हिरासत पर ध्यान केंद्रित किया है, लेकिन जू और डिंग के खिलाफ मुकदमा पूरे चीन में असंतोष के खिलाफ चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के गलत अभियान को उजागर करता है। सुरक्षा अधिकारियों ने 2022 में बाद में पार्टी कांग्रेस से पहले किसी भी राजनीतिक विरोध को खत्म करने की कसम खाई है, और शी को शीर्ष नेता के रूप में एक और पांच साल का कार्यकाल हासिल करने के लिए तैयार हैं।

गिरफ्तार कर प्रताड़ित भी किया गया

जानकारी के अनुसार पूर्वी चीन में ज़ियामेन में सप्ताहांत सत्र में भाग लेने वाले कई लोगों को हिरासत में ले लिया गया था, और रिहाई से पहले हफ्तों या महीनों तक बंद कर दिया गया था। इसके अलावा एक वकील चांग वेपिंग को दूसरी बार हिरासत में लिया गया और तोड़फोड़ के आरोप में गिरफ्तार कर प्रताड़ित किया था।