जसप्रीत बुमराह के उप कप्तान बनने से रिषभ पंत और श्रेयस अय्यर को मिली यह बड़ी चेतावनी

 

बुमराह पूर्व वनडे कप्तान विराट कोहली के साथ (एपी फोटो)

चेतन शर्मा की अगुआई वाली चयन समिति ने आइपीएल में जांचे परखे रिषभ पंत और श्रेयस अय्यर को नजरअंदाज करके जसप्रीत बुमराह को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ द्विपक्षीय वनडे के लिए वनडे टीम का उप कप्तान नियुक्त किया।

नई दिल्ली, प्रेट्र। बहुत कम को यह उम्मीद थी जसप्रीत बुमराह को 'कामचलाऊ व्यवस्था' के लिए ही सही उप कप्तान नियुक्त किया जाएगा लेकिन अब यह स्पष्ट है कि चयनकर्ताओं ने इस तेज गेंदबाज को तीनों प्रारूपों में निरंतर अच्छे प्रदर्शन का इनाम दिया है। चेतन शर्मा की अगुआई वाली चयन समिति ने आइपीएल में जांचे परखे रिषभ पंत और श्रेयस अय्यर को नजरअंदाज करके बुमराह को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ द्विपक्षीय वनडे के लिए वनडे टीम का उप कप्तान नियुक्त किया। रोहित शर्मा की अनुपस्थिति में केएल राहुल इस सीरीज में टीम की कमान संभालेंगे।चयन समिति के करीबी सूत्रों पर विश्वास करें तो बुमराह की उप कप्तान के रूप में नियुक्ति पंत और अय्यर के लिए स्पष्ट संदेश है कि उन्हें सभी प्रारूपों में निरंतरता दिखानी होगी। बुमराह 2016 से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण करने के बाद से निरंतर अच्छा प्रदर्शन करते रहे हैं। बीसीसीआइ के सूत्रों ने कहा, 'यह व्यवस्था एक सीरीज के लिए है क्योंकि रोहित शर्मा (चोट के कारण बाहर) का वेस्टइंडीज और श्रीलंका के खिलाफ सीरीज में वापसी करना तय है और तब राहुल उप कप्तान की भूमिका निभाएंगे। हालांकि चयनकर्ता जस्सी (बुमराह) को उनके निरंतर अच्छे प्रदर्शन और अच्छे क्रिकेट दिमाग का इनाम देना चाहते थे। इसलिए उन्हें रिषभ पंत और श्रेयस अय्यर पर प्राथमिकता दी गई।'

चयन समिति के पूर्व अध्यक्ष एमएसके प्रसाद ने कहा कि उन्हें केवल एक सीरीज के लिए उप कप्तान बनाया गया है इसलिए चयनकर्ताओं के लिए यह आसान फैसला था। प्रसाद ने कहा, 'जसप्रीत बुमराह बहुत समझदार है और काफी सूझबूझ से काम लेता है। इसलिए उन्हें क्यों न इसका सम्मान दिया जाए। मुझे यह फैसला पसंद है। अगर एक तेज गेंदबाज सभी प्रारूपों में अच्छा प्रदर्शन कर रहा है तो उसे कप्तान क्यों नहीं बना सकते।' आपको बता दें कि बुमराह इस वक्त साउथ अफ्रीका के खिलाफ तीन मैचों की टेस्ट सीरीज खेल रहे हैं और इसके बाद तीन मैचों की वनडे सीरीज खेलेंगे जिसमें वो केएल राहुल को सहयोग देंगे।