गुरुग्राम, फरीदाबाद सहित हरियाणा में बच्चों ने कोविड वैक्सीनेशन नहीं कराया तो स्कूलों में नो एंट्री

 

हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज की फाइल फोटो।

हरियाणा में 15 से 18 वर्ष के बच्चों का कोविड टीकाकरण में तैजी लाने के निर्देश दिए गए हैं। राज्य के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि स्कूल खुलने पर ऐसे बच्चों को स्कूल में प्रवेश नहीं दिया जाएगा जिन्होंंने वैक्सीनेशन न करवाया हो।

राज्य ब्यूरो, चंडीगढ़। हरियाणा में यदि 15 से 18 साल के बच्चों ने टीकाकरण नहीं करवाया तो उनके लिए स्कूलों में नो एंट्री होगी। राज्य के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने बच्चों के टीकाकरण में तेजी लाने के निर्देश दिए हैं।कहा कि अगर टीकाकरण नहीं होगा तो उन्हें स्कूल खुलने पर स्कूलों में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। वर्तमान में तीन करोड़ 76 लाख 31 हजार 188 वैक्सीन लोगों को लगाई गई है जिसमें से दो करोड़ 18 लाख 80 हजार 724 को पहली डोज, एक करोड़ 57 लाख नौ हजार 328 को दूसरी डोज और 41 हजार 136 सतर्कता डोज लगाई गई हैं।हरियाणा में प्रत्येक जिले के लिए दो नोडल अधिकारियों को नियुक्त किया जाएगा। इनमें से एक अधिकारी हर जिले के सरकारी अस्पताल की व्यवस्थाओं की निगरानी करेगा और उसकी रिपोर्ट देगा। दूसरा नोडल अधिकारी निजी अस्पतालों की निगरानी कर वहां मौजूद व्यवस्थाओं की जानकारी प्रदेश सरकार को उपलब्ध कराएगा। टेलीमेडिसिन को प्रभावशाली बनाने के लिए 1075 नंबर पर स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को ड्यूटी पर लगाया जाएगा।

स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कोरोना पर मंथन के लिए आयोजित बैठक में यह जानकारी दी। जिनोम सीक्वेंसिंग के लिए मेडिकल सर्विस कारपोरेशन लिमिटेड (एचएमसीएल) को 1500 किट का आर्डर दे दिया गया है। यह 1500 किट तीन चरण में मिलेंगी। जिनोम सीक्वेंसिंग की एक किट से 96 सैंपल किए जा सकते हैं।स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि जल्द सर्वे कराया कि किसक्षेत्र में किन इंफ्रास्ट्रक्चर, मेडिकल उपकरणों और सेवाओं की आवश्यकता है। उसी हिसाब से इन क्षेत्रों में इंफ्रास्ट्रक्चर, मेडिकल उपकरण और मैनपावर उपलब्ध कराई जाएगी। होम आइसोलेशन की किट को मुख्यालय स्तर पर तैयार कर जल्द ही जिलों में भिजवाया जाएगा।

बता दें, हरियाणा में ओमिक्रोन की रफ्तार धीमी हो गई है, लेकिन कोरोना संक्रमण का फैलाव तेजी से हो रहा है। पिछले दो दिनों में ओमिक्रोन का कोई नया मरीज नहीं मिला है। इसके उलट दैनिक संक्रमितों का आंकड़ा आठ हजार के पार पहुंच गया है। कोरोना से दम तोड़ने वालों की तादाद भी लगातार बढ़ रही है। पिछले 24 घंटों में 8841 नए संक्रमित मिले, जिससे दैनिक संक्रमण दर उछलकर 17.31 प्रतिशत पर पहुंच गई है। इसी तरह एक्टिव केसों की संख्या बढ़कर 41 हजार 420 पर पहुंच चुकी है। हालांकि राहत की बात यह है कि संक्रमण बढ़ने के साथ कोरोना को मात देने वालों का आंकड़ा हर रोज बढ़ रहा है।

गत दिवस 3394 रोगी ठीक होकर घर लौटे और छह मरीज कोरोना से जिंदगी की लड़ाई हार गए। गुरुग्राम में दो और सिरसा, यमुनानगर, जींद व फतेहाबाद में एक-एक मरीज ने दम तोड़ा। 22 जिलों में सबसे ज्यादा गुरुग्राम में 3897, फरीदाबाद में 1106, करनाल में 607, सोनीपत में 512, अंबाला में 508, पंचकूला में 441, पानीपत में 217, हिसार में 178, रोहतक में 204, यमुनानगर में 168, झज्जर में 166, कुरुक्षेत्र में 148, भिवानी में 114, सिरसा में 94 व फतेहाबाद में 92 संक्रमित मिले। सबसे कम चरखी दादरी में 41, पलवल में 28 और नूंह में 15 नए रोगी मिले।