राजस्थान के भरतपुर में दुष्कर्म पीड़िता ने जहर खाकर आत्महत्या की

 

राजस्थान के भरतपुर में दुष्कर्म पीड़िता ने जहर खाकर आत्महत्या की

आसपास रहने वालों का कहना है कि दो-तीन दिन पहले वीडियो और फोटो वायरल होने के बाद से वह मानसिक अवसाद में थी।समाज में बदनामी के डर के कारण वह कमरे से बाहर नहीं निकल रही थी । दो दिन से वह एक कमरे में ही रह रही थी ।

 संवाददाता, जयपुर। राजस्थान में भरतपुर जिले के कैथवाड़ा में दुष्कर्म की शिकार 16 साल एक नाबालिग ने समाज में बदनामी के डर से जहर खाकर आत्महत्या कर ली। नाबालिग ने सोमवार शाम आत्महत्या की है। मृतका के पिता ने दो लोगों के खिलाफ कैथवाड़ा पुलिस थाने में नामजद मुकदमा दर्ज करवाया है। परिजनों की सूचना पर मृतका के घर पहुंचे पुलिसकर्मियों ने शव को अस्पताल में पहुंचाया । मंगलवार को पोस्टमार्टम के बाद शव उसके स्वजनों को सौंप दिया गया । पुलिस आरोपितों की तलाश में जुटी है।पुलिस में दर्ज रिपोर्ट के अनुसार नाबालिग के साथ पिछले कई दिनों से दो लोग दुष्कर्म कर रहे थे। दोनों आरोपितों ने दुष्कर्म करने के साथ ही उसके अश्लील फोटो और वीडियो भी बना लिया था । तीन दिन पहले आरोपितों ने फोटो और वीडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल कर दिया । इस कारण नाबालिग अवसाद में आ गई। उसने सोमवार शाम को जहरीली वस्तु खाकर आत्महत्या कर ली । नाबालिग ने जब जहरीली वस्तु खाया उस समय उसके स्वजन दूसरे कमरे में थे । उसकी मां जब कमरे में पहुंची तो नाबालिग जमीन में पड़ी हुई मिली थी । इस पर उसे स्थानीय अस्पताल ले जाया गया । जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया । स्वजनों ने देर रात पुलिस को सूचना दी और दो आरोपितों सुरेश और घासी के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज करवाई । दोनों आरोपित नाबालिग के गांव के ही हैं।

पुलिस इस बात की जांच में जुटी है कि नाबालिग उनके जाल में कैसे आई । जिला पुलिस अधीक्षक देवेन्द्र बिश्नोई ने बताया कि मेडिकल बोर्ड के पोस्टमार्टम की रिपोर्ट मंगवाई गई है। इंटरनेट मीडिया पर वायरल किए गए वीडियो और फोटो की जांच की जा रही है । जिन दो लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवाई गई है,उनकी तलाशी की जा रही है। फिलहाल दोनों फरार हैं। मृतका के आसपास रहने वालों का कहना है कि दो-तीन दिन पहले वीडियो और फोटो वायरल होने के बाद से वह मानसिक अवसाद में थी। समाज में बदनामी के डर के कारण वह कमरे से बाहर नहीं निकल रही थी । दो दिन से वह एक कमरे में ही रह रही थी ।