दुनिया मना रही नए साल का जश्‍न और इमरान खान अपनी जनता पर गिरा रहे महंगाई का बम: शाहबाज शरीफ

 

इमरान खान लोगों पर गिरा रहे हैं महंगाई का बम

पाकिस्‍तान में बढ़ती महंगाई से वहां की जनता कई वर्षों से त्रस्‍त है। हाल ही में बढ़े तेल के दामों ने भी वहां की जनता को बड़ा झटका दिया है। इसको लेकर पाकिस्‍तान की संसद में विपक्ष के नेता शाहबाज शरीफ ने इमरान खान से इस्‍तीफा देने की मांगा है।

इस्‍लामाबाद (एएनआई)। पाकिस्‍तान की नेशनल असेंबली में विपक्ष के नेता शाहबाज शरीफ ने प्रधानमंत्री इमरान खान से इस्‍तीफा देने की मांग की है। स्‍थानीय मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्‍तान मुस्लिम लीग- नवाज के नेता शाहबाज शरीफ का कहना है कि हाल ही में तेल की बढ़ी कीमतों की वजह से मंहगाई जबरदस्‍त तरीके से बढ़ी है। इसके लिए इमरान खान को इस्‍तीफा देना चाहिए। उन्‍होंने ये भी कहा कि दुनिया के दूसरे देशों में सरकारें कीमतों के कम होने पर त्‍योहारों का जश्‍न मना रही है, वहीं दूसरी तरफ पाकिस्‍तान में प्रधानमंत्री नियाजी जनता पर महंगाई का बम गिरा रहे हैं।

जियो न्‍यूज ने पीएमएल-एन के अध्‍यक्ष शाहबाज के बयान का उल्‍लेख करते हुए कहा है कि वो उम्‍मीद करते हैं कि नया साल पाकिस्‍तान की जनता को इस बेतहाशा बढ़ रही महंगाई से छुटकारा दिलाएगा। इसके साथ ही उन्‍होंने ये भी उम्‍मीद जताई है कि नए साल में देश की जनता भुखमरी, बीमारी से उबरेंगे और लोगों को न्‍याय मिल सकेगा।

इस बीच पाकिस्‍तान पीपुल्‍स पार्टी के नेता बिलावल भुट्टो जरदारी ने भी इमरान खान सरकार की जमकर आलोचना की है। उनका कहना है कि इमरान खान ने कहा था कि वर्ष 2021 उनके देश और जनता के लिए खुशियों से भरा होगा। वर्ष 2021 लोगों की तरक्‍की की राह खोलेगा। लेकिन अब वो साल निकल चुका है और 2022 आ चुका है। उनका किया गया वादा कहां गया। उन्‍होंने इमरान खान पर देश में बढ़ती महंगाई को लेकर भी निशाना साधा। बिलावल ने कहा कि देश की जनता बेतहाशा बढ़ती महंगाई से अब दुखी हो चुकी है। वो इस सरकार को और ज्‍यादा बर्दाश्‍त करने की सूरत में नहीं है।

उन्‍होंने यहां तक कहा कि इमरान खान की सरकार बनने से पहले देश में ऐसी सूरत नहीं थी। लेकिन इमरान खान के सत्‍ता में आने के बाद से ही महंगाई ने अपने सारे रिकार्ड तोड़ दिए हैं। जबकि इमरान खान इसके लिए लगातार पहले की ही सरकारों को दोषी ठहराने में लगे हैं। ऐसा आरोप लगाकर वो ये बता रहे हैं कि वो इस महंगाई को रोकने में नाकाम हैं। उनके हाथों में कुछ नहीं रहा है। वो कुछ नहीं कर सकते हैं।गौरतलब है कि इमरान खान सरकार पर विपक्ष का हम