भारत ने की अफगानिस्तान की मानवीय मदद, पांंच लाख कोवैक्सीन की खुराक काबुल पहुंचाई

 

भारतीय विदेश मंत्रालय ने दी है जानकारी

भारत ने आज अफगानिस्तान को कोरोना वैक्सीन कोवैक्सीन (Covaxin) की 500000 खुराक वाली मानवीय सहायता के अगले बैच की आपूर्ति की है। वैक्सीन की इस खेप को इंदिरा गांधी अस्पताल काबुल को सौंप दिया गया। भारतीय विदेश मंत्रालय ने जानकारी दी है।

नई दिल्ली, एएनआइ। भारत ने आज अफगानिस्तान को कोरोना वैक्सीन कोवैक्सीन (Covaxin) की 500,000 खुराक वाली मानवीय सहायता के अगले बैच की आपूर्ति की है। वैक्सीन की इस खेप को इंदिरा गांधी अस्पताल काबुल को सौंप दिया गया है। भारतीय विदेश मंत्रालय ने इस बात की जानकारी दी है।

साथ ही विदेश मंत्रालय की विज्ञप्ति में कहा गया है कि आने वाले हफ्तों में अतिरिक्त पांच लाख खुराक की आपूर्ति और की जाएगी। भारत ने अफगान लोगों को खाद्यान्न, कोरोना वैक्सीन की एक मिलियन खुराक और आवश्यक जीवन रक्षक दवाओं सहित मानवीय सहायता प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध किया है।पिछले महीने की शुरुआत में भारत ने विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के माध्यम से अफगानिस्तान को 1.6 टन चिकित्सा सहायता प्रदान की है।

गेहूं और शेष चिकित्सा सहायता की भी आपूर्ति करेगा भारत

विदेश मंत्रालय ने कहा, 'आने वाले हफ्तों में, हम गेहूं की आपूर्ति और शेष चिकित्सा सहायता की आपूर्ति करेंगे। इस संबंध में हम परिवहन के तौर-तरीकों को अंतिम रूप देने के लिए संयुक्त राष्ट्र एजेंसियों और अन्य लोगों के संपर्क में हैं।'

आर्थिक संकट से जूझ रहा है अफगानिस्तान

बता दें कि तालिबान ने 15 अगस्त को काबुल पर कब्जा कर लिया था और इसके बाद से देश गहराते आर्थिक, मानवीय और सुरक्षा संकट से जूझ रहा है। विदेशी सहायता के निलंबन, अफगान सरकार की संपत्ति को जब्त करने और तालिबान पर अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंधों के संयोजन ने पहले से ही उच्च गरीबी के स्तर से पीड़ित देश को एक पूर्ण आर्थिक संकट में डाल दिया है।