वित्त पोषित कालेजों के शिक्षकों को वेतन भुगतान करे सरकारः भाजपा

 

भाजपा नेता ने शिक्षकों को उनकी परेशानी हल कराने का आश्वासन दिया।

दिल्ली सरकार के वित्त पोषित शिक्षकों और कर्मचारियों ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी से बात कर अपनी समस्याएं बताई। कहा कि पिछले दो से छह माह का वेतन नहीं मिला है।

नई दिल्ली ,surender aggarwal। दिल्ली सरकार के वित्त पोषित शिक्षकों और कर्मचारियों ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी से बात कर अपनी समस्याएं बताई। उन्होंने कहा कि वित्त पोषित 12 कालेजों के शिक्षकों और कर्मचारियों को पिछले दो से छह माह का वेतन नहीं मिला है। इससे उन्हें अपने परिवार के भरण पोषण में दिक्कत हो रही है। भाजपा नेताओं ने उनकी परेशानी हल कराने का आश्वासन दिया।

कम फंड की कमी के कारण हो रही वेतन देने में दिक्कत

गुप्ता ने कहा कि कोरोना महामारी के दौर में कम फंड दिए जाने की वजह से शिक्षकों को वेतन नहीं मिल रहा है। मेडिकल बिल, बच्चों की शिक्षा भत्ता पिछले दो सालों से नहीं मिला है। कालेजों को प्रति वर्ष चार से 10 करोड़ रुपये का नुकसान हो रहा है।

कई कालेजों की इमारतें हो चुकी है जर्जर

कई वित्त पोषित कालेज व स्कूलों की इमारतें जर्जर हो चुकी हैं। उन्होंने कहा कि अदिति कालेज और भगनी निवेदिता कालेज दिल्ली के ग्रामीण क्षेत्र में महिलओं को उच्च शिक्षा उपलब्ध कराने के लिए खोले गए थे। सरकार की अनदेखी से इनमें शौचालय की भी पर्याप्त व्यवस्था नहीं है।

स्वीकृत पदों की नहीं हो रही भर्ती

उन्होंने कहा कि वित्त पोषित 12 कालेजों में अभी तक शिक्षकों और कर्मचारियों को सातवें वेतन आयोग का बकाया राशि का भी भुगतान नहीं हुआ है। इन कालेजों में शिक्षकों के स्वीकृत अतिरिक्त पद नहीं भरे गए हैं जिससे छात्र-शिक्षक अनुपात असुंतलित हो गया है। उन्होंने सरकार से शिक्षकों का बकाया वेतन का भुगतान और अन्य समस्याएं हल करने की मांग की।