बिजली कर रही है परेशान कैसे, करें बच्चे आनलाइन क्लास

 

बिजली की समस्या जारी है। डीवीसी की लगातार कटौती से हर वर्ग के लोग परेशान हो रहे है।

धनबाद जिला में बिजली की समस्या जारी है। डीवीसी की लगातार कटौती से हर वर्ग के लोग परेशान हो रहे है। मगर इससे सबसे ज्यादा प्रभावित स्कूली बच्चे हो रहे है जिन्हें आनलाइन क्लास करना होता है। बच्चों का मोबाइल चार्ज नहीं हो पा रहा है

सं, धनबाद: धनबाद जिला में बिजली की समस्या जारी है। डीवीसी की लगातार कटौती से हर वर्ग के लोग परेशान हो रहे है। मगर इससे सबसे ज्यादा प्रभावित स्कूली बच्चे हो रहे है जिन्हें आनलाइन क्लास करना होता है। बिजली कटी रहने के कारण बच्चों का मोबाइल चार्ज नहीं हो पा रहा है जिसके कारण वह सुबह क्लास अटेंड नहीं कर पा रहे है। कोरोना के चलते फिर से स्कूल बंद कर दिया गया है।

छोटे बच्चों के साथ बड़े बच्चे भी आनलाइन क्लास ही कर रहे है। बिजली की समस्या से उन्हें लगातार परेशानी हो रही है।हालांकि यह परेशानी सिर्फ बच्चों को ही नहीं है। इधर बिजली की समस्या से व्यवसायी वर्ग भी काफी परेशान है। डीवीसी की भारी कटौती को लेकर इंडस्ट्रीज एंड कामर्स के अध्यक्ष बीएन सिंह ने सीएम हेमंत सोरेन को पत्र भी लिखा था। पत्र में उन्होंने यह कहा था कि लगातार कटौती के कारण इंडस्ट्रीज सेक्टर पर काफी असर पड़ रहा है इसे जल्द ठीक कर दिया जाए। वहीं जीटा के महासचिव राजीव शर्मा ने भी डीवीसी और उर्जा विभाग को पत्र लिख इस समस्या से अवगत कराया था। मगर बिजली समस्या जस की तस बनी हुई है।

क्या कहती है छात्रा

धनबाद पब्लिक स्कूल की ग्यारहवीं की छात्रा सोनाली कुमारी बताती है कि लगभग रोज बिजली संकट के कारण उन्हें क्लास करने में परेशानी हो रही है। पूरी पढ़ाई मोबाइल पर ही टिक गयी है। रात में अगर मोबाइल का ज्यादा इस्तेमाल हो गया तो यह पक्का है कि सुबह वह क्लास नहीं कर पाएंगी। क्योंकि मोबाइल चार्ज नहीं रहता और बिजली रहती नहीं है।

धनबाद पब्लिक स्कूल की सातवीं की छात्रा रितिका कुमारी का भी यही हाल है। वह बताती है कि दिन भर में चार से पांच क्लास होता है। मगर एक क्लास तो छुटना तय रहता है। क्लास में दिन भर मोबाइल का इस्तेमाल होता है जिससे मोबाइल की बैट्री खत्म होती है और मोबाइल चार्ज पर लगाने जाओ तो बिजली ही नहीं रहती है। लगातार सात से आठ घंटे बिजली कटौती से काफी परेशानी हो रही है।