हरिद्वार में पतंग लूटने पर अखाड़े के संतों और पड़ोसियों में मारपीट, दोनों पक्षों ने पुलिस चौकी में की शिकायत

 

दोनों तरफ से लाठी-डंडे चलने से अफरा-तफरी मच गई। मारपीट में दोनों ही पक्षों को चोट आई है।

कनखल क्षेत्र में पतंग लूटने निरंजनी अखाड़े के मैदान में घुसे किशोर की पिटाई के बाद अखाड़े के संत और किशोर के स्वजन में झगड़ा हो गया। दोनों तरफ से लाठी-डंडे चलने से अफरा-तफरी मच गई। मारपीट में दोनों ही पक्षों को चोट आई है।

संवाददाता, हरिद्वार: कनखल क्षेत्र में पतंग लूटने निरंजनी अखाड़े के मैदान में घुसे किशोर की पिटाई के बाद अखाड़े के संत और किशोर के स्वजन में झगड़ा हो गया। दोनों तरफ से लाठी-डंडे चलने से अफरा-तफरी मच गई। मारपीट में दोनों ही पक्षों को चोट आई है। एक-दूसरे पर मारपीट का आरोप लगाते हुए दोनों पक्षों ने जगजीतपुर पुलिस चौकी में शिकायत की है।

शिवपुरी कालोनी-जगजीतपुर के बीच में निरंजनी अखाड़े की भूमि है। दोपहर में जगजीतपुर क्षेत्र का ही रहने वाला एक किशोर पतंग लूटने के चक्कर में अखाड़े के मैदान में घुस गया। अखाड़े में मौजूद संत ने किशोर को दौड़ा लिया, लेकिन बाहर भागते हुए लडख़ड़ा कर गिरने पर किशोर को चोट लग गई। रोते हुए अपने घर पहुंचे किशोर ने आपबीती बताई। इस पर गुस्साए स्वजन सीधे अखाड़े में जा धमके। दोनों पक्षों के बीच जमकर नोकझोंक होने के बाद मारपीट हो गई। देखते ही देखते दोनों पक्षों के बीच लाठी-डंडे चल गए। राहगीरों ने बीच-बचाव कर मामला शांत कराया। एक-दूसरे पर आरोप लगाते हुए दोनों पक्ष जगजीतपुर चौकी पहुंच गए। चौकी प्रभारी खेमेंद्र गंगवार ने बताया कि दोनों पक्षों में से किसी ने तहरीर नहीं दी है, तहरीर मिलने पर मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

रुड़की: आनलाइन शापिंग में छूट का आफर देने के नाम पर 15 हजार रुपये की धोखाधड़ी की गई। आरोपित ने झांसा देते हुए खाते में लिंक भेजा था। पुलिस ने मामले की छानबीन शुरू कर दी है।

गंगनहर कोतवाली क्षेत्र के सुभाषनगर निवासी अमित का शहर के एक बैंक में खाता है। अमित कुमार हरिद्वार स्थित एक शोरूम में कर्मचारी है। शनिवार की देर शाम उनके मोबाइल पर एक फोन आया। फोन करने वाले ने बताया कि वह एक आनलाइन शापिंग कंपनी का कर्मचारी बोल रहा है। उसने बताया कि उसे कंपनी की तरफ से आनलाइन शाङ्क्षपग करने पर 50 प्रतिशत तक की छूट दी जाएगी। लेकिन, इसके लिए उन्हें कंपनी में अपना आनलाइन रजिस्ट्रेशन करना होगा। आनलाइन रजिस्ट्रेशन के लिए उसने वाट्सऐप पर एक लिंक भेजा। उसने बताया कि लिंक ओपन करने के बाद उन्हें कंपनी में रजिस्ट्रेशन करना होगा। बातों में आकर अमित कुमार ने जैसे ही मोबाइल पर आए लिंक को ओपन किया तो उनके खाते से 15 हजार रुपये की रकम साफ हो गई। पीडि़त ने इसे लेकर पुलिस से शिकायत की है। पुलिस आरोपित का मोबाइल नंबर ट्रेस करने का प्रयास कर रही है।