यूपी चुनाव को लेकर लालू की बेटी का नारा- कमल रखो नुमाइश में; अखिलेश रहेंगे बाइस में, ट्राई करो सत्‍ताइस में

 

सपा नेता अखिलेश यादव, रोहिणी आचार्या और लालू प्रसाद यादव। जागरण आर्काइव।

यूपी में पहले चरण के मतदान से पूर्व बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव की बेटी रोहिणी आचार्या सक्रिय हो गई हैं। भाजपा पर हमला करते हुए रोहिणी ने अखिलेश यादव को यूपी का भविष्य बताया है। उन्होंने कहा है कि 2022 में सपा की सरकार आना तय है।

 पटना। पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों की घोषणा की जा चुकी है। उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, मणिपुर और गोवा में इलेक्शन होने हैं। उत्तर प्रदेश में 403 सीटों के लिए सात चरणों में चुनाव होंगे। यूपी में समाजवादी पार्टी (सपा) की साइकिल को बिहार के राष्ट्रीय जनता दल (राजद) की लालटेन का साथ मिला है। पहले चरण के मतदान से पहले बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव की बेटी रोहिणी आचार्या सक्रिय हो गई हैं। मंगलवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर हमला करते हुए रोहिणी ने अखिलेश यादव को यूपी का भविष्य बताया है। उन्होंने कहा है कि 2022 में सपा की सरकार आना तय है। 

माइक्रो ब्लागिंग साइट पर रोहिणी सक्रिय

पूर्व मुख्यमंत्री लालू-राबड़ी की बेटी रोहिणी आचार्या ट्विटर पर काफी संक्रिय रहती हैं। राष्ट्रीय जनता दल (राजद) पर सवाल आए या फिर भाई तेजस्वी पर हमला हो, रोहिणी माइक्रो ब्लागिंग साइट ट्विटर से तीर छोड़ने शुरू कर देती हैं। अब रोहिणी की नजर उत्तर प्रदेश में अगले महीने होने वाले विधानसभा चुनाव पर है। इसको लेकर उन्होंने मंगलवार को ट्वीट किया। रोहिणी ने लिखा, कमल रखो नुमाइश में, अखिलेश रहेंगे बाइस में, ट्राई करो सत्ताइस में। लालू की बेटी के इस ट्वीट पर कमेंट भी किए जा रहे हैं। एक यूजर ने लिखा, खूब कहा दीदी, 2027 नहीं अब सत्ताइस साल बाद कहिए। 

यूपी में विधानसभा की 403 सीटों के लिए होने हैं चुनाव

बता दें कि उत्तर प्रदेश में 403 विधानसभा सीटों के लिए दस फरवरी को पहले चरण की वोटिंग होगी। इसके बाद 14 फरवरी, 20 फरवरी, 23 फरवरी, 27 फरवरी, तीन मार्च, और सात मार्च को मतदान होंगे। दस मार्च को चुनाव परिणाम घोषित किए जाएंगे। चुनाव के दौरान कोरोना गाइडलाइन का पालन करना होगा। डोर टू डोर कैंपेन के लिए केवल पांच लोगों को ही इजाजत दी गई है। वहीं केवल प्रत्याशी ही वर्चअल रैली कर सकेंगे।