नाली निर्माण न होने से हाथरस के नगला छत्ती में जलभराव, परेशान ग्रामीण

 

जिले की सबसे बड़ी ग्राम पंचायत बिसावर के गांव नगला छत्ती में जलभराव की समस्या महीनों से बनी हुई है।

जिले की सबसे बड़ी ग्राम पंचायत बिसावर के गांव नगला छत्ती में जलभराव की समस्या महीनों से बनी हुई है। जलभराव होने से सड़कें व गलियों में गड्ढे बन गए हैं। वाहनों को ही नहीं राहगीरों को भी इस रास्ते से गुजरने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

हाथरस (सादाबाद) ,  संवाददाता।  जिले की सबसे बड़ी ग्राम पंचायत बिसावर के गांव नगला छत्ती में जलभराव की समस्या कई महीनों से बनी हुई है। जलभराव होने से सड़कें व गलियों में गड्ढे बन गए हैं। वाहनों को ही नहीं राहगीरों को भी इस रास्ते से गुजरने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

ग्रामीणों के लिए नासूर बन गयी है जलभराव की समस्‍या 

नगला छत्ती में जलभराव की समस्या लोगों के लिए नासूर बन गई है। घरों से निकलने वाला पानी सीधे सड़क पर जमा हो रहा है। इससे जलभराव यहां कई महीनों से बना हुआ है। घरों के पानी निकासी की कोई व्यवस्था नहीं होने से ही यहां जलभराव हो रहा है। नालियों की कोई व्यवस्था नहीं है। सड़कों का पानी लौटकर गलियों में जमा हो जाता है। इसके चलते राहगीर, वाहन चालकों के साथ स्थानीय लोगों को को भी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

जलभराव व कीचड़ से होकर निकल रहे नौनिहाल

गांव नगला छत्ती में मार्ग पर जलभराव होने से दूर तक कीचड़ जम गया है। इस मार्ग पर कई स्कूल, गैस एजेंसी, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पड़तें हैं। यहां आने-जाने वालों को जलभराव से होकर गुजरना पड़ रहा है। सबसे अधिक दिक्कतें स्कूल जाने वाले छोटे-छोटे बच्चों को हाे रही हैं। पास में पोखर होने के बाद भी पानी की निकासी की ओर किसी का ध्यान नहीं है।

इनका कहना है

जलभराव वाली जगह के पास नई रोड का निर्माण हुआ है। जिस जगह होकर जल निकासी होती थी वहां सड़क बनी हुई है,पानी निकासी की समस्या का जल्द ही समाधान किया जाएगा।

- रेखा चौधरी, प्रधान बिसावर

समस्या की जड़ तक जाकर, जल भराव के लिये सभी को अपनी जिम्मेदारी समझनी होगी। ब्लाक स्तर से जोभी उचित कार्यवाही होगी वो की जाएंगी l