कोरोना की रोकथाम को मिशन मोड में सरकार, केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री कर रहे अहम बैठक, पीएम मोदी भी लेंगे जायजा

 

कोविड मैनेजमेंट पर केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री की अहम बैठक है।

देश में बढ़ते कोरोना वायरस के मामलों के चलते मंगलवार सुबह 1130 बजे केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया एक अहम बैठक करने वाले हैं। इसमें वो कोविड प्रबंधन पर देश भर के सभी इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के नेताओं और वरिष्ठ डाक्टरों के साथ वर्चुअल बैठक करेंगे।

नई दिल्‍ली (एएनआई)। देश में बढ़ते कोरोना वायरस के मामलों के चलते केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया एक अहम बैठक कर रहे हैं। इसमें वो कोविड प्रबंधन पर देश भर के सभी इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के नेताओं और वरिष्ठ डाक्टरों के साथ वर्चुअल बैठक कर रहे हैं। आपको बता दें कि देश में बीते 24 घंटों के दौरान 1.79 लाख मामले सामने आए हैं। इसको देखते हुए केंद्र राज्‍यों के साथ मिलकर पूरी तरह से मिशन मोड में है। हालांकि बढ़ते मामलों की वजह से लोगों के मन में भी दहशत व्‍याप्‍त है। मौजूदा समय में हालात पिछले वर्ष की ही तरह होते दिखाई दे रहे हैं। 

आपको बता दें कि सोमवार को भी मांडविया ने ऐसी ही एक बैठक पश्चिम राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ की थी। इसका मकसद कोरोना की तैयारियों की समीक्षा करना था। मांडविया ने इसकी जानकारी ट्विटर पर साझा करते हुए लिखा कि हमें एक साथ मिलकर holistic approach के साथ काम करना है और यह सुनिश्चित करना है कि हमारी तैयारी में कोई कमी ना रहे।

बढ़ते मामलों के मद्देनजर आज ही पीएम नरेंद्र मोदी भी स्थिति का जायजा लेने के लिए सभी राज्‍यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक करेंगे। ये बैठक दोपहर चार बजे वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए होगी। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्‍यों ने अपने स्‍तर पर कई तरह के प्रतिबंध लगाए हैं। इसमें तमिलनाडु में तो सरकार ने लाकडाउन तक लगा दिया है। वहीं दूसरी राज्‍यों ने कई चीजों के खुलने पर रोक लगा दी है। देश में एक बार फिर से महाराष्‍ट्र में सबसे अधिक कोरोना के मामले सामने आ रहे हैं। वहीं दूसरे नंबर पर राजस्‍थान है तो तीसरे नंबर पर दिल्‍ली है।

दिल्‍ली में लगे प्रतिबंधों की बात करें तो यहां पर साप्‍ताहिक बाजारों पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है। इसके अलावा बार और रेस्‍तरां पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। पहले इनमें 50 फीसद की छूट दी गई थी लेकिन अब केवल टेक अवे की सुविधा ही यहां से मिल सकेगी।