डेल्टा से ज्यादा संक्रामक है ओमिक्रान, वैक्सीनेशन का भी असर नहीं, जानिए मेदांता के डाक्टर ने और क्या कहा...

 

मेदांता के डाक्टर ने ओमिक्रान को डेल्टा से ज्यादा संक्रामक बताया। (फोटो-एएनआइ)

डाक्टर के अनुसार कोरोना के मामले तो बढ़ रहे हैं लोगों को गंभीर बीमारियां भी हो रही हैं लेकिन आईसीयू में भर्ती होने वालों की संख्या आक्सीजन की आवश्यकता और मृत्यु उतनी मनोवैज्ञानिक रूप से चुनौतीपूर्ण नहीं है जितनी पिछले साल अब तक दूसरी लहर में थी।

नई दिल्ली, एएनआइ। देशभर में कोरोना के मामलों में बेतहाशा इजाफा हो रहा है। सरकारों की तमाम कोशिशों के बावजूद कोरोना के मामले रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं। इस बीच मेदांता अस्पताल के सीनियर सर्जन डा अरविंद कुमार ने कहा है कि ओमिक्रान पर वैक्सीनेशन का असर नहीं दिख रहा है। डाक्टर के अनुसार कोरोना के मामले तो बढ़ रहे हैं, लोगों को गंभीर बीमारियां भी हो रही हैं, लेकिन आईसीयू में भर्ती होने वालों की संख्या, आक्सीजन की आवश्यकता और मृत्यु उतनी उन्मत्त और मनोवैज्ञानिक रूप से चुनौतीपूर्ण नहीं है, जितनी पिछले साल अब तक दूसरी लहर में थी।

डेल्टा की तुलना में अधिक संक्रामक, लेकिन खतरनाक नहीं

डा अरविंद कुमार ने कहा कि डेल्टा संस्करण में फेफड़ों को शामिल करने और ऑक्सीजन की समस्या पैदा करने की अधिक घटना थी। अब तक के डेटा से पता चलता है कि ओमिक्रान डेल्टा की तुलना में अधिक संक्रामक है, लेकिन इसकी तुलना में हल्का भी है। उन्होंने कहा कि ओमिक्रान पर वैक्सीनेशन भी फेल हो रही है।

आज रिकार्ड मामले आए सामने

बता दें कि देश में कोरोना संक्रमण तेजी से फैलता जा रहा है, इसी बीच आज रिकार्ड मामले सामने आए हैं। बीते 24 घंटे के अंदर कोरोना के लगभग ढाई लाख मामले दर्ज किए गए हैं। इस दौरान 84,825 मरीज ठीक भी हुए हैं। गौरतलब है कि कोरोना की तीसरी लहर में पहली बार कोरोना मामले दो लाख से ज्यादा दर्ज किए गए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार बीते 24 घंटे में कोरोना के कुल 2,47,417 नए मामले आए हैं। देश में अब एक्टिव मरीजों की संख्या भी बढ़कर 11,17,531 हो गई है।