पीएम मोदी ने किया CNCI के दूसरे कैंपस का उद्घाटन, बोले- वैक्सीनेशन में ऐतिहासिक मुकाम हासिल

 

पीएम मोदी ने सीएनसीआई के दूसरे परिसर का उद्घाटन किया

पीएम नरेंद्र मोदी शुक्रवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए कोलकाता स्थित चित्तरंजन राष्ट्रीय कैंसर संस्थान (सीएनसीआई) के दूसरे परिसर का उद्घाटन किया। बता दें कि सीएनसीआई के दूसरे परिसर का निर्माण 530 करोड़ रुपये की लागत से किया गया है।

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कोलकाता स्थित चित्तरंजन राष्ट्रीय कैंसर संस्थान (सीएनसीआई) के दूसरे परिसर का उद्घाटन किया। प्रधानमंत्री ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से चित्तरंजन राष्ट्रीय कैंसर संस्थान के दूसरे परिसर का उद्घाटन किया। कार्यक्रम में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी मौजूद थीं। इससे पहले, पीएमओ ने कहा कि प्रधानमंत्री के विजन के तहत दूसरे परिसर को देश के सभी हिस्सों में स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार और उन्नयन के लिए तैयार किया गया है।

इस दौरान मोदी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए संबोधित भी किया। मोदी ने कहा कि देश के हर नागरिक तक उत्तम स्वास्थ्य सुविधाएं पहुंचाने के राष्ट्रीय संकल्पों को मजबूत करते हुए आज हमने एक और कदम बढ़ाया है। चित्तरंजन नेशनल कैंसर इंस्टीट्यूट का ये दूसरा कैंपस पश्चिम बंगाल के अनेकों नागरिकों के लिए बड़ी सुविधा लेकर आया है। इससे विशेष रूप से गरीब और मध्यम वर्ग के परिवारों को बड़ी सुविधा मिलेगी जिनका कोई अपना कैंसर से मुकाबला कर रहा हो।

150 करोड़ वैक्सीन डोज लगाने का ऐतिहासिक मुकाम हासिल

पीएम मोदी ने आगे कहा कि आज ही देश ने एक और महत्वपूर्ण पड़ाव को पार किया है। साल की शुरुआत देश ने 15-18 साल की उम्र के बच्चों के टीकाकरण से की थी। आज साल के पहले महीने के पहले हफ्ते में भारत 150 करोड़ वैक्सीन डोज लगाने का ऐतिहासिक मुकाम भी हासिल कर रहा है। 150 करोड़ वैक्सीन डोज वो भी एक साल से कम समय में, ये आंकड़ों के हिसाब से बहुत बड़ी संख्या है। दुनिया के अधिकतर देशों के लिए ये आश्चर्य से कम नहीं। भारत के लिए ये नई इच्छा शक्ति का प्रतीक है, जो असंभव को संभव करने के लिए कुछ भी कर गुजरने का हौसला रखती है।

बंगाल को दी 11 करोड़ डोज

मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार की ओर से अब तक पश्चिम बंगाल को भी कोरोना वैक्सीन की करीब-करीब 11 करोड़ डोज मुफ्त मुहैया कराई जा चुकी है। पश्चिम बंगाल को डेढ़ हजार से अधिक वेंटिलेटर, 9 हजार से ज्यादा नए ऑक्सीजन सिलेंडर भी दिए गए हैं। 49 PSA नए ऑक्सीजन प्लांट्स ने भी काम करना शुरू कर दिया है।

530 करोड़ की लागत से हुआ तैयार

सीएनसीआई के दूसरे परिसर का निर्माण 530 करोड़ रुपये की लागत से किया गया है। केंद्र सरकार ने इसके लिए 400 करोड़ रुपये दिए हैं जबकि शेष राशि पश्चिम बंगाल सरकार ने खर्च की है।

इस नए परिसर में 460 बिस्तरों वाला व्यापक कैंसर यूनिट होगा, जो अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस होगा। इसमें कैंसर के डायग्नोसिस, स्टेजिंग, इलाज और देखभाल के लिए अत्याधुनिक इन्फ्रास्ट्रक्चर है। परिसर आधुनिक सुविधाओं जैसे न्यूक्लियर मेडिसिन (पीईटी), 3.0 टेस्ला एमआरआई, 128 स्लाइस सीटी स्कैनर, रेडियोन्यूक्लाइड थेरेपी यूनिट, एंडोस्कोपी, आधुनिक ब्रैकीथेरेपी यूनिट जैसी सुविधाओं से लैस हैं।यह कैंपस एक उन्नत कैंसर अनुसंधान सुविधा के रूप में भी काम करेगा और विशेष रूप से देश के पूर्वी और उत्तर-पूर्वी भागों के कैंसर रोगियों को सुविधा होगा।