सीबीएसई ने हाईस्कूल टर्म-1 के नतीजे किए घोषित, स्कूलों को भेजे थ्योरी के अंक

 

छात्रों को रिणाम जानने के लिए स्कूलों से संपर्क करना होगा।

सीबीएसई द्वारा दसवीं कक्षा की फर्स्ट टर्म एक की परीक्षा के नतीजे घोषित कर दिए गए हैं। परीक्षा के नतीते सीधे स्कूलों को भेजे गए हैं। इस बार बोर्ड की साइट पर परिणाम अपलोड नहीं किया गया है।

नई दिल्ली,संवाददाता। सीबीएसई बोर्ड ने हाईस्कूल टर्म-1 के नतीजे शनिवार को घोषित कर दिए हैं। बोर्ड द्वारा छात्र-छात्राओं के नतीजों की जानकारी वेबसाइट पर नहीं दी गई है। शिक्षा निदेशालय ने अंक सीधे स्कूलों को भेजे हैं। ऐसे में हाईस्कूल बोर्ड का एग्जाम देने वाले छात्रों को टर्म के परिणाम जानने के लिए स्कूलों से संपर्क करना होगा। शिक्षा निदेशालय के मुताबिक सभी छात्रों के थ्योरी के अंक स्कूलों को उपलब्ध करा दिए गए हैं।

वहीं, राजधानी के स्कूलों में नौवीं और 11वीं में पढ़ने वाले छात्रों के लिए शिक्षा निदेशालय ने अकादमिक सत्र 2020-21 की संशोधित क्रमोन्नति नीति को सत्र 2021-22 में भी लागू करने का निर्णय लिया है। हालांकि, इस नीति में कुछ बदलाव भी किए जाएंगे। शिक्षा निदेशालय ने इस संबंध में परिपत्र जारी करते हुए कहा कि सभी स्कूलों में अकादमिक सत्र 2021-22 में पढ़ रहे नौवीं और 11वीं के छात्रों का मूल्यांकन अर्धवार्षिक परीक्षा (टर्म -1) , वार्षिक परीक्षा (टर्म-2) और दोनों ही टर्म में आयोजित प्रोजेक्ट, प्रायोगिक परीक्षा और आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर किया जाएगा। निदेशालय ने पास होने के लिए न्यूनतम अंक 33 निर्धारित किए हैं।

इसके तहत छात्रों को मुख्य पांच विषय में कम से कम 33 अंक लाने होंगे। इसके साथ ही छात्रों को अतिरिक्त विषय में भी पास होना होगा। कोई छात्र अगर पास होने के लिए निर्धारित न्यूनतम अंक नहीं लाता है, तो उसे अधिकतम 15 अंक का ग्रेस भी दिया जाएगा। छात्र इसके बाद भी पास नहीं होता है और एक विषय या एक से अधिक विषय में 33 फीसद से कम अंक लाता है, तो उसे 31 मार्च के बाद आफलाइन माध्यम से होने वाली कंपार्टमेंट परीक्षा में शामिल होना होगा।