बिहार के 11 ला कालेजों में होंगी नियुक्तियां, बार काउंसिल से दोबारा मान्‍यता दिलाने की कोशिश शुरू

 

Bihar news: बिहार सरकार के शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी। फाइल फोटो

Law Education in Bihar बिहार के 1 विधि महाविद्यालयों में आधारभूत संरचना का विकास होगा रिक्‍त पदों पर बहाली के लिए सरकार ने मांगी रिपोर्ट शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने कहा- दोबारा मान्‍यता दिलाने की होगी कोशिश

राज्य ब्यूरो, पटना। बिहार के विधि महाविद्यालयों में शिक्षकों और कर्मचारियों की जल्द नियुक्ति होगी। इसी के आधार पर 11 विधि महाविद्यालयों में आधारभूत संरचना का विकास भी सुनिश्चित किया जाएगा, ताकि विधि के विद्यार्थियों की पढ़ाई सुनिश्चित हो सके। बुधवार को विधानसभा में शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने इसकी घोषणा की। उन्होंने कहा कि राज्य में कुल 28 विधि महाविद्यालय हैं। इसमें से 11 विधि महाविद्यालयों की मान्यता न्यायालय के आदेश पर बार काउंसिल आफ इंडिया ने समाप्त कर दी है, क्योंकि ऐसे कालेज बार काउंसिल आफ इंडिया के मानकों के अनुरुप संचालित नहीं हो रहे थे।

राज्‍य सरकार ने सभी कालेजों की रिपोर्ट मांगी 

मान्‍यता खत्‍म होने वाले महाविद्यालयों में शिक्षकों और आधारभूत संरचना की कमी पायी गई है। राज्य सरकार ने संबंधित महाविद्यालयों में आधारभूत संरचना की अद्यतन स्थिति पर रिपोर्ट मांगी है। जिसके आधार पर संबंधित कालेजों में इंफ्रास्ट्रक्चर का विकास जल्द किया जाएगा ताकि उन महाविद्यालयों को बार काउंसिल आफ इंडिया से दोबारा मान्यता बहाल करायी जा सके।

रोस्‍टर क्‍लीयर करते हुए मांगा नियुक्ति का प्रस्‍ताव

उन्होंने कहा कि विभाग की ओर से विश्वविद्यालयों से विधि महाविद्यालयों में रिक्तियों का रोस्टर क्लियर करते हुए नियुक्ति संबंधी प्रस्ताव मांगा गया है। सदन मेंं विधायके संजय सरावगी ने विधि महाविद्यालयों की ओर सरकार का ध्यान आकृष्ट कराया था।