दो साल बाद सभी अंतरराष्ट्रीय उड़ानें बहाल, 40 देशों की 60 एयरलाइनों को मिली 1,783 उड़ानों के संचालन की मंजूरी

 

सरकार ने अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को रविवार से बहाल कर दिया।

देश में रविवार को अंतरराष्ट्रीय उड़ानें बहाल कर दी गईं। बीते दो वर्षों से विभिन्न देशों के साथ एयर बबल समझौतों के तहत सीमित संख्या में इनका संचालन हो रहा था। 40 देशों की कुल 60 विदेशी एयरलाइनों को उड़ानों के संचालन को मंजूरी दी गई है।

नई दिल्ली, एएनआइ। कोविड महामारी की वजह से प्रतिबंधों का सामना कर रहीं अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को भारत ने रविवार से बहाल कर दिया। नागरिक उड्डयन महानिदेशालय ने इस संबंध में आदेश जारी किया। पिछले करीब दो साल से विभिन्न देशों के साथ एयर बबल समझौतों के तहत सीमित संख्या में अंतरराष्ट्रीय उड़ानों का संचालन किया जा रहा था। आदेश के मुताबिक, निर्धारित विदेशी एयर लाइनों ने अपने अंतरराष्ट्रीय कार्यक्रम को मंजूरी देने के लिए आवेदन किया।

1,783 उड़ानों को मंजूरी

2022 का ग्रीष्मकालीन कार्यक्रम 27 मार्च से 29 अक्टूबर तक प्रभावी है। ग्रीष्मकालीन कार्यक्रम, 2022 के दौरान मारीशस, मलेशिया, थाईलैंड, तुर्की, अमेरिका और इराक समेत 40 देशों की कुल 60 विदेशी एयरलाइनों को भारत आने और यहां से रवानगी के लिए 1,783 उड़ानों को मंजूरी प्रदान की गई है।

2020 में कर दी गई थीं सस्‍पेंड

कुछ एयरलाइनें भारत में अपनी उड़ानों का संचालन शुरू भी करने जा रही हैं, इनमें इंडिया सलाम एयर, एयर अरेबिया अबु धाबी और अमेरिकन एयरलाइन शामिल हैं। भारतीय एयरलाइन इंडिगो ने कहा कि वह आगामी माह के दौरान चरणबद्ध तरीके से 150 से अधिक मार्गों पर निर्धारित अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को बहाल करेगी। याद दिला दें कि भारत ने कोविड महामारी की वजह से मार्च, 2020 में अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को निलंबित कर दिया था।

सिंधिया ने किया स्वागत

नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने खुशी जताते हुए कहा, 'भारत फिर दुनिया से जुड़ रहा है क्योंकि सभी अंतरराष्ट्रीय उड़ानें आज से बहाल हो गईं। राष्ट्रीय उड़ानें देश में 18 अक्टूबर से पूरी क्षमता से शुरू हो गई थीं। अब अंतरराष्ट्रीय उड़ानें पूरी क्षमता से शुरू कर दी गई हैं। मैं हमारे यात्रियों के अच्छे स्वास्थ्य की कामना करता हूं।'

संसदीय समिति ने दिए कई सुझाव

नागरिक उड्डयन पर संसदीय स्थायी समिति के चेयरमैन टीजी वेंकटेश ने इस कदम का स्वागत करते हुए कहा, 'अंतरराष्ट्रीय यात्रियों और सरकार के लिए यह अच्छी खबर है कि दुनियाभर के लिए आज से उड़ानें शुरू हो गई हैं। भारत सरकार का यह कदम स्वागत योग्य है। मैं उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया को बधाई देता हूं जिन्होंने सही फैसला लिया और भारतीय उड्डयन क्षेत्र और प्रधानमंत्री के सपने को पूरा किया।'

यात्रियों की सुरक्षा से ना करें समझौता

उन्होंने बताया कि उनकी अध्यक्षता वाली समिति ने नियमित अंतरराष्ट्रीय उड़ान सेवाएं शुरू करने से पहले कई चीजें करने का सुझाव दिया है। समिति ने सभी पक्षों को सलाह दी है कि चालक दल सदस्यों समेत यात्रियों की सुरक्षा से कोई समझौता न करें, विमान के अंदर और हवाई अड्डों पर एचईपीए फिल्टर लगाए जाएं, सभी अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की सूची राज्य सरकारों के साथ साझा की जाए और उनके स्वास्थ्य की स्थिति पर नजर रखी जाए।

काल से पहले का कोविड अनाउंसमेंट खत्म करने पर विचार

समाचार एजेंसी पीटीआइ की रिपोर्ट के मुताबिक महामारी की शुरुआत में टेलीकाम आपरेटरों द्वारा किसी भी काल से पहले सेट किया गया कोविड जागरूकता अनाउंसमेंट (घोषणा) जल्द ही खत्म हो सकता है।

टेली कम्युनिकेशन विभाग ने अपील की

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि टेली कम्युनिकेशन विभाग ने इसे खत्म करने के लिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को पत्र लिखकर आग्रह किया है। इसमें सेल्युलर आपरेटर्स एसोसिएशन आफ इंडिया (सीओए) और मोबाइल उपभोक्ताओं से मिले ज्ञापन का हवाला दिया गया है। इनमें कहा गया है कि जागरूकता बढ़ाने वाले अनाउंसमेंट का उद्देश्य पूरा हो चुका है और इसकी वजह से आपात स्थिति के दौरान अहम काल में विलंब होता है।