शपथ समारोह के गवाह बनेंगे 400 पटरी दुकानदार, सम्मानपूर्वक दुकान लगाने की अनुमत‍ि

 

पटरी दुकानदारों को अपना रोजगार चलाने की छूट मिलेगी, वह भी शपथ समारोह स्थल इकाना स्टेडियम में।

Yogi Adityanath Oath Ceremony 2022 प्रधानमंत्री स्वनिधि ऋण योजना का लाभ पाने वाले चार सौ पटरी दुकानदारों को लखनऊ नगर निगम स्टेडियम के पास दुकान लगाने की जगह देगा। यह पहला मौका है जब किसी शपथ समारोह में पटरी दुकानदारों को ऐसा सम्मान मिलेगा।

लखनऊ। वीआईपी कार्यक्रम होते ही पटरी दुकानदारों पर आफत आ जाती थी। उन्हें हटाया जाता था और उनका सामान तक जब्त कर लिया जाता था। आंखों में आंसू लिए पटरी दुकानदार सरकारी व्यवस्था को कोसते थे लेकिन इस बार बदला हुआ माहौल है।

शायद यह पहला मौका भी है, जब किसी शपथ समारोह में पटरी दुकानदारों को भी सम्मान मिल रहा है। उन्हें भी अपना रोजगार चलाने की छूट मिलेगी, वह भी शपथ समारोह स्थल इकाना स्टेडियम में। प्रधानमंत्री स्वनिधि ऋण योजना का लाभ पाए पटरी दुकानदारों में से चार सौ को नगर निगम स्टेडियम के पास दुकान लगाने की जगह देगा। इसका एक लाभ यह होगा कि शपथ समारोह में भाग लेने आ रहे लोगों को खाने पीने के लिए भटकना नहीं पड़ेगा और कम दाम में वे जायकेदार व्यंजन का आनंद ले सकेंगे।

हर जोन से पचास पटरी दुकानदार : नगर निगम ने हर जोन से पचास पटरी दुकानदारों की सूची मांगी है। कुल आठ होने से यह संख्या चार सौ होगी। चयनित पटरी दुकानदार के पास पहचान पत्र, वेंडिंग जोन का प्रमाण पत्र और प्रधानमंत्री स्वनिधि ऋण योजना से लाभांवित होना चाहिए।

भेलपुरी से लेकर इडली भी मिलेंगी : चाट, मटर खस्ता, पूड़ी सब्जी, छोला भठूरा, चाऊमिन, वेज कबाब पराठा, पानी बतासा, आइसक्रीम समेत सभी तक तरह के शाकाहारी व्यंजन की दुकानें यहां सजेंगी। गर्मी होती तो पानी के लिए भटकना नहीं पड़ेगा और बोतल बंद पानी भी बिक रहा होगा। समारोह में भीड़ जुटेगी तो दुकानदारी भी खूब होने की संभावना जताई जा रही है।

यह बड़ा सम्मान है : कोरोना काल में संकट के दौर से गुजर रहे पटरी दुकानदार विजय बहादुर कहते हैं प्रधानमंत्री स्वनिधि ऋण योजना ने उन जैसे तमाम पटरी दुकानदारों की जिंदगी को पटरी पर ला दिया है। दस लाख का लोन मिला था और उसे अदा करने के बाद बीस हजार का लोन मिल गया। खास बात यह रही कि डिजिटल पेमेंट को बढ़ाना देने से उसे अदायगी में छूट भी मिल गई थी।

वह कहते हैं कि अभी तक वीआईपी कार्यक्रम होने पर उन जैसे पटरी दुकानदारों पर आफत आ जाती थी। उन्हें दो दिन पहले से ही हटा दिया जाता था, लेकिन इस बार शपथ समारोह स्थल पर दुकानों को लगाने के लिए पटरी दुकानदारों को खुद नगर निगम ने बुलाया है और यह पटरी दुकानदारों के लिए बड़ा सम्मान है।

' नगर निगम के हर जोन से पचास-पचास पटरी दुकानदारों को शपथ समारोह स्थल के पास दुकानें लगाने की अनुमति दी गई है। ये वे दुकानदार हैं, जो प्रधानमंत्री स्वनिधि ऋण योजना से लाभांवित हैं। - अजय कुमार द्विवेदी, नगर आयुक्त