मप्र के रायसेन में बच्‍चों के मामूली विवाद पर दो पक्षों में हिंसक झड़प, दो की मौत 50 घायल

 

बच्चों के बीच हुए मामूली विवाद में दोनों पक्षों के बीच हिंसक झड़प हो गई

जिला रायसेन में शुक्रवार देर रात बच्चों के बीच हुए मामूली विवाद ने हिंसक झड़प का रूप ले लिया। इसमें दो लोगों की मौत हो गई और 50 लोग घायल हो गए। पुलिस ने दोनों पक्षों के लोगों के खिलाफ मामला दर्ज करते हुए 20 को हिरासत में लिया है।

रायसेन। मध्‍य प्रदेश के रायसेन जिला मुख्यालय से लगभग सौ किलोमीटर दूर प्रतापगढ़ जैठारी के समीप ग्राम खमरिया पौड़ी में शुक्रवार देर रात बच्चों के बीच हुए मामूली विवाद ने दोनों पक्षों के बीच हिंसक संघर्ष का रूप ले लिया।  विवाद इतना बढ़ गया कि दोनों पक्षों के लोगों ने एक दूसरे को लाठी और कुल्हाड़ी से मारना शुरू कर दिया। इसी बीच कुछ लोगों ने दुकानों और मोटरसाइकिलों में आग लगा दी। पुरुषों, बच्चों और महिलाओं के बीच काफी देर तक हिंसक झड़पें होती रहीं। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने घायलों को एंबुलेंस से सरकारी अस्पताल पहुंचाया। पुलिस बल के गांव पहुंचने के बाद ग्रामीणों के बीच झड़प बंद हो गई।एहतियात के तौर पर शनिवार सुबह गांव में चार थानों की पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। कलेक्टर अरविंद कुमार दुबे, एसपी विकास कुमार शाहवाल, एएसपी अमृत मीणा समेत कई पुलिस व प्रशासन के अधिकारी गांव में मौजूद हैं। पुलिस ने दोनों पक्षों के लोगों के खिलाफ मामला दर्ज करते हुए 20 लोगों को हिरासत में लिया है। पुलिस अधीक्षक शाहवाल ने बताया कि स्थिति नियंत्रण में है। सभी घायलों का इलाज सिलवानी के सरकारी अस्पताल में चल रहा है। अस्पताल में गांव के अलावा पुलिस बल भी तैनात है। अस्पताल में इलाज के दौरान दो लोगों की मौत की भी खबर है।

पुलिस होली मिलन समारोह रद

पुलिस अधीक्षक के आवास पर शनिवार को होली मिलन समारोह का आयोजन किया जाना था। लेकिन ग्रामीण क्षेत्र में अशांति के चलते पुलिस का होली कार्यक्रम रद कर दिया गया है। 

प्रतापगढ़ आदिवासी बहुल इलाका है

सिलवानी तहसील का प्रतापगढ़ जैथरी क्षेत्र आदिवासी बहुल है। यहां प्राचीन काल में गोंड का शासन था।

विधायकों ने लगाया मेला

पिछले तीन दशकों से हर साल क्षेत्रीय विधायक रामपाल सिंह दीपावली दूज पर आदिवासी मेले का आयोजन करते हैं। यहां लगभग 15 आदिवासी गांवों के लोग एकत्र होते हैं। विधायक सिंह धायक सिंह ने कलेक्टर और एसपी से फोन पर बात करते हुए शांति व्यवस्था के लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम करने और दंगाइयों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।