...मैं गैंगस्टर नीरज बवाना बोल रहा हूं, 50 लाख रुपये दो वरना अंजाम बुरा होगा; बिजनेसमैन से मांगी रंगदारी

 

कुख्यात गैंगस्टर के नाम पर मांगी व्यवसायी से रंगदारी

फर्नीचर व्यवसायी से कुख्यात गैंगस्टर नीरज बवाना के नाम 50 लाख रुपये की रंगदारी मांगने के आरोपित को क्राइम ब्रांच की डीएलएफ फेज-चार टीम ने सोमवार दोपहर अदालत में पेश कर पूछताछ के लिए दो दिन की रिमांड पर लिया है।

 गुरुग्राम । शहर के एक फर्नीचर व्यवसायी से कुख्यात गैंगस्टर नीरज बवाना के नाम 50 लाख रुपये की रंगदारी मांगने के आरोपित को क्राइम ब्रांच की डीएलएफ फेज-चार टीम ने सोमवार दोपहर अदालत में पेश कर पूछताछ के लिए दो दिन की रिमांड पर लिया है। आरोपित फरीदाबाद जिले के गांव फज्जुपुर नीमका निवासी दीपक उर्फ मीठी को रविवार शाम कादरपुर चौक के नजदीक से गिरफ्तार किया गया है। शनिवार शाम वाट्सएप काल करके आरोपित दीपक ने 50 लाख रुपये की रंगदारी मांगी थी। कहा था कि यदि दो दिन के भीतर पैसे नहीं दिए तो अंजाम भुगतना होगा। शिकायत सामने आते ही सुशांत लोक थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर छानबीन शुरू की।

इसमें क्राइम ब्रांच की डीएलएफ फेज-चार की टीम को भी लगाया गया। कुछ ही घंटों के भीतर आरोपित को गिरफ्तार कर लिया गया।

सहायक पुलिस आयुक्त (क्राइम) प्रीतपाल ने बताया कि आरोपित के खिलाफ पहले भी हत्या का प्रयास करने, मारपीट करने, छीनाझपटी करने और न्यायालय में झूठे साक्ष्य पेश करने के मामले दर्ज हैं। यह फरवरी 2022 में जेल से बाहर आया था। जेल से आते ही अपने साथियों के साथ रंगदारी मांगने की साजिश रची। उसके कब्जे से एक पिस्टल और मारुति वैगनार कार की भी बरामदगी की गई।

आरोपित दीपक के एक दोस्त का दोस्त शिकायतकर्ता के पास पहले नौकरी करता था। वह जनता था कि शिकायतकर्ता पैसे वाला है। ड्राइवर ने अपने दोस्त को और उसने आगे दीपक को शिकायतकर्ता के बारे में जानकारी दी थी। फिर रंगदारी मांगने की साजिश रची। उसने व्यवसायी को एक अंजान व्यक्ति के मोबाइल से वाट्सएप पर धमकी दी थी ताकि पहचान न हो सके। जल्द ही उसके अन्य साथियों को गिरफ्तार किया जाएगा।