: अंबेडकरनगर में पोलिंग बूथों पर उमड़ी भीड़, तीन बजे तक 52 फीसद से ज्यादा मतदान

 

बलरामपुर अम्बेडकरनगर यूपी चुनाव 2022 चरण 6 मतदान लाइव अपडेट।

UP Election 2022 Phase 6 live updates in Hindi बलरामपुर की चार और अंबेडकरनगर की पांच विधानसभाओं पर वोटिंग जारी है। अंबेडकरनगर में जमकर मतदान हो रहा है। यहां दोपहर एक बजे तक 52.40 फीसद मतदाता वोट कर चुके हैं तो बलरामपुर में 42.67 फीसद वोट पड़े हैं।

लखनऊ। विधानसभा चुनाव के छठें चरण के महासमर के तहत बलरामपुर जिले की चारों विधानसभा सीटों पर मतदान की प्रक्रिया शांतिपूर्वक तरीके से चल रही है। यहां 16 लाख 12 हजार 644 अधिक मतदाता 49 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला करेंगे। वहीं, अंबेडकरनगर में (पांच विधानसभा क्षेत्रों कटेहरी, टांडा, आलापुर, जलालपुर एवं अकबरपुर में मतदान चल रहा है। यहां पंजीकृत 18 लाख 1444 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। नौ लाख 44 हजार 701 पुरुषों के अलावा आठ लाख 56 हजार 690 महिलाएं और 53 थर्ड जेंडर मतदाता हैं। सर्विस मतदाताओं में 2102 पुरुष और 85 महिला मतदाता हैं। पोस्टल बैलेट पेपर पर 6719 सरकारी कर्मचारी, बुजुर्ग व दिव्यांग मतदाताओं ने पहले ही मतदान कर दिया है। साल 2017 विधानसभा चुनाव में बलरामपुर में सिर्फ 51.28 फीसद मतदान हुआ था। वहीं, अंबेडकरनगर में पिछले विधानसभा चुनाव में 64.05 फीसद लोगों ने मताधिकार का प्रयोग किया था। इसी बीच, अंबेडकरनगर की जलालपुर विधानसभा से बसपा प्रत्याशी राजेश सिंह पर वोट देने की धमकी का आरोप लगा है।

UP Election 2022 Phase 6 Voting Live Update

बलरामपुर में आठ घंटे में 42.67 फीसद मतदान: ज़िले के चारों विधानसभा क्षेत्रों में धूप चढ़ने के साथ मतदान की रफ्तार कम हो गई। कई मतदान केंद्रों पर दिव्यांग व वृद्ध वोटरों में उत्साह देखने को मिला। पहली बार मतदान करने वाले युवा भी उत्साह से लबरेज रहे। दोपहर तीन बजे तक चारों विधानसभा में 42.69 प्रतिशत मतदान हुआ है। बलरामपुर विधानसभा में 42.08, तुलसीपुर 44.62, गैंसडी में 45.04 व उतरौला में 39.02 फ़ीसदी वोटरों ने अपने मत का प्रयोग अब तक किया है।

दोपहर एक बजे तक बलरामपुर में 29.89 फीसद मतदान: जिले में मतदान प्रतिशत में कोई बढ़ोत्तरी नहीं हुई है। चुनाव आयोग द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, यहां दोपहर एक बजे तक सिर्फ 29.89 फीसद मतदान हुआ है। हालांकि, पहली बार मतदान करने पहुंचे युवाओं में जबर्दस्त उत्साह देखा गया।  

बलरामपुर में पहले चार घंटे में वोटरों की चाल सुस्त: बलरामपुर में पहले चार घंटे में मतदान की रफ्तार काफी कम है। जहां सुबह सात से नौ बजे तक 8.13 फीसद लोगों ने मतदान किया था वहीं, 11 बजे तक 18.98 फीसद लोगों ने वोट डाला है। तुलसीपुर विधानसभा के गंगाबक्श भागड़ बूथ पर मतदान करने के लिए मतदाता नाव से पहुंचे। बलरामपुर विधानसभा क्षेत्र के कंपोजिट विद्यालय शेखरपुर बूथ संख्या 77 व 79 पर अधिकांश मतदाताओं का नाम सूची में न होने से सन्नाटा पसरा रहा। सुबह 11 बजे तक चारों विधानसभा में आठ प्रतिशत मतदान हुआ है। बलरामपुर विधानसभा में 20.24, तुलसीपुर 22.88, गैंसडी में 24.21 व उतरौला में 20.12 फ़ीसदी वोटरों ने अपने मत का प्रयोग अबतक किया है। 

बलरामपुर में सुबह नौ बजे तक 8.13 फीसद मतदान: जिले के चारों विधानसभा क्षेत्रों में सुबह सात बजे से ही मतदान शुरू हो गया। कुछ मतदान केंद्रों पर ईवीएम व वीवीपैट में ख़राबी के कारण मतदान शुरू होने में थोड़ा विलंब जरूर हुआ। तुलसीपुर विधानसभा के प्राथमिक विद्यालय रमययीडी ‌ बूथ संख्या 436 ईवीएम मशीन खराब होने के कारण एक घंटा 40 मिनट के बाद मतदान शुरू हो सका। गैसड़ी के बूथ संख्या 83 पर वीवीपैट में तकनीकी खराबी के कारण पीठासीन अधिकारी दिनेश प्रताप मिश्र ने बताया कि बीबीपेट में तकनीकी खराबी के कारण इंजीनियर के आने पर 30 मिनट विलंब से मतदान शुरू कराया गया। राथमिक विद्यालय बदलपुर में ईवीएम खराब होने से 1 घंटा 25 मिनट के देरी से मतदान शुरू हुआ। मतदान केंद्रों पर वोटरों की लंबी क़तार सुबह से लगी हुई है। सुबह नौ बजे तक चारों विधानसभा में कुल 8.13 प्रतिशत मतदान हुआ है। सुबह नौ बजे तक बलरामपुर विधानसभा में 8.5, तुलसीपुर 8.1, गैंसडी में 8.4 व उतरौला में 8.7 फ़ीसदी वोटरों ने अपने मत का प्रयोग किया है। वहीं, गैंसड़ी विधानसभा महादेव बूथ पर राम तीरथ ने कहा कि उद्दा न मुद्दा हमारे मन का काम करा वाले का वोट दिहन है। क़तार में लगे तफ्फजुल ने कहा सड़क, शिक्षा, बिजली व पानी जैसे मुद्दों पर मतदान करेंगें। पिछले विधानसभा चुनाव में भी यहां मतदान प्रतिशत कम रहा था, हालांकि इस बार बूथों पर सुबह से भीड़ दिख रही है। 

बलरामपुर में महंत महेंद्रदास को वोट डालने से रोका: बलरामपुर सदर सुरक्षित सीट के मतदान केंद्र एमपीपी इंटर कालेज बूथ पर हनुमानगढ़ी मंदिर महंत महेंद्रदास को मतदान करने से रोका गया। दरअसल, महंत के पास पर्ची न होने की वजह से उन्हें वोटिंग करने से रोका गया। इस संबंध में महंत ने बताया कि बीएलओ ने उनके यहां पर्ची नहीं पहुंचायी है। हालांकि, उन्होंने मोबाइल पर मैसेज आने के बात कही, लेकिन संबंधित कार्मिक तैयार नहीं हुआ। फिर अधिकारियों के हस्तक्षेप के बाद महंत ने वोट डाला। महंत महेंद्रदास ने बताया कि राष्ट्ररक्षा के लिए मतदान किया है। देशहित सबसे ऊपर है। 

बलरामपुर : ज़िले के चार विधानसभा क्षेत्रों गैंसडी, तुलसीपुर, बलरामपुर सुरक्षित व उतरौला के 1857 बूथों पर माकपोल के साथ मतदान शुरू हो गया। वहीं, गैंसड़ी के मतदान केन्द्र के बूथ संख्या 14 और 15 महादेव शिवपुर में सुबह सात बजे से ही लोगों की लंबी कतारे लगी हैं। जिले की चारों विधानसभा से 49 प्रत्याशियों की क़िस्मत का फ़ैसला 1612644 मतदाता करेंगे। शांतिपूर्ण मतदान संपन्न कराने के लिए बूथों पर पैरामिलिट्री तैनात की गई है। भारत नेपाल सीमा सील कर दी गई है। जो चार मार्च को सुबह 10 बजे खुलेगी। तुलसीपुर विधानसभा सभा क्षेत्र के बूथ संख्या 311 बदलपुर की ईवीएम ख़राब होने की सूचना पर उसे बदलने की प्रक्रिया की जा रही है। मतदाताओं में वोटिंग को लेकर उत्साह दिख रहा है। महराजगंज तराई बूथ पर मतदान के लिए वोटरों की क़तार लगने लगी है। मतदान केंद्र को सजाया गया है। 

jagran

मतदाताओं को लुभाएंगे चार पि‍ंक बूथ : जिले में मतदान के प्रति लोगों को प्रेरित करने के लिए चारों विधानसभाओं में एक-एक पि‍ंक बूथ भी बनाए गए हैं। इन बूथों पर 1974 महिला वोटर मतदान करेंगी। बलरामपुर सुरक्षित विधानसभा क्षेत्र में एमडीके इंटर कालेज में बूथ संख्या 144 को पि‍ंक बूथ बनाया गया है। यहां 596 महिला वोटर हैं। तुलसीपुर में कस्तूरबा आर्य बालिका इंटर कालेज में बूथ संख्या 388 पर 442 महिला मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगी। गैंसड़ी में प्राथमिक विद्यालय पचपेड़वा बूथ संख्या 295 पर 524 महिला मतदाता व उतरौला के भारतीय विद्यालय इंटर कालेज बूथ संख्या 79 पर 412 महिला वोटर मतदान करेंगी। जिला निर्वाचन अधिकारी डीएम श्रुति ने बताया कि पि‍ंक बूथों को गुब्बारों से सजाया गया है। यहां तैनात सभी कर्मचारी महिला होंगी। कुर्सी के साथ जलपान की भी सुविधा रहेगी।

विधानसभा में बूथ व मतदाताओं की स्थिति :

  • विधानसभा - बूथ - मतदाता
  • बलरामपुर सुरक्षित 481 - 427895
  • तुलसीपुर 455 - 383921
  • गैंसड़ी 434 - 365578
  • उतरौला 487 - 435250

अंबेडकरनगर में बंपर वोटिंग जारी, जलालपुर और अकबरपुर में 54 फीसद मतदान: पिछले विधानसभा चुनाव में जिले में कुल 64 फीसद से अधिक मतदान हुआ था, लेकिन इस बार यहां के मतदाताओं नया कीर्तिमान बनाने की ओर कदम बढ़ा दिए हैं। दोपहर तीन बजे तक कुल 52.67 फीसद मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर चुके हैं। जिले में जलालपुर और अकबरपुर 54 फीसद मतदान के साथ शीर्ष पर है। पोलिंग बूथों पर अभी भी लोगों की कतार नजर आ रही है। 

अंबेडकरनगर में 40 फीसद से अधिक मतदान, अकबरपुर अव्वल: अंबेडकरनगर में दोपहर एक बजे तक जमकर वोटिंग हुई। अकबरपुर विधानसभा में सबसे ज्यादा 46 फीसद वोट पड़े। वहीं, टांडा में 42 तो आलापुर में 40 फीसद लोगों ने वोट किया। कटेहरी 38 फीसद के साथ चौथे और जलालपुर 37 फीसद मतदान के साथ जिले में पांचवें नंबर रहा। 

अंबेडकरनगर में सुबह 11 बजे तक 23.10 फीसद वोटिंग, जलालपुर शीर्ष पर: जिले में सुबह से ही मतदान प्रतिशत में तेजी से इजाफा हो रहा है। पहले दो घंटे में जहां करीब दस फीसद लोगों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया था वहीं 11 बजे तक कुल 23.10 फीसद मतदान हो चुका है। जलालपुर विधानसभा में सबसे ज्यादा 24.5 फीसद लोग वोट डाल चुके हैं। 24 फीसद के साथ दूसरे नंबर अकबरपुर विधानसभा है। जिले के लगभग सभी बूथों पर वोटरों की लंबी कतार अभी भी लगी हुई है। इसको देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि अंबेडकरनगर इस बार भी वोटिंग में कीर्तिमान बनाएगा। 

जलालपुर से बसपा प्रत्याशी राजेश सिंह पर धमकी देने का आरोप: जलालपुर विधानसभा क्षेत्र से बसपा प्रत्याशी राजेश सिंह पर वोट नहीं देने पर जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगा है। यहां के कन्नूपुर गांव के विजय सिंह ने गुरुवार को पुलिस अधीक्षक और थानाध्यक्ष जलालपुर को दिए प्रार्थना पत्र में बताया कि प्रत्याशी राजेश सिंह के समर्थक उन पर बसपा के पक्ष में मतदान करने का दबाव बना रहे थे। उन्होंने इसका विरोध किया तो उनकी मोबाइल तोड़ने की धमकी दी गई। इसके बाद राजेश सिंह ने शाम छह बजे के बाद उनके घर पहुंचकर देख लेने की बात कही। कोतवाल दीपक सिंह रघुवंशी ने बताया कि वोट देने को लेकर प्रत्याशी और विजय सिंह में कहासुनी हुई है। जांच की जा रही है। अभी तहरीर नहीं मिली है।

अंबेडकरनगर में सुबह नौ बजे तक 9.46 फीसद मतदान: अंबेडकरनगर में लगभग सभी विधानसभाओं के पोलिंग बूथों पर सुबह सात बजे से लंबी कतारें नजर आ रही हैं। इसी का नतीजा है कि सुबह नौ बजे तक यानी दो घंटे की पोलिंग में 9.46 फीसद लोगों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया है। पिछले विधानसभा चुनाव में भी जिले में 64.05 फीसद मतदाताओं ने वोट किया था। हालांकि, सुबह 7:00 बजे मतदान शुरू होने के बाद तकनीकी खराबी आने से 18 बूथों पर वीवीपैट बदलना पड़ा। इसके अलावा तो कंट्रोल यूनिट तथा दो बैलट यूनिट को भी बदला गया है। विधानसभा क्षेत्र कटेहरी में चार वीवीपैट और एक एक कंट्रोल और बैलेट यूनिट के अलावा विधानसभा क्षेत्र अकबरपुर में एक-एक कंट्रोल यूनिट, बैलेट यूनिट और वीवीपैट तथा जलालपुर विधानसभा क्षेत्र में सात बूथों पर वीवीपैट बदला गया है।

अंबेडकरनगर में पांचों विधानसभा क्षेत्रों में मतदान शुरू, सुरक्षा के पुख्ता इंतजामविधानसभा चुनाव के छठवें चरण में गुरुवार सुबह सात बजे से जिले की पांचों विधानसभा क्षेत्रों में कटेहरी, टांडा, आलापुर, जलालपुर एवं अकबरपुर में मतदान शुरू हो गया है। लोगों में अपना प्रतिनिधि चुनने को लेकर उत्साह है। घरों से निकलकर मतदाता बूथों पर पहुंच रहे हैं। पहली बार वोट देने निकले युवाओं में खासा उत्साह है। पूरे जिले में कुल 18 लाख 1444 मतदाता हैं। इनमें नौ लाख 44 हजार 701 पुरुषों के अलावा आठ लाख 56 हजार 690 महिलाएं और 53 थर्ड जेंडर मतदाता हैं। पांचों सीटों के 2075 बूथों पर कुल 8300 मतदान कार्मिकों की ड्यूटी लगाई गई है। इसके अलावा 832 मतदान कार्मिकों को आरक्षित श्रेणी में रखा गया है। उन्हें संबंधित तहसीलाें में बैठाया गया है। जरूरत पड़ने पर यहीं से उन्हें संबंधित बूथों पर भेजने की व्यवस्था की गई है।

jagran

77 वर्षीय बुजुर्ग ने डाला वोट: जिले की 77 वर्षीय बुजुर्ग महिला कलावती मिश्रीलाल ने आर्य कन्या इंटर कालेज मतदान केंद्र पर वोट डाला। कलावती को दो स्कूली बच्चों ने सहारा देकर मतदान केंद्र तक पहुंचाया। 

मतदान केंद्रों व बूथों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम: विधानसभा चुनाव को निर्विघ्न, पारदर्शी एवं निष्पक्ष रूप से संपन्न कराने के लिए निगरानी व सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। पांचों विधानसभा क्षेत्रों को 38 जोन एवं 155 सेक्टर में बांटकर मजिस्ट्रेट तैनात किए गए हैं। पुलिस प्रेक्षक, पांचों विधानसभा क्षेत्रों के सामान्य प्रेक्षक, जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक समेत प्रशासन और पुलिस के नामित अधिकारी मतदान प्रक्रिया की निगरानी कर रहे हैं। सुरक्षा में अर्द्धसैनिक बल की 45 कंपनी, पीएसी की एक कंपनी और दो प्लाटून, आरपीएफ की तीन कंपनी और 21 कंपनी गैर प्रांतीय पुलिस बल व सिविल पुलिस के विभिन्न जिलों से सुरक्षा बलों के साथ आए 671 निरीक्षक व उपनिरीक्षक, 4973 आरक्षी, मुख्य आरक्षी एवं 3964 होमगार्ड की ड्यूटी लगी है। मतदान केंद्र से 200 मीटर की परिधि में शस्त्र और मोबाइल फोन लाने पर प्रतिबंध लगाया गया है।

यहां खास निगरानी : पांचों विधानसभा क्षेत्रों में अति संवेदनशील 61 और संवेदनशील 252 मतदाता केंद्र पर अति संवेदनशील 121 मुहल्ले और गांव तथा 488 लोगों को चिन्हित किया गया है। इन पर खास निगरानी की जा रही है। विशेष निगरानी के लिए 331 बूथों पर डिजिटल कैमरे और 499 बूथों पर माइक्रो आब्जर्वर लगाए गए हैं।

तहसीलों पर आरक्षित कर्मी: पांच विधानसभा क्षेत्र के 2075 बूथों पर कुल 8300 मतदान कार्मिकों को भेजने के अलावा 832 मतदान कार्मिकों को आरक्षित श्रेणी में रखा गया है। आरक्षित कार्मिकों को संबंधित तहसीलों में बैठाया गया है। जरूरत पड़ने पर यहीं से उन्हें संबंधित बूथ पर भेजा जा सकेगा। 

हाथों-हाथ मिला मानदेय: सेक्टर मजिस्ट्रेट के जरिए मतदान कार्मिकों को बूथ पर पहुंचने के बाद हाथों-हाथ उनके मानदेय का नगद भुगतान भी जिला निर्वाचन कार्यालय ने कर दिया। कार्मिकों को भोजन आदि की दिक्कत न आए, इसके लिए भत्ता दिया गया। बूथों पर कार्मिकों का भोजन व नाश्ता बनाने के लिए रसोइया को लगाया गया है। मतदान कार्मिक किसी प्रत्याशी और ग्रामीण पर भोजन आदि को लेकर निर्भर नहीं होंगे।