भाजपा के टॉप-5 ऐसे विधायक जो सबसे ज्यादा वोटों से जीते पर योगी कैबिनेट में नहीं मिली जगह

 

भाजपा के पार्टी हाईकमान ने अपने टॉप-5 विधायकों को योगी कैबिनेट में जगह नहीं दी

Yogi Adityanath 2.0 Oath Ceremony 2022 यूपी विधानसभा चुनाव में रिकॉर्ड मतों से जीत दर्ज करने वाले भारतीय जनता पार्टी के टॉप फाइव विधायकों सुनील शर्मा पंकज सिंह अमित अग्रवाल पुरुषोत्‍तम खंडेलवाल और तेजपाल सिंह नागर को योगी कैबिनेट में जगह नहीं मिली।

लखनऊ: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में प्रचंड बहुमत हासिल करने वाली भारतीय जनता पार्टी ने मंत्रिमंडल में कई ऐसे नामों को बाहर कर चौंकाया है, जिनका मंत्री बनना तय माना जा रहा था। साथ ही कुछ ऐसे नाम भी रहे जिन्होंने बाहर का रास्ता दिखा दिया गया।

खासकर सुनील शर्मा, पंकज सिंह, तेजपाल सिंह नागर, अमित अग्रवाल और पुरुषोत्‍तम खंडेलवाल ये ऐसे नाम हैं, जिन्होंने भाजपा के टिकट पर सबसे ज्यादा अंतर से जीत दर्ज करने का रिकॉर्ड बनाया है। लेकिन, पार्टी हाईकमान ने इन विधायकों को योगी कैबिनेट में जगह नहीं दी।  यूपी कैबिनेट के कुल 52 मंत्रियों ने शपथ ली। राजनीति के गलियारों में इस बात की चर्चा है कि रिकॉर्ड वोटों से जीतने के बाद भी इन विधायकों को आखिर मंत्री क्यों नहीं बनाया गया।

बता दें कि 37 साल बाद उत्तर प्रदेश में किसी मुख्यमंत्री की अगुआई में लगातार दूसरी बार सरकार ने वापसी की है। यूपी कैबिनेट में जातीय और क्षेत्रीय संतुलन खूब साधा गया, लेकिन चुनाव में रिकॉर्ड मार्जिन से जीत दर्ज करने वाले टॉप-5 विधायकों को मंत्रिमंडल में नहीं शामिल किया गया। 

1. सुनील शर्मा : साहिबाबाद सीट से सुनील कुमार शर्मा ने तो सारे रेकॉर्ड ही तोड़ दिए। उन्होंने प्रदेश में सबसे बड़ी जीत दर्ज की। वह 2,14,835 वोटों के अंतर से विजयी हुए। बीजेपी के सुनील कुमार शर्मा को कुल 3,22,882 वोट मिले। वहीं, समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार अमरपाल शर्मा ने कुल 1,08,047 वोट हासिल किये। हालांकि, साहिबाबाद मतदाताओं के लिहाज से सबसे बड़ी विधानसभा है।

2. पंकज सिंह : यूपी के गौतमबुद्ध नगर विधानसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार पंकज सिंह ने भी जबरदस्त जीत हासिल की। पंकज ने नोएडा सीट से करीब एक लाख 79 हजार वोटों से जीत दर्ज की है। ये अब तक की दूसरी सबसे ज्यादा वोटों से दर्ज की गई जीत है। पंकज सिंह ने समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार सुनील चौधरी को हराकर बंपर जीत हासिल की है। 

3. तेजपाल सिंह नागर : तेजपाल सिंह नागर ने दादरी से प्रदेश की तीसरी सबसे बड़ी जीत दर्ज की है। उन्होंने समाजवादी पार्टी के राजकुमार भाटी को एक लाख 38 हजार वोटों से मात दी। तेजपाल नागर को 2 लाख 18 हजार वोट मिले, जबकि राजकुमार को सिर्फ 79 हजार वोट मिले।

4. अमित अग्रवाल : मेरठ कैंट सीट से अमित अग्रवाल ने यूपी विधानसभा चुनाव में चौथी बड़ी जीत दर्ज की। उन्होंने आरएलडी की मनीषा अहलावत को एक लाख 18 हजार वोटों के बड़े अंतर से हराने में सफलता पाई। अमित अग्रवाल को एक लाख 62 हजार वोट मिले थे, जबकि मनीषा ने सिर्फ 43 हजार वोट हासिल किया।

5. पुरुषोत्तम खंडेलवाल : आगरा में भाजपा ने 2017 की तरह इस बार भी सभी नौ विधानसभा सीटों पर जीत दर्ज की। आगरा में उत्तर विधानसभा सीट से पुरुषोत्तम खंडेलवाल ने रिकॉर्ड मतों से जीत दर्ज की। उन्होंने 111718 मत प्राप्त कर प्रदेश में पांचवीं सबसे बड़ी जीत दर्ज की। पुरुषोत्तम ने समाजवादी पार्टी के ज्ञानेन्द्र को मात दी।