लालू यादव सिर्फ 7 घंटे में दिल्‍ली AIIMS से बैरंग लौटाए गए... थोड़ी देर में पहुंचेंगे रांची RIMS

 

Lalu Yadav News: लालू प्रसाद यादव को महज 7 घंटे में ही एम्‍स दिल्‍ली से वापस भेज दिया गया।

Lalu News Lalu Yadav News रांची के रिम्‍स में तबीयत नाजुक बताकर आनन-फानन में मेडिकल बोर्ड की सलाह पर बेहतर इलाज के लिए एम्‍स दिल्‍ली भेजे गए राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को महज 7 घंटे में ही डिस्‍चार्ज कर दिया गया। वे फिर से रांची वापस आ रहे हैं।

तत्काल डायलिसिस की आवश्यकता नहीं

रिम्स के निदेशक डॉ कामेश्वर प्रसाद ने मेडिकल बोर्ड की बैठक से बाहर निकलने के बाद बताया कि लालू प्रसाद की क्रिएटिनीन लेवल 4.6 है, पर उन्हें तत्काल डायलिसिस की जरूरत हैं। हालांकि उन्होंने कहा कि ऐसे ही किडनी की स्थिति बिगड़ती रही तो एम्स के नेफ्रोलॉजिस्ट इस पर निर्णय ले सकते हैं। उन्होंने साथ ही कहा कि लालू के हार्ट का एक वॉल्व पहले ही बदला हुआ है, ऐसे में हृदय में भी परेशानी अचानक उभर सकती है, इसलिए एम्स ही भेजना उचित है।

इन बीमारियों से ग्रसित हैं लालू यादव

लालू यादव डाइबिटीज, ब्लड प्रेशर, हृदय रोग, किडनी की बीमारी, किडनी में स्टोन, हाइपर टेंशन, थैलीसीमिया, प्रोस्टेट का बढ़ना, यूरिक एसिड का बढ़ना, ब्रेन से संबंधित बीमारी, कमजोर इम्युनिटी, दाहिने कंधे की हड्डी में दिक्कत, पैर की हड्डी की समस्या, आंख में दिक्कत है।

डोरंडा कोषागार मामले में सुनाई गई थी सजा 

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की विशेष अदालत ने 21 फरवरी को लालू प्रसाद यादव को पांच साल कैद की सजा सुनाई थी। उन पर डोरंडा कोषागार से 139 करोड़ की अवैध निकासी का आरोप है। पांच साल की कैद के साथ ही लालू पर 60 लाख का जुर्माना भी लगाया गया था। अदालत से सजा सुनाए जाने के बाद लालू को पहले होटवार जेल भेजा गया था।

सजा मिलने के कुछ देर बाद ही रिम्‍स में भर्ती

लालू प्रसाद यादव को स्थिति को देखते हुए कुछ घंटों बाद ही रिम्स के एक निजी वार्ड में स्थानांतरित कर दिया गया था। चारा घोटाला के डोरंडा कोषागार मामले में सजा के खिलाफ और इस मामले में जमानत पाने के लिए झारखंड हाईकोर्ट में लालू की ओर से जमानत याचिका भी दायर की गई है। हाईकोर्ट ने प्रारंभिक सुनवाई के बाद जमानत याचिका को सुनवाई के लिए एक अप्रैल को सूचीबद्ध किया है।

लालू यादव की ओर से आवेदन आया था। जिसमें खुद के खर्च पर बेहतर इलाज के लिए एम्स जाने का आग्रह किया गया था। लालू की ओर से जाने की प्रक्रिया पहले पूरी कर ली गई थी। बंदियों की अपनी व्यवस्था के अनुसार जेल प्रशासन की ओर से अनुमति दी गई।

हामिद अख्तर, अधीक्षक जेल, बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा, होटवार जेल रांची