रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन से जुड़ा बदनाम याट शहहेराजाद का नाम, आखिर किसकी है 700 मिलियन डालर की ये याट

 

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन और याट शहहेराजाद (फोटो: एएफपी)

यूक्रेन पर हमले के बाद रूस पर पश्चिमी देशों के द्वारा प्रतिबंध लगाए गए हैं। यहीं नहीं कई देशों ने रूस के नामी लोगों की संपत्तियों को भी जब्त कर लिया है। ऐसे में रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन का इटली की एक याट से कनेक्शन सामने आया है।

मासा, एएफपी। इटली के मासा में एक सूखी हुई गोदी में बदनाम याट शहहेराजाद खड़ी है। जिसका कनेक्शन रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन से जोड़ा जा रहा है। अटकलें लगाई जा रही है कि इस बदनाम याट शहहेराजाद के मालिक कोई ओर नहीं, बल्कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन हैं। 140 मीटर लंबी इस याट की 700 मिलियन डालर कीमत आंकी गई है। दरअसल, पिछले महीने रूस द्वारा यूक्रेन पर आक्रमण करने के बाद से यूरोप में रूस से संबंधित कई नौकाओं को पहले ही जब्त कर लिया गया है। हालांकि, याट शहहेराजाद सबसे खास है, जिसका कनेक्शन रूस के राष्ट्रपति से जुड़ रहा है। कई महीनों से इसे मरीना डि कैरारा में इतालवी सागर समूह के शिपयार्ड में रखरखाव के काम के लिए पार्क किया गया है। समुद्र के पश्चिमी इलाके में मौजूद मासा टस्कनी की मशहूर करारा की संगमरमर खदानों से बहुत दूर नहीं है।

बुधवार को एएफपीटीवी के एक पत्रकार ने बोर्ड पर गतिविधियां होने के संकेत देखे। हलांकि, कुल लोग पास ही में काम कर रहे थे। इटली की वित्तीय पुलिस के जांच से जुड़े एक सूत्र ने एएफपी को बताया कि कुछ ही दिनों में जांच पूरी की जा सकती है। सूत्र ने कहा कि हम गहरी और विस्तृत जानकारी जुटा रहे हैं, यह थोड़ जटिल है। मालिक को विशेषता देना हमेशा आसान नहीं होता है। सुपरयाच फैन वेबसाइट के अनुसार, इस याट को जर्मनी की कंपनी लुरसेन ने 2020 में बनाया था। इस पर दो हैलीपैड्स बने हुए हैं और इस पर एक स्वीमिंग पूल भी है। यहीं नहीं इस याट पर एक मूवी थियेटर बना हुआ है। सुपरयाचफैन वेबसाइट नौकाओं और उनके मालिकों पर शोध करती है। समाचार रिपोर्टों में कहा गया है कि याट शहहेराजाद पर केमन आइसलैंड का झंडा लगा हुआ है। इस याट की मालिक एक कंपनी है, जो मार्शल आइलैंड में रजिस्टर्ड है।

रूस के एलेक्सी नवेलनी की भ्रष्टाचार विरोधी फाउंडेशन के अनुसार, इस याट का कप्तान एक ब्रिटिश नागरिक है, लेकिन बाकी सारा स्टाफ रूसी है। इस फाउंडेशन की ओर से सोमवार को यूट्यूब पर एक वीडियो पोस्ट किया गया था, जिसमें इसे पुतिन का बताया गया था। साथ ही, शोधकर्ताओं ने अपने कब्जे में एक चालक दल की सूची का हवाला दिया। जिसमें रूस की संघीय सुरक्षा सेवा के कई सदस्य शामिल थे, जो पुतिन की सुरक्षा की जिम्मेदारी संभालती है। वहीं, बुधवार को स्थानीय सीजीआईएल यूनियन के प्रमुख पाओलो गोज़ानी ने कहा कि हाल के दिनों में याट के चालक दल को अचानक बदल दिया गया था। गोज़ानी ने एएफपी को बताया कि इस याट के सारे स्टाफ को बदल कर सभी ब्रिटिश स्टाफ रखे गए हैं।

न्यूयार्क टाइम्स ने बताया है कि अमेरिकी अधिकारियों ने पुतिन को लक्जरी जहाज से जोड़ने के सबूत एकत्र किए हैं। जिसमें 2020 और 2021 में सोची के काला सागर रिजार्ट में दो यात्राएं की थी। इतालवी सागर समूह ने एक बयान में कहा कि ये याट रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की संपत्ति नहीं है। हालांकि, शिपयार्ड के मालिक ने कहा कि इसका मूल्यांकन उसके पास मौजूद दस्तावेज और संबंधित अधिकारियों द्वारा किए गए जांच के निष्कर्षों के बाद पर आधारित था।

आपको बता दें कि इस महीने की शुरुआत में न्यूयार्क टाइम्स द्वारा इंटरव्यू में याट के ब्रिटिश कप्तान ने कहा कि पुतिन जहाज के मालिक नहीं हैं और रूसी राष्ट्रपति ने कभी भी इस याट पर कदम नहीं रखा है। मालिक का नाम बताने से इनकार करते हुए कप्तान ने कहा कि इस याट के मालिक पर कोई प्रतिबंध नहीं लगे हैं। इससे पहले, इटली की संसद को दिए अपने संबोधन में यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर ने इटली से रूस की सभी छोटी-बड़ी संपत्तियों को जब्त करने का आह्वान किया था। इटली रूसियों के लिए पर्यटन का प्रमुख केंद्र हैं। इटली के अधिकारियों ने अब तक रूस अमीरजादों और प्रधानमंत्री मारियो द्रागची की 800 मिलियन यूरो की संपत्ति जब्त की है।