यूक्रेन से भारतीयों की जल्द निकासी के लिए ‘आपरेशन गंगा’ में तेजी लाने का फैसला, मिशन में 80 फ्लाइट और 24 मंत्री होंगे शामिल

 

सरकार का आपरेशन गंगा में तेजी लाने का फैसला (एएनआई)

यूक्रेन में फंसे भारतीयों की निकासी के लिए सरकार आपरेशन गंगा का संचालन कर रही है। अभियान में कई उड़ानों को तैनात किया गया है। साथ ही किसी भी तरह की दिक्कतों का सामना करने के लिए दो दर्जन से अधिक मंत्रियों को शामिल किया जाएगा।

नई दिल्ली, एएनआई: युद्ध के बीच यूक्रेन में फंसे भारतीयों की निकासी के लिए सरकार आपरेशन गंगा का संचालन कर रही है। इस अभियान के तहत कई उड़ानों को तैनात किया गया है। साथ ही अभियान को संचालित करने में किसी भी तरह की दिक्कतों का सामना करने के लिए दो दर्जन से अधिक मंत्रियों को शामिल किया जाएगा।

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक सरकार ने यूक्रेन में फंसे भारतीयों के लिए निकासी योजना में तेजी लाने का फैसला किया है। ज्यादा से ज्यादा भारतीयों को वापस लाने के लिए सरकार ने उड़ानों की आवाजाही बढ़ा दी गई है। बताया जा रहा है कि आगामी 10 मार्च तक मिशन में करीब 80 उड़ानों के शामिल किया जाएगा। खबर है कि एयर इंडिया, एयर इंडिया एक्सप्रेस, इंडिगो, स्पाइस जेट, विस्तारा, गो एयर और वायु सेना के विमानों को आपरेशन गंगा में शामिल किया जाएगा।

जानकारी के मुताबिक रोमानिया की राजधानी बुखारेस्ट के लिए 35 निकासी उड़ाने संचालित करने की योजना बनाई गई है। जिसमें एयर इंडिया की 14 उड़ानें, एयर इंडिया एक्सप्रेस की आठ, इंडिगो की सात, स्पाइस जेट की एक, विस्तारा की तीन और भारतीय वायु सेना की दो फ्लाइट शामिल हैं। वहीं, हंगरी की राजधानी बुडापेस्ट से कुल 28 फ्लाइट उड़ान भरेंगी। इन 28 उड़ानों में से 15 उड़ानें गो एयर की, नौ इंडिगो से, दो एयर इंडिया से, एक भारतीय वायु सेना से और एक स्पाइस जेट से हैं। पोलैंड के रेजजो से कुल नौ उड़ानें निर्धारित हैं, जिसमें इंडिगो से आठ और भारतीय वायु सेना से की एक उड़ान शामिल है। जबकि पांच उड़ानें सुसेवा, रोमानिया से और तीन उड़ानें कोसिसे, स्लोवाकिया से उड़ान भरेंगी।