युद्ध रोकने के लिए फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रों ने 90 मिनट की फिर बातचीत में पुतिन ने रखी यह शर्त



फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों रूस के राष्‍ट्रपति ब्‍लादिमीर पुतिन

फ्रांसीसी राष्ट्रपति ने पुतिन से यूक्रेन में नागरिकों पर सभी हमलों को रोकने नागरिक बुनियादी ढांचे को संरक्षित करने और सड़कों तक सुरक्षित पहुंच प्रदान करने का भी आग्रह किया था। पुतिन ने फ्रांसीसी राष्ट्रपति से कहा था कि रूसी पक्ष यूक्रेन के प्रतिनिधियों के साथ बातचीत के लिए तैयार है।

पेरिस, एएफपी। रूस-यूक्रेन युद्ध को रोकने के लिए फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने गुरुवार को रूस के राष्‍ट्रपति ब्‍लादिमीर पुतिन के साथ 90 मिनट की फिर मुलाकात की। यह जानकारी समाचार एजेंसी एएफपी ने दी है। व्लादिमीर पुतिन ने इमैनुएल मैक्रों से कहा कि यूक्रेन में रूस के अभियान के लक्ष्य यूक्रेन का विसैन्यीकरण और तटस्थ स्थिति किसी भी तरह हासिल किया जाएगा। क्रेमलिन ने यह जानकारी दी। पुतिन ने कहा कि कीव द्वारा वार्ता में देरी के किसी भी प्रयास के परिणामस्वरूप मास्को अपनी मांगों की सूची में और आइटम जोड़ देगा। इससे पहले मैक्रों ने पुतिन से 28 फरवरी को बात की थी। फ्रांसीसी राष्ट्रपति ने पुतिन से यूक्रेन में नागरिकों पर सभी हमलों को रोकने, नागरिक बुनियादी ढांचे को संरक्षित करने और प्रमुख सड़कों तक सुरक्षित पहुंच प्रदान करने का भी आग्रह किया था।पुतिन ने फ्रांसीसी राष्ट्रपति से कहा था कि रूसी पक्ष यूक्रेन के प्रतिनिधियों के साथ बातचीत के लिए तैयार है और मास्को उम्मीद करता है कि उचित परिणाम मिलेंगे। रूस के राष्ट्रपति ने इस बात पर भी जोर दिया कि रूसी सशस्त्र बल नागरिकों को धमकी नहीं दे रहे हैं और न ही नागरिक प्रतिष्ठानों पर हमला कर रहे हैं।

ज्ञात हो कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने एक हफ्ते पहले 24 फरवरी को यूक्रेन के खिलाफ सख्त मिलिट्री एक्शन शुरू करने का ऐलान किया था, जिसके बाद युद्ध शुरू हो गया। इसके बाद से लगातार रूस के जवान यूक्रेन की तरफ कूच कर रहे हैं, वहीं हवाई हमलों से यूक्रेन के बुलंद हौसले तोड़ने की पूरी कोशिश जारी है। यूक्रेन की राजधानी कीव और अहम शहर खारकीव पर रूस कब्जा जमाना चाहता है, लेकिन उसको अभी तक कामयाबी नहीं मिली है। हालांकि, खेरसान समेत कुछ शहरों पर रूसी कब्जा हो चुका है। मिसाइल हमलों से यूक्रेन में सिर्फ तबाही नजर आती ह

ै।