बीजेपी ने AAP की लहर के दावे को बताया हास्यास्पद, कहा- यूपी में आम आदमी पार्टी को नोटा से कम मिले वोट, कई सीटों पर जब्त हुई जमानत

स्मृति ईरानी ने AAP की लहर को बताया हास्यास्पद (फाइल फोटो)

पंजाब की जीत के बाद देश में आप की लहर के दावे और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ टिप्पणी पर भाजपा ने जोरदार पलटवार किया है। स्मृति इरानी ने आप की लहर के दावे को हास्यस्पद करार दिया है।

ब्यूरो, नई दिल्ली: दिल्ली नगर निगम का चुनाव टालने के मुद्दे पर भाजपा और आम आदमी पार्टी के बीच घमासान शुरू हो गया है। पंजाब की जीत के बाद देश में आप की लहर के दावे और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ टिप्पणी पर भाजपा ने जोरदार पलटवार किया है। भाजपा की वरिष्ठ नेता व केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी ने आप की लहर के दावे को हास्यस्पद करार दिया है। उन्होंने दिल्ली नगर निगम का 13 हजार करोड़ रुपये का बकाया तत्काल रिलीज करने की मांग की है।

AAP को नोटा से भी कम वोट मिले: ईरानी

आम आदमी पार्टी की लहर के दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के दावे पर प्रतिक्रिया जताते हुए स्मृति ने कहा कि पांच राज्यों के चुनाव में चार राज्यों के नतीजे इसके गवाह हैं। उत्तर प्रदेश में इस पार्टी को नोटा से भी कम वोट मिला है। उत्तराखंड में कुल 70 सीटों में से 55 पर इसके उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गई है। गोवा में भी इसे महज छह प्रतिशत वोट मिले हैं। उन्होंने कहा कि बनारस में बुरी तरह से हार का सामना करने वाले नेता के मुंह से ये शब्द शोभा नहीं देते हैं।

नगर निगम का हजारों करोड़ नहीं देने का आरोप

स्मृति इरानी ने पिछले सात वर्षों से नगर निगमों के 13 हजार करोड़ रुपये नहीं देने को लेकर आप को कठघरे में खड़ा किया। कहा कि इससे सबसे अधिक मुसीबतों का सामना दिल्ली की गरीब जनता को करना पड़ रहा है, क्योंकि इसकी वजह से झुग्गी-झोपडि़यों के विकास का काम रुक गया है। उन्हें जोड़ने वाली सड़कें नहीं बन पा रही हैं। सीवर को ठीक नहीं किया जा रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि केजरीवाल सरकार ने सामुदायिक केंद्रों, सफाई कर्मियों और पार्कों के रखरखाव तक का पैसा रोक रखा है। इसे जारी कराने के लिए तीनों मेयर मुख्यमंत्री के आवास के बाहर धरना दे चुके हैं। स्मृति इरानी के अनुसार, तीनों मेयरों ने नगर निगमों को एकजुट करने के लिए पिछले साल ही पत्र लिखा था। लेकिन अर¨वद केजरीवाल इस पर चुप्पी साधे रहे।