कोरोना केस घटने से सामान्य होगी संसद की कार्रवाई, कोविड प्रोटोकाल का करना होगा पालन

 

बजट सत्र में सामान्य होगी संसद की कार्रवाई। (फाइल फोटो)

14 मार्च से संसद का बजट सत्र फिर से शुरू हो रहा है। कोरोना केस घटने के बावजूद संसद में पहले की तरह कोरोना प्रोटोकाल का पालन किया जाएगा। बैठने की व्यवस्था में भी कोई बदलाव नहीं होगा।

नई दिल्ली, एएनआइ। देश में घटते कोरोना मामलों के चलते राज्यसभा और लोकसभा में बजट सत्र के दूसरे भाग में सामान्य बैठकें फिर से शुरू हो जाएंगी। 14 मार्च से 11 बजे संसद का सत्र फिर से शुरू हो रहा है। हालांकि, संसद सत्र में पहले की तरह कोरोना प्रोटोकाल का पालन किया जाएगा। दोनों सदनों में अधिकांश प्रतिबंध फिलहाल जारी रहेंगे। दोनों सदन सदस्यों के बैठने की व्यवस्था में कोई बदलाव नहीं होगा और सामाजिक दूरी के मानदंडों का पालन करना जारी रहेगा।

यह होगी बैठने की व्यवस्था

बैठने की व्यवस्था के अनुसार राज्य सभा में वर्तमान में 237 सदस्यों की कुल संख्या है, जिसमें कुल 245 सांसदों में से आठ अभी खाली हैं। चैंबर में 139 (+3) सांसद बैठे होंगे जबकि 98 अन्य को एक निश्चित समय में गैलरी में समायोजित किया जाएगा। इसी तरह, लोकसभा में कुल 538 सदस्य हैं, जिनमें से 282 प्रधानमंत्री सहित कक्ष में बैठ सकते हैं, जबकि शेष 258 एक निश्चित समय में दीर्घाओं में बैठ सकते हैं। इसके अलावा, प्रेस गैलरी में सीमित बैठने की क्षमता भी पहले की तरह जारी रहेगी। दोनों सदनों की कार्यवाही देखने के लिए किसी और का प्रवेश निलंबित रहेगा।

कोविड टीकाकरण की भी व्यवस्था

आधिकारिक दिशानिर्देशों के अनुसार, संसद के दोनों सदनों में केवल मौजूदा सदस्य सेंट्रल हॉल में जा सकते हैं जो पूर्व सांसदों और अन्य के लिए प्रतिबंधित होगा। इसके अलावा, सांसदों और मंत्रियों के कर्मचारियों के लिए सीमित प्रवेश भी पिछले सत्रों में देखे गए कोरोना प्रोटोकाल के अनुरूप जारी रहेगा। बता दें कि इस बार संसद के एनेक्सी भवन में कोविड-19 के टीकाकरण की भी व्यवस्था की गई है। गौरतलब है कि बजट सत्र का दूसरा भाग 14 मार्च से शुरू होगा और 8 अप्रैल को समाप्त होगा।