गर्मियों में जरूर खाएं ये तीन चीजें, बहुत सस्ते में बरकरार रख सकेंगे सेहत का संतुलन

 

किन खाद्य पदार्थों को अपने खानपान शामिल करना जरूरी है...

हरी सब्जियों के सेवन से एनीमिया में राहत मिलती है। गौरतलब है कि एनीमिया से पीडि़त लोगों में खून की काफी कमी हो जाती है। इनमें काफी मात्रा में फोलेट भी पाया जाता है जो हमारे शरीर के लिए बहुत लाभदायक होता है।

धीरे-धीरे मौसम में परिवर्तन हो रहा है। इस दौरान अगर हम अपने खानपान पर ध्यान नहीं देंगे तो हमारी सेहत बिगड़ सकती है। हमारी सेहत प्रभावित न हो इसके लिए जरूरी है कि हम अपने खानपान में कुछ ऐसी चीजों को अवश्य शामिल करें, जो हमें सेहतमंद रखने में मदद करें। सीनियर डाइटीशियन डा. सुनीता मिश्रा बता रही हैं...

jagran

दही : दही में पाया जाने वाला प्रोबायोटिक हमारे पाचनतंत्र के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इसके साथ ही यह हमारे शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता को भी मजबूत करता है। दही के नियमित सेवन से कोलेस्ट्राल का स्तर सही रहता है। नतीजतन हृदय संबंधी समस्याओं से राहत मिलती है। ये हाई ब्लड प्रेशर को और हाईपरटेंशन को नियंत्रित करने में भी मदद करता है। कोलेस्ट्राल का स्तर नियंत्रित रहने से हृदय को मजबूती मिलती है। हमारे शरीर का वजन बढ़ाने में सबसे ज्यादा कार्टीसोल नामक हार्मोन और गलत लाइफ स्टाइल मदद करती है।

गौरतलब है कि दही के सेवन से कार्टीसोल की मात्रा नियंत्रित रहती है। कारण, दही में काफी मात्रा में कैल्शियम पाया जाता है। इसमें पाया जाने वाला कैल्शियम कार्टीसोल को अधिक मात्रा में बनने से रोकता है। कई प्रकार के विटामिंस और खनिज तत्वों से भरपूर दही शरीर में ब्लड शुगर का स्तर सही रखने में मदद करता है। इसमें पाए जाने वाले कई पोषक तत्व शरीर को तुरंत ऊर्जा देने का काम करते हैं। दही में मिलने वाला प्रोटीन शरीर को स्वस्थ रखने में काफी मदद करता है। फास्फोरस से भरपूर दही हमारे दांतों और हड्डियों को मजबूत बनाए रखता है। इससे मिलने वाले लाभ के कारण ही हेल्थ एक्सपर्ट्स का कहना है कि शाकाहारी लोगों को प्रतिदिन दही का सेवन अवश्य करना चाहिए। खासकर महिलाओं को इसके सेवन से बहुत लाभ मिलता है।

jagran

हरी सब्जियां : हरी सब्जियां विटामिंस, खनिज तत्वों और फाइबर का प्रमुख स्रोत होती हैं। यही कारण है कि चिकित्सक भी हमेशा यही सलाह देते हैं कि अधिक से अधिक मात्रा में हरी सब्जियों का सेवन करना चाहिए। हरी सब्जियों के सेवन से पाचनतंत्र सही रहता है। हृदय रोगों और मोटापे से राहत मिलती है। इसके साथ ही ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखने में भी मदद मिलती है। यह दिमाग के लिए भी लाभकारी होती हैं। हरी सब्जियों के सेवन से शरीर के लिए आवश्यक विटामिन ए, के, ई, सी, बी-1, बी-2, बी-3, बी-5, बी-6 की पूर्ति होती है। ये सभी विटामिन शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। हरी सब्जियों के सेवन से शरीर को विभिन्न प्रकार के खनिज तत्व भी आसानी से प्राप्त होते हैं। इनमें मिलने वाले प्रमुख खनिज तत्व हैं- आयरन, मैंग्नीज, मैग्नीशियम, पोटेशियम, जिंक, कैल्शियम, फास्फोरस, सोडियम आदि।

हरी सब्जियों में बहुत कम मात्रा में कैलोरीज पाई जाती हैं। इसलिए इनके अधिक सेवन से शरीर को कोई नुकसान नहीं होता है। हरी सब्जियों के सेवन से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी मजबूत होती है साथ ही इनके सेवन से वजन नियंत्रित करने में भी मदद करती है। यदि आपको किसी प्रकार की कोई शारीरिक समस्या है और आप उसे ठीक करने के लिए कुछ दवाओं का सेवन कर रही हैं तो इनके अधिक सेवन से पहले अपने चिकित्सक से जरूर संपर्क करें। 

jagran

प्याज : प्याज केवल भोजन का स्वाद ही नहीं बढ़ाता है, बल्कि यह शरीर के लिए भी बहुत लाभदायक होता है। इसमें पाए जाने वाले विभिन्न प्रकार के पोषक तत्व शरीर के लिए बहुत फायदा पहुंचाते हैं। प्याज में मौजूद बायोटिन हमारे स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव डालता है। प्याज में क्रोमियम मौजूद होता है, जो ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करता है। प्याज में पर्याप्त मात्रा में मौजूद फाइटोकेमिकल्स शरीर को अंदर से स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। यह शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। इससे शरीर विषाक्त पदार्थों से अच्छी तरह लड़ पाता है। प्याज के सेवन से ओरल हेल्थ सही रहती है। प्याज के सेवन से न केवल दांतों संबंधी समस्याओं से राहत मिलती है, बल्कि मुंह के अंदर मौजूद विभिन्न प्रकार के हानिकारक बैक्टीरिया भी समाप्त हो जाते हैं।

प्याज होंठों को स्वस्थ रखने में भी मदद करता है। यह त्वचा को स्वस्थ रखने में काफी कारगर होता है। यह हड्डियों को मजबूत करने में मदद करता है और गठिया की समस्या से भी राहत दिलाता है। जोड़ों में होने वाले दर्द को कम करने में भी यह बहुत कारगर होता है। प्याज में एक बहुत ही शक्तिशाली एंटीआक्सीडेंट क्वेरसेटिन पाया जाता है, जो कैंसर के सेल्स की रोकथाम करने में सहायक होता है। प्याज के सेवन से शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं की मात्रा में वृद्धि होती है। इससे शरीर को स्वस्थ रखने में काफी मदद मिलती है। प्याज में फाइबर भी पाया जाता है, जो शरीर के पाचन तंत्र को सही रखने में मदद करता है। हालांकि हेल्थ एक्सपट्र्स का कहना है कि डायबिटीज वाले लोगों को प्याज का अधिक सेवन नहीं करना चाहिए। इसके साथ ही प्याज का अधिक सेवन आंतों की कार्यप्रणाली में बाधा पहुंचा सकता है और गैस संबंधी समस्या पैदा कर सकता है।