कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने कहा, पाकिस्तान के साथ परमाणु मुद्दों पर संस्थागत बातचीत जरूरी

 

कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने मंगलवार को लोकसभा में कहा

दुर्घटनावश चली भारतीय मिसाइल के पाकिस्तानी सीमा में गिरने पर चिंता जताते हुए कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने मंगलवार को लोकसभा में कहा कि परमाणु मुद्दों पर पाकिस्तान के साथ संस्थागत बातचीत होनी चाहिए। पंजाब के आनंदपुर साहिब से लोकसभा सदस्य तिवारी ने शून्यकाल के दौरान यह मुद्दा उठाया।

नई दिल्ली, प्रेट्र। दुर्घटनावश चली भारतीय मिसाइल के पाकिस्तानी सीमा में गिरने पर चिंता जताते हुए कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने मंगलवार को लोकसभा में कहा कि परमाणु मुद्दों पर पाकिस्तान के साथ संस्थागत बातचीत होनी चाहिए। पंजाब के आनंदपुर साहिब से लोकसभा सदस्य तिवारी ने शून्यकाल के दौरान यह मुद्दा उठाया।उन्होंने कहा कि ऐसे तथ्य भी सामने आए हैं कि जब मिसाइल पाकिस्तानी सीमा में गिरी तो पाकिस्तान जवाबी कार्रवाई की तैयारी करने लगा था। इस मिसाइल के दायरे में कई नागरिक विमान थे और कोई अनचाही घटना हो सकती थी। हम उस दिन सौभाग्यशाली रहे। यह घटना इस बात का पुख्ता आधार देती है कि पाकिस्तान के साथ परमाणु मुद्दों पर संस्थागत बातचीत होनी चाहिए।

भारतीय मिसाइल के पाकिस्तानी सीमा में गिरने पर कांग्रेस नेता ने जताई चिंता

तिवारी ने कहा, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने इस मुद्दे पर 15 मार्च को संसद में वक्तव्य दिया था। उन्होंने सूचित किया था कि इस घटना की जांच के लिए कोर्ट आफ इन्क्वायरी का आदेश दिया गया है। रक्षा मंत्रालय के अनुसार, नौ मार्च को शाम करीब सात बजे नियमित रखरखाव और निरीक्षण के दौरान एक मिसाइल गलती से चल गई। समझा जाता है कि यह मिसाइल पाकिस्तान की सीमा के अंदर गिरी थी। राजनाथ ने लोकसभा में कहा था कि इस घटना में कोई घायल नहीं हुआ। राजनाथ ने कहा था कि इस घटना के मद्देनजर संचालन, रखरखाव और निरीक्षण के लिए मानक संचालन प्रक्रियाओं की समीक्षा की जा रही है। हम अपने हथियार प्रणालियों की सुरक्षा और सुरक्षा को सर्वोच्च प्राथमिकता देते हैं। यदि कोई कमी पाई जाती है तो उसे तत्काल दूर किया जाएगा।

पाकिस्‍तान दे सकता था जवाब लेकिन....

दुर्घटनावश चली भारतीय मिसाइल पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा था कि उनका देश पंजाब प्रांत में भारतीय मिसाइल गिरने पर जवाब दे सकता था, लेकिन उसने संयम बरता।