पांच राज्यों में हार पर कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कांग्रेस को दिखाया आईना, कहा- नेतृत्व कभी नहीं सीखेगा

 

पंजाब के पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह की फाइल फोटो।

कांग्रेस ने पंजाब में पार्टी की हार के लिए कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार के समय की सत्ता विरोधी लहर को जिम्मेदार ठहराया। इस पर कैप्टन अमरिंदर सिंह ने तीखी टिप्पणी की है। कहा कि नेतृत्व कभी नहीं सीखेगा।

एएनआइ, चंडीगढ़। पंजाब विधानसभा के चुनाव परिणामों पर कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला की टिप्पणी पर पंजाब लोक कांग्रेस प्रमुख व पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने तंज कसा है। कैप्टन ने कहा कि आखिर कांग्रेस नेतृत्व कभी नहीं सीखेगा।

रणदीप सुरजेवाला ने पंजाब में कांग्रेस की हार के लिए कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार के खिलाफ की एंटी इनकंबेंसी को जिम्मेदार ठहराया। इस पर कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि यूपी में कांग्रेस की शर्मनाक हार का जिम्मेदार कौन है? मणिपुर, गोवा, उत्तराखंड के बारे में क्या? उत्तर दीवार पर बड़े अक्षरों में लिखा हुआ है, लेकिन हमेशा की तरह मुझे लगता है कि वे इसे पढ़ने से बचेंगे।

रणदीप सुरजेवाला न अपनी टिप्पणी में कहा था कि पंजाब में कांग्रेस ने चरणजीत सिंह चन्नी के माध्यम से एक नया नेतृत्व प्रस्तुत किया, जो जमीन से उठे हुए नेता हैं, लेकिन कैप्टन अमरिंदर सिंह साढे चार वर्ष तक पंजाब के सीएम रहे। इस सत्ता विरोधी लहर को दूर नहीं किया जा सका, इसलिए लोगों ने बदलाव के लिए आम आदमी पार्टी को वोट दिया।

बता दें, 2017 में कांग्रेस ने कैप्टन अमरिंदर सिंह के नेतृत्व में सरकार बनाई थी, लेकिन 2021 में पंजाब में नवजोत सिंह सिद्धू के प्रदेश प्रधान बनने के बाद से सिद्धू व कैप्टन में छत्तीस आंकड़ा हो गया। सिद्धू अपनी ही सरकार पर सवाल उठाने लगे। 

सिद्धू के बार-बार के सवाल उठाने के बावजूद पार्टी नेतृत्व ने सिद्धू को चुप नहीं कराया। इससे आहत होकर कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सीएम पद से इस्तीफा दे दिया। इसके बाद कैप्टन ने पार्टी छोड़ नई पार्टी का गठन किया। वर्तमान विधानसभा चुनाव कैप्टन ने भाजपा के साथ मिलकर लड़ा। 

कैप्टन अमरिंदर सिंह को सीएम पद से हटाए जाने के बाद पार्टी ने चरणजीत सिंह चन्नी को सीएम बनाया, लेकिन नवजोत सिंह सिद्धू की चरणजीत सिंह चन्नी से भी नहीं बनी। वह बार-बार चन्नी के काम पर सवाल उठाते रहे। 

थरूर व सिद्धू ने भी उठाए सवाल

पांच राज्यों में कांग्रेस को मिली करारी पराजय पर पार्टी के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने भी गत दिवस सवाल उठाए थे। थरूर ने कहा कि प्रासंगिक बने रहना है तो पार्टी के संगठनात्मक नेतृत्व में बदलाव को अब टाला नहीं जा सकता। 

वहीं, पंजाब कांग्रेस प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू ने आज पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि पंजाब में जिम्मेदारी सीएम चरणजीत सिंह चन्नी की थी। पार्टी प्रमुख राहुल गांधी ने चन्नी को ही सीएम फेस बनाया था।