महाराष्ट्र के मंत्री असलम शेख और वर्षा गायकवाड़ ने लहराई तलवार, आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज

 

महाराष्ट्र के मंत्री असलम शेख व वर्षा गायकवाड़ ने लहराई तलवार, आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज। फोटो इंटरनेट मीडिया

Maharashtra Politics कांग्रेस के अल्पसंख्यक विभाग के अध्यक्ष इमरान प्रतापगढ़ी के स्वागत के लिए एक सार्वजनिक कार्यक्रम में तलवार लहराने पर महाराष्ट्र के मंत्रियों असलम शेख और वर्षा गायकवाड़ के खिलाफ मुंबई के बांद्रा पीएस में आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है।

मुंबई, एएनआइ। कांग्रेस के अल्पसंख्यक विभाग के अध्यक्ष इमरान प्रतापगढ़ी के स्वागत के लिए एक सार्वजनिक कार्यक्रम में तलवार लहराने पर महाराष्ट्र के मंत्रियों असलम शेख और वर्षा गायकवाड़ के खिलाफ मुंबई के बांद्रा पीएस में सोमवार को आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है। इस मामले को लेकर प्रदेश की राजनीति गरमा सकती है। पुलिस इस मामले के हर पहलू की जांच कर रही है। इस मामले में कांग्रेस के कई नेताओं और पार्टी के कार्यकर्ताओं से पूछताछ भी हो सकती है। दाऊद इब्राहिम से जुड़े मनी लांड्रिंग के मामले में नवाब मलिक की गिरफ्तारी के बाद प्रदेश की राजनीति गरमाई हुई है। सियासी दलों के नेता एक-दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं।गौरतलब है कि महाराष्ट्र सरकार में मंत्री असलम शेख ने माना था कि उन्हें भी मुंबई से गोवा जाने वाले क्रूज कार्डेलिया पर निमंत्रित किया गया था, लेकिन उन्होंने फैशन टीवी से जुड़े काशिफ खान को जानने से इन्कार किया है। असलम शेख ने कहा कि मैं बंदरगाह विभाग का मंत्री हूं। मुंबई उपनगर का प्रभारी मंत्री भी हूं। मुझे तमाम लोग अलग-अलग कार्यक्रमों में आने के लिए आमंत्रित करते रहते हैं और मैं जाता भी रहता हूं। इसी तरह काशिफ खान ने भी मुझे क्रूज पर आने के लिए आमंत्रित किया था। लेकिन न मैं वहां गया, न ही काशिफ खान को जानता हूं। नवाब मलिक ने यह खुलासा किया था कि ड्रग सिंडीकेट से संबंध रखने वाले काशिफ खान महाराष्ट्र सरकार के एक मंत्री असलम शेख व कई नेताओं के बच्चों को भी क्रूज पर बुलाना चाहता था, लेकिन ये लोग नहीं गए। नहीं तो ‘उड़ता पंजाब’ की तर्ज पर ‘उड़ता महाराष्ट्र’ हो जाता। इस संबंध में असलम शेख से पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि अब ड्रग कांड की जांच दो-दो एजेंसियां कर रही हैं। जो भी साजिश होगी, सामने आ जाएगी।

केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए असलम शेख ने कहा कि गुजरात में एक पोर्ट पर 20 हजार करोड़ की ड्रग पकड़ी गई। उस पर कोई चर्चा नहीं हो रही है। जबकि यहां बहुत कम मात्रा में, या ड्रग न भी पाए जाने पर ऐसे बच्चों को आरोपित बनाया जा रहा है, जिन्हें पुनर्वास केंद्र पर भेजा जाना चाहिए। शेख ने कहा कि एनसीबी को बीमार को नहीं, बीमारी को मारो के सिद्धांत पर चलना चाहिए। ड्रग्स से बड़े डीलर्स को निशाना बनाना चाहिए। आर्यन खान को वाट्सएप चैट के आधार पर अंतरराष्ट्रीय ड्रग सिंडीकेट का हिस्सा बताए जाने पर शेख ने कहा कि अगर वाट्सएप चैट पर भरोसा किया जाए तो देश के 80 फीसद लोग जेल में होंगे। कोर्ट ने वाट्सएप को सबूत के तौर पर स्वीकार नहीं किया है।