ममता बनर्जी बोलीं, रामपुरहाट की घटना के पीछे कोई साजिश. सीबीआइ जांच पर एतराज नहीं

 

ममता बनर्जी बोलीं, रामपुरहाट की घटना के पीछे कोई साजिश. सीबीआइ जांच पर एतराज नहीं। फोटो जागरण

West Bengal ममता बनर्जी ने कहा कि वह खुद भी चाहती है कि रामपुरहाट मामले का सच सामने आए। राज्य सरकार की ओर से गठित एसआइटी बेहतर काम कर रही थी लेकिन मामले की जांच सीबीआइ के हाथों में दे दी गई। सीबीआइ की जांच से उन्हें कोई आपत्ति नहीं।

संवाददाता, सिलीगुड़ी। तृणमूल कांग्रेस प्रमुख व राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी अपने पांच दिवसीय उत्तर बंगाल दौरे पर रविवार को सिलीगुड़ी पहुंची। सिलीगुड़ी के गोसाईपुर की जनसभा में रामपुरहाट कांड को लेकर विरोधियों पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि रामपुरहाट कांड में दोनों पक्ष के लोग टीएमसी के थे। हत्या को कभी सही नहीं ठहराया जा सकता है। हत्या होती है। वह खुद भी चाहती है कि रामपुरहाट मामले का सच सामने आए। राज्य सरकार की ओर से गठित एसआइटी बेहतर काम कर रही थी, लेकिन मामले की जांच सीबीआइ के हाथों में दे दी गई। उन्होंने कहा कि सीबीआइ की जांच से उन्हें कोई आपत्ति नहीं है। सीबीआइ जांच करें, लेकिन कुछ और ना करें। उन्होंने कहा कि सीबीआइ का पिछला रिकार्ड संतोषजनक नहीं है। चाहे वह शांत विश्व भारती के नोबेल पुरस्कार की चोरी का मामला हो, चाहे वह नंदीग्राम हत्याकांड हो या सिंगुर की तापसी मल्लिक हत्याकांड की जांच हो। सभी की जांच सीबीआइ करती रही है, लेकिन कभी भी सीबीआइ किसी निर्णय तक नहीं पहुंच सकी।

कांग्रेस, भाजपा और माकपा पर साधा निशाना

उन्होंने कांग्रेस, बीजेपी तथा माकपा पर निशाना साधते हुए कहा कि विरोधी पार्टियां मामला को बढ़ा-चढ़ा कर पेश करने का कार्य कर रही हैं। उनके पास कोई समाधान नहीं है। बस मामला को हवा देने का काम उनके द्वारा किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि रामपुरहाट कांड एक बड़ी साजिश की ओर इशारा कर रहा है। इसे कराया गया है। उन्होंने कहा कि एक समय वह भी विरोधी दल नेत्री थी, लेकिन कभी भी उन्होंने बतौर विरोधी दल की नेत्री के रूप राज्य में दंगा कराने या राज्य को अशांत करने का काम नहीं किया। आज जब तृणमूल कांग्रेस सरकार बीरभूम में उद्योग धंधा स्थापित करने की दिशा में काम कर रही है तो विरोधियों के मन में हिंसा हो रही है। वह नहीं चाहते हैं कि राज्य के लोगों को रोजगार मिले। उन्होंने यह भी कहा कि रामपुरहाट मामले में अब तक 22 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। उसमें तृणमूल कांग्रेस का ब्लाक सभापति भी गिरफ्तार हुआ है।

राज्य में हिंसा व अशांति फैलाने वालों पर कसेगा शिकंजा

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सभा मंच से साफ तौर पर पुलिस प्रशासन को सख्त लहजे में आदेश देते हुए कहा कि पुलिस को सतर्क रहना होगा ।किसी भी प्रकार की गड़बड़ी फैलने से रोकना होगा ।उन्होंने कहा कि जनता भी इसमें मददगार की भूमिका निभा सकती है। यदि किसी भी इलाके में गड़बड़ी फैलाने या साजिश रचने या दंगा जैसे हालात पैदा करने की कोशिश होती है तो लोग सीधे पुलिस को सूचना दें ।सूचना देने वाले को पुरस्कार दिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि जल्द ही वह एक मिस काल नंबर जारी करेंगी। इस पर किसी भी तरह की हिंसा या गड़बड़ी या आतंक फैलाने की कोशिश करने वालों के खिलाफ शिकायत की जा सकेगी। साथ ही, उन्होंने पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिया कि उनके पास लोग अपनी शिकायत लेकर आते हैं तो वह उनको सुने तथा उसका समाधान करें।

भ्रष्टाचार करने वाले को बख्शा नहीं जाएगा

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि भ्रष्टाचार करने वाले, हत्या की साजिश रचने वाले तथा लोगों पर अत्याचार करने वालों को उनकी सरकार किसी भी रूप में नहीं बख्सेगी। ऐसे लोगों के खिलाफ उनकी सरकार सख्त से सख्त कार्रवाई करेगी।

मई व जून में जीटीए चुनाव कराने को सरकार इच्छुक

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी उत्तर बंगाल दौरे में पहाड़ पर भी जाने वाली है। उन्होंने अपने पहाड़ दौरे के बारे में कहा कि वह सोमवार को दार्जिलिंग व कलिंगपोंग में होंगी। यहां जीटीए का चुनाव कराया जाना है। उनकी सरकार मई व जून में यह चुनाव करा लेना चाहती है। साथ ही, पहाड़ पर त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर केंद्र सरकार को पत्र लिखा गया है। उन्होंने केंद्र सरकार को कहा है कि पहाड़ पर त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव कराए जाने के बारे में विचार करें तथा इसकी जटिलता खत्म करें। वह पहाड़ के नेताओं से पहाड़ के विकास, शांति व स्थिरता को लेकर बातचीत करेंगी।

बढ़ती महंगाई को यूपी की जीत पर रिटर्न गिफ्ट बताया

मुख्यमंत्री ने लगे हाथ बढ़ती हुई महंगाई पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में बीजेपी जीत के सत्ता में आई है। बीजेपी चुनाव जीतने के बाद लोगों को महंगाई का रिटर्न गिफ्ट दे रही है। गैस ,पेट्रोल, डीजल सब कुछ मांगा किया जा रहा है। वहीं, मुख्यमंत्री ने मंच से सिलीगुड़ी और जलपाईगुड़ी के 11 परियोजनाओं का उद्घाटन किया। इसमें सड़क, इंडस्ट्रियल पार्क सब स्टेशन, कम्युनिटी सेंटर ,देवी चौधुरानी मंदिर, मार्केट कामप्लेक्स शामिल रही । साथ ही, उन्होंने नए सिरे से विधवा भत्ता के लिए आवेदन करने वाले व स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड तथा जय जोहार अनुसूचित जाति पेंशन के लिए आवेदन करने वालों को योजना का लाभ देते हुए उन्हें प्रमाण पत्र प्रदान किया तथा कहा कि एक अप्रैल से उनके खाते में पैसा आना शुरू हो जाएगा।