अफगानिस्तान के मुद्दे पर तीसरी क्षेत्रीय बैठक की मेजबानी करेगा चीन, तालिबान समेत पड़ोसी देशों के विदेश मंत्री होंगे शामिल

 

अफगान को लेकर तीसरी क्षेत्रीय बैठक की मेजबानी करेगा चीन (एएनआई)

चीन ने अफगानिस्तान के मुद्दे पर तीसरी क्षेत्रीय बैठक की मेजबानी करेगा। अफगान के पड़ोसी देशों के विदेश मंत्रियों के बीच बैठक मार्च के आखिर में होगी। चीनी विदेश मंत्री वांग यी की काबुल यात्रा के दौरान इस बैठक को लेकर चर्चा हुई थी।

बीजिंग, एएनआई: चीन ने अफगानिस्तान के मुद्दे पर तीसरी क्षेत्रीय बैठक की मेजबानी करने पर सहमति जताई है। यह बैठक अफगान के पड़ोसी देशों के विदेश मंत्रियों के बीच मार्च के आखिर में होने की संभावना है। जानकारी के मुताबिक चीनी विदेश मंत्री वांग यी की काबुल यात्रा के दौरान इस बैठक को लेकर चर्चा हुई थी। अफगान में वांग यी ने तालिबानी सरकार के कार्यवाहक विदेश मंत्री अमीर खान मुत्ताकी से मुलाकात की थी। 

वांग यी की काबुल यात्रा के बाद बनी सहमति

चीनी विदेश मंत्रालय ने अपने एक बयान में कहा कि, वार्ता में दोनों पक्षों के बीच अफगान मुद्दे पर तीसरी विदेश मंत्रियों की बैठक को लेकर चर्चा हुई। इस दौरान दोनों नेताओं ने मुद्दे को लेकर अपने विचारों का आदान-प्रदान किया है। बैठक के दौरान मुत्ताकी ने कहा कि वो अफगान पड़ोसी देशों के विदेश मंत्रियों की बैठक में शामिल होने के लिए वो उत्सुक हैं।

रूसी विदेश मंत्री भी होंगे शामिल

टोलो न्यूज की एक रिपोर्ट के मुताबिक इस्लामिक अमीरात के उप प्रवक्ता बिलाल करीमी ने कहा कि यह स्वाभाविक है कि देश के महत्वपूर्ण मुद्दों समेत आर्थिक, राजनयिक संबंधों और अन्य मुद्दों को लेकर चर्चा की जाए। बताया जा रहा है कि चीन में होने जा रही तीसरी विदेश मंत्रियों की बैठक में रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव के शामिल होने की संभावना है।

बैठक को रूस ने चर्चा के लिए बताया अच्छा मौका

रूसी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मारिया जखारोवा ने कहा कि यह बैठक अफगानिस्तान के लिए मानवीय, आर्थिक और सामाजिक समर्थन के लिए चर्चा, समन्वय और क्षेत्रीय प्रयासों का एक अच्छा अवसर है। साथ ही उन्होंने कहा कि आतंकी संकट और मादक पदार्थों की तस्करी के संबंध में कार्रवाई का आकलन करने के लिए भी यह एक अच्छा मौका है।

इस्लामाबाद और तेहरान में हो चुकी है बैठक

गौरतलब है कि पिछले दिनों तालिबानी सरकार के मुत्ताकी और अफगानिस्तान में चीन के राजदूत वांग यू के बीच हुई एक बैठक के बाद विदेश मंत्रियों की बैठक में शामिल होने के लिए तालिबान ने सहमति जताई थी। बैठक के पहले और दूसरे दौर की मेजबानी इस्लामाबाद और तेहरान ने की थी। इस्लामाबाद में बैठक वर्चुअली आयोजित की गई थी।