आइपीएल की जंग में इन कप्तानों के पास होगी टीम को चैंपियन बनाने की जिम्मेदारी

 

इंडियन प्रीमियर लीग 2022 के कप्तान (फाइल फोटो)

आइपीएल 2022 की शुरुआत 26 मार्च से होने जा रही है। इस बार इस ट्राफी के लिए 10 टीमें आपस में भिड़ेंगी। इन टीमों में से ज्यादतार टीमों के कप्तान पहली बार अपनी टीम का नेतृत्व करेंगे। इस सीजन में दो नई टीमों को शामिल किया गया है।

नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। इंडियन प्रीमियर लीग का 15वां सीजन 26 मार्च से शुरू होने जा रहा है। इस बार आइपीएल में 10 टीमें 65 दिनों तक इस ट्राफी के लिए आपस में मुकाबला करेंगे। इस सीजन में ज्यादातर टीमें अपने नए कप्तान के साथ उतरेंगी तो कुछ टीमों को अपने पुराने कप्तान से ही बेहतर परिणाम की आवश्यकता होगी। पहली बार टीमों को दो वर्चुअल ग्रुप में बांटा गया है। इस बार का पूरा सीजन महाराष्ट्र में खेला जाएगा।

ग्रुप ए- मुंबई इंडियंस, कोलकाता नाइटराइडर्स, राजस्थान रायल्स, दिल्ली कैपिटल्स और लखनऊ सुपरजाइंट्स

ग्रुप बी- चेन्नई सुपर किंग्स, सनराइजर्स हैदराबाद, रायल चैलेंजर्स बैंगलोर, पंजाब किंग्स और गुजरात टाइटंस।

पहले बात करते हैं 10 टीमों के कप्तानों में से उनकी जो पहली बार अपने टीम की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। इसमें केएल राहुल, हार्दिक पांड्या, श्रेयस अय्यर, रवींद्र जडेजा, मयंक अग्रवाल और फाफ डु प्लेसिस जैसे नाम हैं।

केएल राहुल (कप्तान लखनऊ सुपरजाइंट्स)- आइपीएल 2022 में पहली बार खेल रही लकनऊ की टीम की कमान केएल राहुल के हाथों में है। राहुल का पिछला सीजन बेहतरीन रहा था और उन्होंने बल्ले से पंजाब के लिए शानदार काम किया था। राहुल के नाम 13 मैचों में 626 रन थे। टीम को उम्मीद होगी कि वो ये जादू इस सीजन भी बरकरार रखेंगे।

हार्दिक पांड्या (कप्तान गुजरात टाइटंस)- इस सीजन में आइपीएल की दूसरी नई टीम गुजरात टाइटंस है। टीम की कमान हार्दिक पांड्या के हाथों में होगी जिनके पास कप्तानी का कोई भी अनुभव नहीं है। इसके अलावा पिछले कुछ समय से वे मैदान से बाहर रहे हैं। उनके पास टीम के साथ-साथ खुद को भी साबित करने की चुनौती होगी। इस सीजन में उनकी गेंदबाजी को लेकर सबसे ज्यादा चर्चा है। अगर वे गेंदबाजी कर पाते हैं तो टीम इंडिया में फिर से वापसी करने की संभावना बढ़ जाएगी।

श्रेयस अय्यर (कप्तान कोलकाता नाइटराइडर्स)- कोलकाता की टीम भी इस बार श्रेयस अय्यर की कप्तानी में खेलेगी। उनके पास दिल्ली की कप्तानी करने का अनुभव है। इसके अलावा पिछला कुछ महीना उनके प्रदर्शन के लिहाज से बेहतरीन रहा है। टीम को उनसे इसी प्रदर्शन को आइपीएल में भी दोहराने की उम्मीद होगी।

रवींद्र जडेजा (कप्तान चेन्नई सुपर किंग्स)- आइपीएल की दूसरी सबसे सफल टीम चेन्नई पहली बार नए कप्तान रवींद्र जडेजा के नेतृत्व में उतरेगी। धौनी ने आइपीएल शुरू होने से ठीक दो दिन पहले कप्तानी की जिम्मेदारी जडेजा को सौंप दी थी। जडेजा का भी हालिया प्रदर्शन शानदार रहा है और धौनी के साथ वो कप्तानी की अपनी एक नई पारी शुरू करने जा रहे हैं।

मयंक अग्रवाल (कप्तान पंजाब किंग्स)- पंजाब भी इस सीजन नए कप्तान मयंक की अगुआई में खेलते नजर आएगी। उनके पास कप्तानी का अनुभव भले न हो लेकिन राहुल और उनकी जोड़ी ने पंजाब के लिए बेहतरीन बल्लेबाजी दिखाई थी। अब राहुल के जाने के बाद उनके ऊपर शिखर धवन के साथ टीम को अच्छी शुरुआत देने की जिम्मेदारी होगी।

फाफ डु प्लेसिस (कप्तान रायल चैलेंजर्स बैंगलोर)- पिछले सीजन विराट कोहली के कप्तानी छोड़ने के बाद सबसे ज्यादा चर्चा आरसीबी के कप्तानी को लेकर थी। अब जब फाफ डु प्लेसिस को कप्तान बना दिया गया है तो पहली बार आइपीएल में कप्तानी करने वाले फाफ के पास अपनी नेतृत्व क्षमता दिखाने का मौका है। आइपीएल में उन्होंने सीएसके से खेलते हुए धौनी की कप्तानी में जो कुछ भी सीखा है उसका फायदा आरसीबी को इस सीजन में जरूर मिलेगा।

संजू सैमसन (कप्तान राजस्थान रायल्स)- राजस्थान के लिए ट्राफी का इंतजार बहुत लंबा हो गया है। संजू सैमसन की कप्तानी में टीम में युवा और अनुभव का मिश्रण है और यही इस टीम की खासियत है। टीम के पास जोस बटलर के रूप में शानदार बल्लेबाज है जो टीम को बेहतरीन शुरुआत दिला सकता है।

रिषभ पंत (कप्तान दिल्ली कैपिटल्स)- दिल्ली के लिए पिछला कुछ सीजन बेहतरीन रहा है लेकिन कुछ गलतियों के कारण वो ट्राफी जीतने से चूक जाती है। पंत के नेतृत्व में इस बार दिल्ली के पास पहली बार ट्राफी पर कब्जा करने का मौका होगा। दिल्ली के पास इस बार डेविड वार्नर के रूप में खतरनाक ओपनर है जिसका फायदा टीम को जरूर मिलेगा।

केन विलियमसन (कप्तान सनराइजर्स हैदराबाद)- टीम की कमान केन विलियमसन के हाथों में है और बहुत हद तक टीम की बल्लेबाजी इन पर निर्भर करती है। इनकी इंजरी टीम के लिए सबसे बड़ी चिंता है। टीम उम्मीद करेगी कि वो इस सीजन हर मैच खेल पाएं।

रोहित शर्मा (कप्तान मुंबई इंडियंस)- मुंबई को रोहित शर्मा की कप्तानी में ट्राफी जीतना अच्छे से आता है शायद यही वजह है कि वो आइपीएल की सबसे सफल टीम है और 5 बार चैंपियन बन चुकी है। टीम नई है लेकिन बावजूद इसके रोहित की कप्तानी में टीम अपनी बादशाहत कायम रखने की कोशिश करेगी।