एनएसयूटी व डीयू के कालेजों में कई नए कोर्स की सौगात, बीच में छोड़ कर वापस शुरू करने है आप्शन

 

एनएसयूटी में दो नए कोर्स होंगे शुरू।

एनएसयूटी में इस वर्ष बैचलर आफ डिजाइन विभाग में फैशन डिजाइन के बाद इस वर्ष प्रोडक्ट डिजाइन कोर्स भी शुरू करने जा रहा है। इस कोर्स में 30 सीटें रखी गई है। आइआइटी मुंबई द्वारा आयोजित यूसीइइडी प्रवेश परीक्षा में उत्तीर्ण विद्यार्थी इस कोर्स में दाखिला ले सकेंगे।

नई दिल्ली, संवाददाता। नेताजी सुभाष प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय (एनएसयूटी) इस वर्ष बीबीएआइइवी (बैचलर आफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन इनोवेशन एंटरप्रेन्योशिप वेंचर डेवलपमेंट) व एमबीएआइइवी (मास्टर आफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन इनोवेशन एंटरप्रेन्योशिप वेंचर डेवलपमेंट) का संयुक्त पांच वर्षीय कोर्स शुरू करने जा रहा है। दिल्ली सरकार के बिजनेस ब्लास्टर्स प्रोग्राम के तहत ऐसे विद्यार्थी जिन्होंने अपने स्टार्टअप पर काम शुरू कर दिया, वे इस कोर्स में दाखिला ले सकेंगे। फिलहाल कोर्स में 42 सीट रखी गई है।

भारती कालेज में एक और भास्कराचार्य कालेज में सात नए कोर्स प्रस्तावित

अच्छी बात यह है कि इस 2022-23 से नई शिक्षा नीति लागू होने जा रही है। ऐसे में नई शिक्षा नीति को मद्देनजर रखते हुए इस कोर्स को डिजाइन किया गया है। काेर्स के दौरान यदि विद्यार्थी को लगता है कि उसे पहले अपने स्टार्टअप को स्थापित करने पर ध्यान केंद्रित करना चाहता है तो वह कोर्स को ड्रापआउट कर भविष्य में कभी भी जारी कर सकता है।

शिवाजी में वैल्यू एडेड कोर्स किए जाएंगे शुरू

बता दें, एनएसयूटी में आयोजित एक कार्यक्रम के तहत शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने इस कोर्स को तैयार करने की बात कही थी। इसके अलावा एनएसयूटी में इस वर्ष बैचलर आफ डिजाइन विभाग में फैशन डिजाइन के बाद इस वर्ष प्रोडक्ट डिजाइन कोर्स भी शुरू करने जा रहा है। इस कोर्स में 30 सीटें रखी गई है। आइआइटी मुंबई द्वारा आयोजित अंडरग्रेजुएट कामन एंट्रेंस एग्जाम फार डिजाइन (यूसीइइडी) प्रवेश परीक्षा में उत्तीर्ण विद्यार्थी इस कोर्स में दाखिला ले सकेंगे। कोर्स की फीस करीब 91 हजार रुपये तय की गई है।

डीयू में भी नए कोर्स की उम्मीद :

भारती कालेज में इस वर्ष बीएससी कंप्यूटर साइंस कोर्स की शुरुआत होगी। इसमें 30 सीटें रखी गई है। कोर्स की फीस 65 हजार रुपये तय की गई है। हालांकि अभी यह तय नहीं हुआ है कि कोर्स में दाखिला कैसे होगा। पर जल्द ही इसकी जानकारी कालेज की वेबसाइट पर विद्यार्थियों को दी जाएगी। उधर, भास्कराचार्य कालेज आफ एप्लाइड साइंसेस में भी उम्मीद है कि इस वर्ष सात नए कोर्स की शुरुआत हो। जिसमें बीएससी आनर्स, मैथ्स, आपरेशनल रिसर्च, बायोकेमिस्ट्री, जियोलाजी (भूगर्भशास्त्र), मनोविज्ञान में बीए आनर्स व बीए प्रोग्राम फिजिकल एजुकेशन शामिल है। कालेज प्राचार्य डा. अवनीष मित्तल ने बताया कि दिल्ली सरकार को कोर्स की मंजूरी के लिए प्रस्ताव भेजा जा चुका है।

छह से सात माह के कोर्स

वहीं दीन दयाल उपाध्याय कालेज व राजधानी कालेज में इस वर्ष कोई नए कोर्स शुरू नहीं हो रहे है। शिवाजी कालेज के प्राचार्य डा. शिव कुमार सहदेव ने बताया कि कालेज में इस वर्ष कोई डिग्री कोर्स शुरू नहीं हो रहे है, पर सभी विभाग में वैल्यू एडेड कोर्स (मूल्य वर्धित पाठ्यक्रम) शुरू करने की दिशा में प्रयास जारी है। फिलहाल भौतिक विज्ञान विभाग में यह कोर्स डिजाइन कर शुरू कर दिया गया है। वालेंटियर आधार पर विद्यार्थी इन कोर्सेस में दाखिला ले सकते है। छह से सात माह के इन कोर्स को कालेज के प्रोफेसर्स द्वारा ही डिजाइन किया जा रहा है।

20 प्रतिशत सीटें आरक्षित

इंजीनियरिंग कोर्स में छात्राओं की संख्या को बढ़ाने के लिए पिछले वर्ष सितंबर में स्नातक के सभी कोर्स में दस फीसद सीटें छात्राओं के लिए आरक्षित की थी। आठ मार्च को यह आरक्षण दस फीसद और बढ़ा दिया गया है। यानि अब छात्राओं के लिए कुल 20 फीसद सीटें सभी कोर्सेस में आरक्षित है।

जय प्रकाश सैनी, कुलपति, एनएसयूटी