मध्यप्रदेश के रीवा में एक नाबालिग से महंत और उसके साथियों ने किया सामूहिक दुष्‍कर्म, एक गिरफ्तार तीन फरार

 

एक महंत और उसके साथियों पर लगा सामूहिक दुष्‍कर्म का आरोप, एक गिरफ्तार तीन फरार

वारदात से पहले किशोरी को वहां पहले शराब पिलाने की कोशिश की गई। बाद में उसे कमरा बंद कर हवस का शिकार बनाया गया। वह कमरा उस हिस्ट्रीशीटर के नाम पर ही बुक था। रीवा में एक महंत सहित 4 लोगों पर नाबालिग से सामूहिक दुष्‍कर्म का आरोप लगा है।

रीवा । मध्य प्रदेश के रीवा शहर के सर्किट हाउस में एक महंत सहित 4 लोगों पर नाबालिग से सामूहिक दुष्‍कर्म का आरोप लगा है। वारदात से पहले किशोरी को वहां पहले शराब पिलाने की कोशिश की गई। बाद में उसे कमरा बंद कर हवस का शिकार बनाया गया। वह कमरा उस हिस्ट्रीशीटर के नाम पर ही बुक था। मालूम हो कि पीड़िता के बयान के आधार पर पुलिस ने मामला दर्ज कर जहां हिस्ट्रीशीटर विनोद पांडे को गिरफ्तार कर लिया है वहीं अन्य तीन की तलाश जारी है।सिविल लाइन थाना प्रभारी ने कहा कि महंत सहित चार पर मामला दर्ज किया गया है महंत की गिरफ्तारी के लिए कई जगह छापेमारी दी जा रही है लेकिन अब तक गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। जल्द ही महंत की गिरफ्तारी कर पूरे मामले का खुलासा किया जाएगा।

मालूम हो कि यह घटना शहर के सबसे पॉश एरिया के सर्किट हाउस में हुई है। गत 28 मार्च की शाम आरोपित एनेक्सी भवन रूम नंबर-4 में ठहरा हुआ था। इस दौरान महंत की जान-पहचान का हिस्ट्रीशीटर बदमाश लड़की को वहां लेकर गया। किशोरी को यह कहा गया था कि महंत के विशेष आशीर्वाद से उसके बिगड़े काम बन जाएंगे। क्योंकि महंत बहुत पहुंचे हुए है उन्हें खास आशीर्वाद प्राप्त है। वारदात से पहले किशोरी को वहां पहले शराब पिलाने की कोशिश की गई। बाद में उसे कमरा बंद कर हवस का शिकार बनाया गया। वह कमरा उस हिस्ट्रीशीटर के नाम पर ही बुक था।

जानकारी हो कि आरोपित महंत श्रीराम जन्मभूमि न्यास के पूर्व सदस्य व पूर्व सांसद रामविलास वेदांती का शिष्य है। महंत उनके शिष्य के साथ हीं राम विलास वेदांती का नाती भी लगता है। पुलिस मामला दर्ज कर जांच कर रही है। मालूम हो कि रीवा में समदड़िया मॉल के उद्घाटन पर आरोपित के गुरु और श्रीराम जन्मभूमि न्यास के पूर्व सदस्य व पूर्व सांसद रामविलास वेदांती की कथा का आयोजन होने वाला है। 1 अप्रैल से 10 अप्रैल तक हनुमान कथा और अष्टोत्तर शत रुद्राभिषेक का कार्यक्रम रखा गया है। इसी की तैयारी के लिए वेदांती महाराज का आरोपी शिष्य सीताराम दास रीवा आया हुआ था। इसलिए महंत सीताराम को एक महीने से जिले के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों द्वारा विशेष महत्व दिया जा रहा था। जहां भी महंत दर्शन करने जाता वहां पर पुलिस की विशेष व्यवस्था की जाती थी जिससे उसे दर्शन करने में दिक्कत ना हो। हाल में ही उसने कई मंदिरों के दर्शन किए थे जिसमें उसे वीआइपी प्रोटोकॉल दिया गया था।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ने बताया कि गत सोमवार शाम अकौरी थाना नईगढ़ी निवासी विनोद पांडेय के बुलाने पर किशोरी सतना से रीवा आई थी। किशोरी को झांसा देकर महंत से मिलने सर्किट हाउस लाया गया था। उसे पहले सैनिक स्कूल के पास बुलाया गया। फिर वहां से गाड़ी में बैठकर सर्किट हाउस के अंदर लाया गया। नाबालिग को महंत सीताराम उर्फ समर्थ त्रिपाठी से विनोद पांडेय ने मिलवाया था। बताया गया है कि वह तीन दिन से सर्किट हाउस में रुका हुआ था। वेदांती महाराज की कथा की तैयारियों के लिए आरोपित रीवा आया हुआ था।

जानकारी हो कि इस घटना का साजिशकर्ता विनोद पांडेय शातिर हार्डकोर अपराधी है। उस पर हत्या, हत्या के प्रयास, अड़ीबाजी, दुष्‍कर्म सहित विभिन्न अपराधों के 36 से अधिक मामले दर्ज हैं। दोहरे हत्याकांड पर उसे कोर्ट से सजा भी हो चुकी थी और जमानत पर बाहर था। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ने बताया कि मामले में 4 आरोपित बनाए गए हैं। पहला आरोपित महंत सीताराम उर्फ समर्थ त्रिपाठी और दूसरा विनोद पांडेय है। दो आरोपित फिलहाल अज्ञात हैं। पुलिस ने विनोद को गिरफ्तार कर लिया है। एक संदेही देर रात पुलिस के हाथ लग गया है। जबकि महंत फरार है। विनोद पांडेय हिस्ट्रीशीटर बदमाश है। वह हाल ही में जमानत पर जेल से बाहर आया है।

वहीं, पीड़िता ने पुलिस को बताया है कि वहां महंत, विनोद और एक अन्य लोग शराब पी रहे थे। उसे भी शराब पीने को कहा लेकिन उसने शराब पीने से मना कर दिया, जिसके बाद कमरे में मौजूद अन्‍य बाहर चले गए जबकि कमरे में मौजूद महंत ने उसे अपने हवस का शिकार बनाया। महंत ने गलत काम करने के बाद अपने अन्य सहयोगियों से उसे घर छोड़ आने को कहा। अन्य लोगों ने उसे किसी से कुछ बताने पर जान से मारने की धमकी भी दी थी। जिसके बाद पीड़िता अपने घर सतना पहुंची, उसने पूरे घटनाक्रम की जानकारी अपने स्वजन को दी। गत 29 मार्च की शाम पिता के साथ रीवा के सिविल थाने पहुंचकर मामला दर्ज कराया है।